पश्चिम सिंहभूम में बच्चा चोर की अफवाह, 2 दिन में हिंसा की चार घटनाएं, 2017 में भीड़ ने ली थी 8 की जान

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 06/06/2018 - 10:09

West Singhbhum: लोकतंत्र में भीड़तंत्र को कोई स्थान नहीं है. इतना नहीं नहीं कानून को हाथ में लेकर किसी की जान लेना यह जघन्य अपराध है. कई बार ऐसी घटनाओं के पीछे की वजह सिर्फ अफवाह रहती है. पिछले साल अफवाह से पसरे मातम को लोग भूल भी नहीं पाये हैं कि पश्चिम सिंहभूम क्षेत्र का जगन्नाथपुर अनुमंडल अचानक अशांत हो गया है. पिछले वर्ष की तरह फिर बच्चा चोर की अफवाह में लोग हिंसक हो उठे है बच्चा चोर की अफवाह में 2017 में आठ लोगों की जान ले ली गई थी. किसी भी अजनबी को देखते ही उस पर आक्रमक हो जाना लोगों के स्वभाव में आ गया है.जगन्नाथपुर प्रखंड में दो दिन में अलग-अलग इलाकों में चार ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं जहां ग्रामीणों ने बच्चा चोर के नाम पर निर्दोष लोगों की पिटाई कर दी. पुलिस जांच के बाद पता चला कि बच्चा चोर की बात अफवाह है. सोमवार को इस प्रखंड में एक घंटे में दो घटनाएं हुइ. इनमें एक विक्षिप्त और दूसरा मजदूर निकला 

इसे भी पढ़ें पंचायत का तालिबानी फरमान, अवैध संबंध का आरोप लगाकर दो महिलाओं और एक युवक को सरेआम लाठी से पीटा

जन्मजात मूक की पिटाई

पहली घटना सोमवार सुबह जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के बांसकाटा गांव में घटी जहां सुखो चातोंबा का 5 साल का बेटा एक व्यक्ति बात कर रहा था. बच्चे के दादा ने बच्चा चोर समझकर उस व्यक्ति की बुरी तरह धुनाई कर दी. अफवाह पर लोग उग्र होकर वहां पहुंचे और उन्होंने भी जमकर पिटाई की. सूचना मिलने पर पहुंची जैंतगढ़ पुलिस ने व्यक्ति को भीड़  से छुड़ाया.जिससे गांववाले और उग्र हो गए और आउटपोस्ट के सामने खड़े होकर कार्रवाई की मांग करने लगे. मामला बिगड़ते देखकर जगन्नाथपुर थाना प्रभारी अवधेश कुमार ठाकुर और अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार झा जैंतगढ़ आउट पोस्ट पहुंचे.पुलिस ने तुरंत छानबीन की. पाया गया कि आरोपित का नाम तेरु कारवा है जो पालू करंजिया गांव का रहने वाला और अपने रिश्तेदार के घर सियाल जोड़ा जा रहा था इसी दौरान बांसकाटा में अफवाह का शिकार होकर ग्रामीणों के हत्थे चढ़ गया.बच्चे के पिता ने भी माना कि आरोपित विक्षिप्त और जन्मजात मूक है. पुलिस ने ग्रामीणों, मानकी, मुंडा से जांच के बाद परिजन को बुलाकर तेरू को उनके हवाले कर दिया

मजदूर की पिटाई, पुलिस ने जान बचाई

दूसरी घटना जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के राजाबासा में की है जहां पुरुलिया निवासी अर्जुन माझी की ग्रामीणों ने बच्चा चोर समझकर पिटाई की दी.थाना प्रभारी अवधेश कुमार ठाकुर ने पुलिस टीम भेज कर उसे चंगुल से छुड़ाया।. पूछताछ में पता चला कि अर्जुन हाटगम्हरिया के होटल में काम कर रहा था और वह काम की तलाश में चंपुआ जा रहा था.इसी क्रम में वह राजाबसा में बच्चा चोर अफवाह का शिकार हो गया.पुलिस समय पर नहीं पहुंचती तो ग्रामीण उसे पीट-पीटकर मार डालते

इसे भी पढ़ें रामगढ़ः पत्नी से पीट गये ट्रेनी डीएसपी साहब, थाने पहुंचा मामला

हाईस्कूल के पास विक्षिप्त की पिटाई

तीसरी घटना जैंतगढ़ हाईस्कूल के पास की है.रविवार रात करीब 10.30 बजे एक विक्षिप्त युवक घूम रहा था जिसे बच्चा चोर के अफवाह में लोगों ने घेरकर पीट डाला उसके पास रस्सी और क्लच तार होने की अफवाह फैलायी गयी छानबीन में वह विक्षिप्त पाया गया. जैंतगढ़ पेट्रोल पंप के स्टाफ ने बताया कि किसी ने लाइन ट्रक में बैठाकर उसे हाई स्कूल के पास उतार दिया था. विक्षिप्त होने की वजह से वह कुछ कह नहीं पा रहा था

कांटाबिला में भी धुनाई

बच्चा चोर अफवाह की अन्य घटना जिले के मझगांव थाना अंतर्गत कांटाबिला गांव में सामने आई.रविवार की शाम चार बजे एक विक्षिप्त को बच्चा चोर बता कर ग्रामीणों ने जमकर धुनाई कर दी. बाद में उसके परिजन को पता चला तो कांटाबिला गांव पहुंचे और उसे अपने साथ घर ले गए

अफवाह फैलाने वालों से बचें

पुलिस ने अफवाह फैलाने वालों को चिन्हित करने की अपील की है.जगन्नाथपुर डीएसपी मनोज कुमार झा ने कहा कि जगन्नाथपुर अनुमंडल में बच्चा चोरी की एक भी घटना नहीं हुई है. अफवाह फैलने के कारण निर्दोष लोग ग्रामीणों के गुस्से के शिकार हो रहे हैं. कोई भी आदमी कानून हाथ में न ले ऐसा करने पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी उन्होंने कहा कि कहीं कोई शक हो तो तुरंत थाने को सूचित करें  

2017 में भीड़ ने आठ लोगों की ले ली थी जान

बच्चा चोर की अफवाह में पूर्वी सिंहभूम जिले के बागबेड़ा के नागाडीह गांव और सरायकेला-खरसावां जिले के राजनगर के शोभापुर गांव में उग्र भीड़ ने 18 मई, 2017 को आठ लोगों की हत्या कर दी थी. उस दिन सुबह शोभापुर गांव में चार लोगों को मारा गया तो शाम में नागाडीह में तीन युवकों की जान ले ली गई. नागाडीह में एक वृद्ध महिला की जमकर पिटाई की गई थी. बाद में टाटा मुख्य अस्पताल में उसने भी दम तोड़ दिया था. घटना के कई दिनों बाद भी तरह-तरह की अफवाह फैलती रही.इस घटना को एक साल हो गए.अब इस अफवाह की आग ने पश्चिमी सिंहभूम जिले को अपनी चपेट में लिया है 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म  

न्यूज विंग की खबर का असर :  फर्जी  शिक्षक नियुक्ति मामले में तत्कालीन डीएसई दोषी करार 

बिजली बिल के डिजिटल पेमेंट से मिलता है कैशबैक, JBVNL नहीं शुरू कर पायी है डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप

लाठी के बल पर जनता की भावनाओं से खेल रही सरकार, पांच को विपक्ष का झारखंड बंद : हेमंत सोरेन   

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब