न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड पुलिस अलंकरण दिवस पर राज्य के 60 पुलिस पदाधिकारी व जवान सम्मानित 

632

Ranchi: गुरुवार को डोरंडा के जैप वन परिसर में झारखंड पुलिस अलंकरण दिवस परेड समारोह का आयोजन किया गया. इस समारोह में झारखंड पुलिस के वर्ष 2018-19 के लिए 60 पुलिस पदाधिकारी-कर्मी सम्मानित कियी गयी.

इनमें विशिष्ट सेवा के लिए झारखंड राज्यपाल पदक, वीरता के लिए झारखंड मुख्यमंत्री पदक व सराहनीय सेवा के लिए झारखंड पुलिस पदक से सम्मानित किया गया.

JMM

पुलिस अलंकरण दिवस समारोह के मुख्य अतिथि मुख्य सचिव डॉ. डीके तिवारी ने सम्मानित होने वाले सभी पुलिस पदाधिकारी व जवानों को मेडल दिया.

मौके पर विशिष्ट अतिथि में डीजीपी कमल नयन चौबे, डीजी जैप नीरज सिन्हा सहित सभी पुलिस अधिकारी-कर्मी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें- विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की कमी क्यों न बने चुनावी मुद्दा: नीलांबर-पितांबर 161 और रांची विवि में 599 पद खाली

विशिष्ट सेवा के लिए सम्मानित किये गये ये पुलिस पदाधिकारी

  • विपुल शुक्ला: आइजी मुख्यालय, पूर्व डीआइजी पलामू क्षेत्र.
  • अरविंद कुमार: डीएसपी मुख्यालय चाईबासा.
  • अनिमेष कुमार गुप्ता : डीएसपी सीआइडी, पूर्व इंस्पेक्टर जमशेदपुर.

वीरता के लिए ये पुलिस पदाधिकारी व जवान किये गये सम्मानित

दारोगा- सदानंद सिंह (गुमला), सिपाही- अशोक कुमार (गुमला), याकुब सुरीन (गुमला), विपुल पांडेय (सहायक समादेष्टा बीएसएफ वर्तमान में एएसपी लातेहार), आलोक कुमार दुबे (लातेहार), मनीष कुमार राय (लातेहार), नितिन खंडेलवाल (एसडीपीओ बाघमारा, धनबाद, तत्कालीन डीएसपी एसटीएफ), सिपाही रितेन प्रधान (झारखंड जगुआर), सिपाही राजकुमार सिंह (झारखंड जगुआर), सुमन क्षेत्री (झारखंड जगुआर), हवलदार अनुज कुमार सिंह (झारखंड जगुआर), सिपाही पाताल हेम्ब्रम (झारखंड जगुआर), सिपाही चंदन कुमार (खूंटी), धनंजय कुमार (खूंटी), दारोगा अवधेश कुमार (खूंटी), इंस्पेक्टर दिग्विजय सिंह (खूंटी), दारोगा पप्पू शर्मा (खूंटी), सिपाही जोरोंग सुरीन (खूंटी), दारोगा संजीव कुमार (खूंटी), जमादार फिलिप कुजूर (खूंटी), दारोगा विनोद राम (रांची), इंस्पेक्टर केश्वर साहू (लोहरदगा), दारोगा अनिल कुमार तिवारी (लोहरदगा), दारोगा शशि शेखर कुमार (लोहरदगा), सिपाही परमेंद्र कुमार (लोहरदगा), सिपाही राजू साह (लोहरदगा), सिपाही जगरनाथ लकड़ा (लोहरदगा), जमादार राम विलास महतो (चाईबासा), सिपाही पंकज तिर्की (सरायकेला) व सिपाही राजू कुमार रजक (सरायकेला).

इसे भी पढ़ें- राज्य के शिक्षक विभागीय एप्प में सूचना अपलोड करने में व्यस्त, बच्चों की पढ़ाई हो रही प्रभावित

