न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#एयर स्ट्राइकः अंग्रेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाऊ का दावाः हमले में हुआ भारी नुकसान, तसवीरें जारी कीं

276

New Delhi: पुलवामा हमले के बाद भारत द्वारा पाकिस्तान और पीओके में की गयी एयर स्ट्राइक के बाद अब कई विपक्षी दल सरकार से प्रूफ मांग रहे हैं. बुधवार को अंतरराष्ट्रीय मीडिया में कुछ तसवीरें जारी हुईं जिसमें यह दावा किया गया था कि एयर स्ट्राइक के बाद भी बालाकोट में मदरसे की बिल्डिंग खड़ी है. इस बीच, हमारे अंगरेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ ने एयर स्ट्राइक के सबूत के तौर पर 12 तस्वीरें सामने रखी. टाइम्स नाउ ने सीक्रेट एयर फोर्स ऑपरेशन की तस्वीरों के आधार पर बताया है कि हवाई हमले के नुकसान के निशान स्पष्ट तौर पर दिखाई दे रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – राफेल मामला: AG बोले- दस्तावेज हुए चोरी, SC ने कहा- बतायें क्या हुई कार्रवाई

Trade Friends

जरूरी नहीं कि बंकर बस्टिंग मिसाइल से इमारत पूरी तरह से ध्वस्त हो जाये

पिछले 12 घंटों में तैयार की गयी रिपोर्ट के मुताबिक भारत ने बालाकोट में भारी तबाही मचाई. तस्वीरों की समीक्षा से भी देखा जा सकता है कि भारतीय मिसाइल ने जैश-ए-मोहम्मद के ट्रेनिंग कैंप की बिल्डिंग्स को तबाह कर दिया था. तस्वीरों से पता चलता है कि भारतीय मिसाइलों से बिल्डिंग्स से कई छेद हुए. रिपोर्ट का दावा है कि जरूरी नहीं है कि बंकर बस्टिंग मिसाइलों के हमले में इमारत पूरी तरह से ध्वस्त हो जाए.

इसे भी पढ़ें – सुखोई Su-30 ने पाकिस्तान की AMRAAM मिसाइल हवा में उड़ा दी थी   

4 ब्लैक स्पॉट

दरअसल, जिस मिसाइल का भारतीय वायुसेना ने इस्तेमाल किया था, वह सीधे बिल्डिंग में लगी है और चार ब्लैक स्पॉट दिखाई देते हैं. रिपोर्ट में पोकरण में इस्तेमाल बंकर बस्टर मिसाइल के पेनेट्रेशन विडियो को भी दिखाया गया, जिसमें साफ दिखाई देता है कि मिसाइल के लगने के बाद भी बिल्डिंग पूरी तरह से ध्वस्त नहीं होती है. आपको बता दें कि सैटलाइट तस्वीरों के आधार पर कुछ मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि बालाकोट कैंप की इमारतें पहले की तरह ही खड़ी हैं और उन्हें कोई नुकसान नहीं हुआ है. इधर, भारतीय वायुसेना ने साफ कहा है कि उसने अपने टारगेट को पूरी मजबूती से हिट किया है.

इसे भी पढ़ें – न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने सैटेलाईट इमेज जारी कर किया दावा, बालाकोट का मदरसा बिल्डिंग अब भी सही सलामत

स्पाइस 2000 बम से बिल्डिंग डैमेज

टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के मुताबिक जरूरी नहीं है कि ग्लाइड बम बिल्डिंग के सुपर स्ट्रक्चर को ध्वस्त ही करे. हालांकि तस्वीर में बिल्डिंग पूरी तरह से डैमेज दिख रही है. आपको बता दें कि स्पाइस 2000 ग्लाइड बम का भारत ने इस्तेमाल किया था जो स्पेशल तौर पर टारगेट को नष्ट करती है. तस्वीरों में कुछ पेड़ भी नष्ट हुए दिखाई देते हैं.

इजरायल मेड बम

स्पाइस 2000 ग्लाइड बम को इजरायल ने विकसित किया है और इसी का इस्तेमाल भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 प्लेन ने पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों को ध्वस्त करने के लिए किया था.

इसे भी पढ़ें – वायुसेना ने एयरस्ट्राइक से जुडे़ सबूत सरकार को सौंपे, 80 फीसदी निशाने सही लगे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like