न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

 भारत में #MonsoonRain, बाढ़ से 2,155 लोगों की मौत, 22 राज्यों के 26 लाख लोग प्रभावित

देश में 361 जिले बारिश, बाढ़ एवं भूस्खलन जनित घटनाओं से प्रभावित रहे और इसके कारण महाराष्ट्र में अधिकतम 430 लोगों की मौत हो गई. पश्चिम बंगाल में 227 लोगों की मौत हुई.

27

NewDelhi : केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि इस बार के मॉनसूनी मौसम में बारिश एवं बाढ़ जनित घटनाओं में 2,155 लोगों की मौत हो गयी. इस बार के मॉनसून में 22 राज्यों में 26 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं.
देश में 361 जिले बारिश, बाढ़ एवं भूस्खलन जनित घटनाओं से प्रभावित रहे और इसके कारण महाराष्ट्र में अधिकतम 430 लोगों की मौत हो गई. पश्चिम बंगाल में 227 लोगों की मौत हुई.

20,000 मवेशी लापता,2.23 लाख घर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त  

अधिकारियों के अनुसार भारी बारिश एवं बाढ़ के कारण देशभर में 803 लोग घायल हुए और करीब 20,000 मवेशी लापता हो गये. इसके कारण 2.23 लाख घर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गये जबकि 2.06 लाख घर आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए वहीं 14.09 लाख हेक्टेयर की फसल बर्बाद हो गयी.अधिकारी ने बताया कि इस साल बारिश एवं बाढ़ से संबंधित घटनाओं में 2,155 लोगों की मौत हुई.

JMM

देश के कुछ हिस्सों में मॉनसून अब भी सक्रिय है हालांकि मौसम आधिकारिक रूप से 30 सितंबर को खत्म हो गया. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार चार महीने की इस अवधि में देश में 1994 के बाद से सबसे अधिक बारिश दर्ज की गयी.  महाराष्ट्र में 22 जिले बाढ़ से प्रभावित हुए और 430 लोगों की मौत हुई, 398 लोग घायल हुए तथा 7.19 लाख लोगों को 305 राहत शिविरों में आश्रय लेना पड़ा.

इसे भी पढ़ें : #MaharashtraElection : भाजपा को टेंशन दे रही #ShivSena, सामना में की शरद पवार की तारीफ,  सत्ता की धौंस न दिखाने की सलाह

पश्चिम बंगाल में 22 जिले प्रभावित, 227 लोगों की मौत

मॉनसूनी बारिश से पश्चिम बंगाल में 22 जिले प्रभावित हुए. इससे 227 लोगों की मौत हो गयी, 37 लोग घायल हुए, चार लोग लापता हैं जबकि 43,433 लोगों को 280 राहत शिविरों में शरण लेना पड़ा.बिहार इस महीने तक बाढ़ से प्रभावित रहा. इसके कारण राज्य में 166 लोगों की मौत हुई, 1.96 लाख लोगों को 282 राहत शिविरों में शरण लेना पड़ा और इस आपदा से राज्य में 28 जिले प्रभावित रहे.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

मध्य प्रदेश में बाढ़ एवं बारिश के कारण 189 लोगों की मौत हुई, 39 लोग घायल हुए और सात अन्य लापता हैं जबकि 32,996 लोगों को 38 जिलों में बने 98 राहत शिविरों में आश्रय लेना पड़ा.केरल में भारी बारिश एवं बाढ़ से 181 लोगों की मौत हो गयी और 72 लोग घायल हो गये. राज्य के 13 जिलों में 15 लोगों के लापता होने की खबर है और 4.46 लाख लोगों को 2,227 राहत शिविरों में शरण लेना पड़ा.

इसे भी पढ़ें : #J&K में 31 अक्टूबर से नये कानून होंगे लागू,  #Human Rights और #InformationCommission समेत सात आयोग खत्म

गुजरात में 22 जिले , प्रभावित , 192 लोगों की मौत

मॉनसून के मौसम में गुजरात में 22 जिले बारिश एवं बाढ़ से प्रभावित रहे, जिससे 192 लोगों की मौत हुई, 17 लोग घायल हुए और 17,783 लोगों को 102 राहत शिविरों में शरण लेना पड़ा.कर्नाटक में 16 जिले बाढ़ एवं बारिश से प्रभावित हुए और इसके कारण 285 लोगों की मौत हुई तथा 49 लोग घायल हुए, वहीं छह लोगों के लापता होने की खबर है जबकि 2.48 लोगों ने 3,261 राहत शिविरों में आश्रय लिया.असम में बाढ़ एवं बारिश के कारण 101 लोगों की मौत हो गयी जबकि 32 जिले इस आपदा से प्रभावित हुए और इसके कारण 5.35 लाख लोगों को 1,357 राहत शिविरों में शरण लेना पड़ा

इसे भी पढ़ें : #Haryana : बहुमत के दावे के बीच भाजपा विधायक दल की बैठक शनिवार को, #GopalKanda के समर्थन पर विवाद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like