न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हेमंत सरकार के 14 महीने का कार्यकाल राज्य के इतिहास में काला अध्याय : प्रतुल शाहदेव

रघुवर सरकार का साढ़े चार वर्षों का कार्यकाल सुशासन और विकास का स्वर्णिम कार्यकाल है. जबकि हेमंत सरकार के 14 महीने का कार्यकाल राज्य के इतिहास में काला अध्याय है.

69

Ranchi : रघुवर सरकार का साढ़े चार वर्षों का कार्यकाल सुशासन और विकास का स्वर्णिम कार्यकाल है. जबकि हेमंत सरकार के 14 महीने का कार्यकाल राज्य के इतिहास में काला अध्याय है.  यह बात भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने आज प्रदेश कार्यालय में  प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कही उन्होंने कहा कि रघुवर सरकार ने प्रदेश में विकास की गंगा बहायी है. सबका साथ ,सबका विकास के संकल्प को साकार करने की दिशा में अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू की गयीं हैं.  अंत्योदय से लेकर सर्वोदय का प्रयास किया गया है.

इसे भी पढ़ें – बालू लूट की खुली छूटः पुलिस, प्रशासन और दबंगों ने मिलकर कर ली 600 करोड़ की अवैध कमायी-2

Trade Friends

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना किसानों के लिए वरदान

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना किसानों के लिए वरदान साबित हुई  है. जिसमें प्रति एकड़ 5000 रुपये की सहायता राज्य सरकार सीधे किसानों के खाते में भेज रही है. यह राशि केंद्र सरकार की योजना के अतिरिक्त है. मुख्यमंत्री सुकन्या योजना बेटियों के सर्वांगीण विकास केलिए अद्वितीय योजना है,  जिसमें पढ़ाई एवं कम उम्र की शादी रोकने की दिशा में पहल की गयी है.लड़की के जन्म पर 5 हजार, नामांकन के समय 5 हजार, क्लास 5 मे 5 हजार रुपए, 8 में 5हजार रुपए.  10वी में 5हजार रुपए तथा 18वर्ष में अविवाहित रहने पर 10हजार रुपए उनके खाते में दिये जाने का प्रावधान है.

शाहदेव ने कहा कि किसानों केलिए स्मार्ट फोन योजना, परंपरागत ग्राम प्रधानों, मानकी,मुंडा को प्रोत्साहन राशि, सरना, मसना हड़गड़ी का सुंदरीकरण कार्य, हर गांव में स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था, साफ पेयजल, पेबल ब्लॉक सड़के,  मुर्गीपालन के लिए सखिमंडल के माध्यम से 4लाख की आर्थिक सहायता, ग्राम विकास में स्थानीय लोगों की भागीदारी, ग्राम विकास समिति का गठन कर 5लाख तक के विकास कार्यक्रमों का प्रावधान किया गया है.

इसे भी पढ़ें – इंडस्ट्रीयल फीडर की बजाय घरेलू फीडर से जगदंबा इंडस्ट्रीज, कदमा को मिल रही बिजली

WH MART 1

हेमंत सरकार में सभी मुख्य पदों पर बाहरी को बैठाया था

उन्होंने कहा कि राज्य में बिजली समस्या के स्थायी समाधान की दिशा में ठोस पहल की गयी है. नये ग्रिड, ट्रांसमिशन लाइन,सब स्टेशन निर्माण का कार्य अंतिम चरण में है. पानी की समस्या के निराकरण की दिशा में ठोस कदम उपाय किये गये हैं. कहा कि आदिम जनजाति के सभी 2250 टोलों में सितम्बर तक पाइपलाइन से पानी पहुंचा दिया जायेगा.  इसके अतिरिक्त भारत का सबसे सुंदर हज हाउस बनाकर सरकार ने जनता को समर्पित कर दिया.

पहली बार एसटी आयोग और पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम का गठन हुआय किसानों के वीमा प्रीमियम का भुगतान सुनिश्चित हुआ, सखी मंडल के माध्यम से राज्य के 17 लाख सखी मंडल की बहनों को स्वरोजगार से जोड़ा गया, टाना भगत विकास प्राधिकरण का गठन, 108एम्बुलेंस सेवा ,एक रुपये में 50लाख तक की संपत्ति की महिला के नाम रजिस्ट्री ,सुदूर ग्रामीण क्षेत्र पेसरार,गुदड़ी, गरू जैसे गांव तक बिजली की सुविधा पहुंचना आदि ऐतिहासिक कार्य रघुवर सरकार ने किये हैं.

शाहदेव ने कहा कि हेमंत सरकार को अपना कार्यकाल याद करना चाहिए, जिसमें नौकरियों का अकाल पड़ चुका था, स्थानीय नीति के नाम पर सरकार  गिरी,  पर नीयत में खोट के कारण नीति नहीं बना सके. बालू घाट मुंबई को बेच दिये,तत्कालीन मंत्री ददई दुबे ने सरकार को ट्रांसफर पोस्टिंग उद्योग बताया था. राज्य सभा में बाहरी व्यक्ति को भेजनेवाले के मुंह से स्थानीयता की बात शोभा नहीं देती. कहा कि यह वही सरकार थी जिसमे हेमंत जी ने सभी मुख्य पदों पर बाहरी को बैठाया था .

इसे भी पढ़ें – सीसीएल दरभंगा हाउस की मुख्य बिल्डिंग में लगी आग, मशक्कत के बाद पाया गया काबू

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like