न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

JharkhandElection री-लोकेटेड मतदान केंद्रों में मतदान के दिन वोटरों को लाने के लिए वाहन की व्यवस्था होः CEO

1,682

Ranchi  :  30 नवंबर को पहले चऱण में 13 सीटों के लिए हुए चुनाव को लेकर जो रिपोर्ट मिली है, उसके अनुसार अगले चार चऱणों में होनेवाले चुनाव के सिलसिले में तैयारियां और बेहतर व पुख्ता किये जायें. श्री विनय कुमार चौबे, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने आज सभी जिलों के जिलों के निर्वाचन पदाधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग कर यह निर्देश दिया.

उन्होंने जिला निर्वाचन पदाधिकारियों से कहा कि किसी भी विधानसभा क्षेत्र में री-लोकेटेड मतदान केंद्रों में मतदान के दिन मतदाताओं को लाने के लिए वाहन की व्यवस्था करें. ताकि मतदान केंद्र की जानकारी नहीं होने की वजह से कोई मतदाता अपने मताधिकार से वंचित नहीं रहे.

JMM

इसके अलावा भारत निर्वाचन आयोग के द्वारा मतदान केंद्र के ले आउट के संबंध में निर्धारित प्रावधानों के अनुसार सभी मतदान कर्मी अपने-अपने मतदान कक्ष के अंदर बैठेंगे. वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री कृपानंद झा और श्री शैलेश कुमार चौरसिया मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंः #JharkhandElection दूसरे चरण के चुनाव में सीएम, स्पीकर सहित तीन मंत्रियों और दिग्गजों की साख दांव पर

हेलीड्रॉपिंग को लेकर लोकेशन का री-वैरीफिकेशन हो

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि हेलीड्रॉपिंग के लोकेशन के को-ऑर्डिनेट्स का री-वैरीफिकेशन भवन निर्माण विभाग के पदाधिकारी व विशेषज्ञ अनिवार्य रूप से करेंगे. इस दिशा में सभी जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक संबंधित विभाग के साथ को-ऑर्डिनेट करेंगे. ताकि निर्धारित लोकेशन पर हेलीकॉप्टर की लैंडिंग को लेकर किसी तरह की गलतफहमी नहीं हो.

इसे भी पढ़ेंः देश की सबसे बड़ी मेडिकल परीक्षा नीट की आवेदन प्रक्रिया शुरू, 3 मई को 11 भाषाओं में होगी परीक्षा

मतदान केंद्रों में मतदाताओं के बैठने की हो समुचित व्यवस्था

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने जिला निर्वाचन पदाधिकारियों से कहा कि पहले चरण में कुछ मतदान केंद्रों में बैठने की समुचित व्यवस्था नहीं होने की रिपोर्ट मिली है. इस वजह से टोकन सिस्टम के बाद भी मतदान के लिए मतदाता क्यू में खड़े थे.

आनेवाले चरणों के चुनाव में मतदान केंद्रों पर टोकन सिस्टम के सफल क्रियान्वयन की दिशा में मतदाताओं के बैठने के लिए समुचित व्यवस्था अनिवार्य रूप से की जाये. उन्होंने जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि कलस्टर प्वाइंट पर सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स के लिए पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध करायी जायें.

वेबकास्टिंग को लेकर एक दिन पूर्व होगा ट्रायल

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि जिन मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग की जानी है, वह मतदान के एक दिन पूर्व खुले रहेंगे. और उस दिन वेबकास्टिंग का ट्रायल किया जाएगा. ताकि मतदान के दिन किसी तरह की दिक्कत नहीं आये.

ट्रेनिंग कियोस्क में दो ईवीएम और वीवीपैट की हो व्यवस्था

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को कहा कि सभी विधानसभा क्षेत्रों के लिए बनाये गये डिस्पैच सेंटर में मतदानकर्मियो के लिए एक ट्रेनिंग कियोस्क के अंतर्गत दो ईवीएम व वीवीपैट की व्यवस्था सुनिश्चित करें.

इसके साथ अभ्यर्थियों द्वारा मतदान केंद्रों के संबंध में निष्पक्ष मतदान को लेकर जाहिर की गयी चिंताओं के आलोक में सीआरपीएफ की प्रतिनियुक्ति या वेबकास्टिंग की व्यवस्था की जाये. ताकि वहां मतदान प्रक्रिया की मॉनिटरिंग की जा सके.

निर्वाचन आयोग के प्रावधानों का हो पालन

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि मतदान के पश्चात वैसे कलस्टर, जहां इंटरमीडियरी स्ट्रांग रुम बनाये  गये हैं. वहां सभी अभ्यर्थियों के निर्वाचन अभिकर्ताओं के कलस्टर केंद्र में रात में रुकने के संबंध में निर्वाचन आयोग के जो प्रावधान हैं. उस संबंध में सीआरपीएफ के नोडल अफसर को जानकारी दें. ताकि किसी तरह की गलतफहमी नहीं हो.

इसे भी पढ़ेंः #Jamshedpur : अमित शाह बोले- द्वेश-दुर्भावना भूलकर लोगों से मिलें कार्यकर्ता, हर कोई 50 को फोन करें

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like