सराहनीय सेवा के लिए ये पुलिस पदाधिकारी व जवान किये गये सम्मानित

पंकज कंबोज (डीआइजी, हजारीबाग), ए. विजयालक्ष्मी (एसपी, एटीएस), नवल शर्मा (डीएसपी मुख्यालय साहिबगंज), निरीक्षक इम्तेयाज अहमद (जैप-3, गोविंदपुर, धनबाद), दारोगा संजीव कुमार झा (जमशेदपुर), दारोगा रामायण मुर्मू (जैप-3, गोविंदपुर, धनबाद), दारोगा नरेश प्रधान (जैप-1, रांची), दारोगा सत्येंद्र मिश्रा (आइआरबी-3, चतरा), जमादार लालमणि प्रसाद प्रजापति (झारखंड जगुआर), जमादार राजेंद्र नाथ मुंडा (चतरा), जमादार मानसिंह चांपिया (चतरा), जमादार सरयू प्रसाद (गुमला), हवलदार सर्वजीत कुमार (झारखंड जगुआर), हवलदार सिकंदर राय (झारखंड जगुआर), सिपाही धीरज दियाली (झारखंड जगुआर), सिपाही कुल बहादुर श्रेष्ठ (झारखंड जगुआर), सिपाही मीन बहादुर खत्री (झारखंड जगुआर), सिपाही धर्मेश तिर्की (झारखंड जगुआर), सिपाही गोविंद राम (झारखंड जगुआर), सिपाही अलबिनुस कच्छप (गुमला), सिपाही संतोष कुमार राय (आइआरबी-3, चतरा), सिपाही आलोक कुमार रजक (आइआरबी-3, चतरा), सिपाही बोवास होरो (आइआरबी-3, चतरा), सिपाही संजीव कुमार मुंडा (आइआरबी-3, चतरा), सिपाही रविकांत मिश्र (जमशेदपुर), सिपाही विक्रांत शंकर झा (जमशेदपुर), सिपाही हैदर अली (आइआरबी-3, चतरा).

पदक प्राप्त पदाधिकारियों व कर्मियों के लिए भी गर्व की बात: डीजीपी

राज्य डीजीपी के केएन चौबे ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य के 60 पुलिस पदाधिकारी और जवानों को सम्मानित किया गया. उन्होंने कहा कि झारखंड पुलिस व पदक प्राप्त पदाधिकारियों और कर्मियों के लिए यह गर्व की बात है कि कर्तव्य के प्रति उनकी प्रशंसनीय उपलब्धियों को अखिल भारतीय स्तर पर न सिर्फ सराहा गया बल्कि, इस विशेष एवं यादगार समारोह में उन्हें सम्मानित भी किया गया है.

झारखंड पुलिस अपने लक्ष्य की ओर लगातार आगे बढ़ रही है: मुख्य सचिव

मुख्य सचिव डीके तिवारी ने अपने संबोधन में कहा कि कानून व्यवस्था एवं अपराध नियंत्रण में पुलिस की महत्वपूर्ण व प्रमुख भूमिका होती है. जिसे झारखंड पुलिस बखूबी से निभाते हुए अपने लक्ष्य की ओर लगातार आगे बढ़ रही है.

उन्होंने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था, विधि व्यवस्था और यातायात व्यवस्था बनाये रखना, चोर-लूटेरों से आम जनता की रक्षा करना पुलिस का अहम दायित्व है. जिसको झारखंड पुलिस बखूबी निभा रही है.

साइबर अपराध के रूप में एक नई चुनौती झारखंड पुलिस को मिली है. इस क्षेत्र में भी अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल करते हुए नकेल कसने की जरूरत है.

196 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण व पुनर्वास नीति के तहत सरेंडर किया है

झारखंड पुलिस की ओर से नक्सलियों के विरुद्ध चलाये गये अभियान में अब तक कुल 2401 नक्सलियों और उनके समर्थकों की गिरफ्तारी हो चुकी है. इनके पास से 182 लूटे हथियार भी मिले हैं.

इसके अलावा 51 रेगुलर हथियार, 48,553 कारतूस, 2703 लैंड माइंस व ग्रेनेड और लेवी के 5.68 करोड़ रुपये बरामद किये गये हैं. झारखंड पुलिस के प्रयास से कुल 196 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति के तहत सरेंडर किया है.

38696 मामलों में 34078 का किया जा चुका है निष्पादन 

झारखंड ऑनलाइन एफआइआर सिस्टम (जेओएफएस) से अबतक कुल 473 थाने जुड़ चुके हैं. इस सिस्टम के तहत अब तक कुल 38696 मामले प्राप्त हुए हैं. जिसमें 34078 मामलों का निष्पादन किया जा चुका है.

वहीं 1514 मामलों में प्राथमिकी दर्ज की गयी है.रांची जिला अंतर्गत सीसीटीवी प्रणाली को लागू करने के लिए चिन्हित 170 स्थानों में से 167 लोकेशन पर काम को पूरा किया जा चुका है. जबकि, अन्य जगहों पर काम चल रहा है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like