न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आरिफ मोहम्मद खान ने कहा, तीन तलाक पर कानून नहीं बनाया, तो मोदी सरकार भी राजीव गांधी वाली गलती करेगी

आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि जो पार्टी 1984 में चार सो  से ज्यादा सीटों पर जीती थी वह बेसहारा का श्राप भुगत रही है.  

41

 NewDelhi : तीन तलाक को क्यों दंडनीय अपराध बनाया जाये… विषयक व्याख्यान  में  पूर्व केंद्रीय मंत्री आरिफ मोहम्मद खान ने शुक्रवार को कहा कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो मोदी सरकार भी वही गलती करेगी जो पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने शाह बानो मामले में की थी.  इस क्रम में कांग्रेस  का नाम लिये  बिना आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि जो पार्टी 1984 में चार सो  से ज्यादा सीटों पर जीती थी वह बेसहारा का श्राप भुगत रही है.

आरिफ मोहम्मद खान 1986 में राजीव गांधी की सरकार में राज्य मंत्री थे , लेकिन उन्होंने शाह बानो मामले में सरकार के रुख के खिलाफ इस्तीफा दे दिया था. ट्रिपल तलाक को अपराध ठहराने की  लड़ाई लड़ रहे  खान ने कहा, शाह बानो को क्या दिया गया था? अपने शरीर और आत्मा को साथ में रखने के लिए 147 रुपये.  उस बेसहारा का श्राप उनके पीछे पड़ा है.  खान ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पिछले साल अक्टूबर में छह पन्ने का पत्र तीन तलाक के चलन को अपराध ठहराने के आग्रह के साथ लिखा था.

इसे भी पढ़ें- प्रियंका में दिखता इंदिरा का अक्स

 शाह बानो  इंदौर की एक मुस्लिम महिला थीं

Trade Friends

जान लें कि  शाह बानो  इंदौर की एक मुस्लिम महिला थीं, जिन्हें उनके पति ने 1978 में तलाक दे दिया था.  इसके बाद उसने अदालत में इसके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कराया और अपने पति से गुजारा भत्ता पाने का मामला भी जीत गयीं.  निचली अदालत के फैसले को उसके पति ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने निचली अदालत का फैसला बरकरार रखा.    इसके बाद तत्कालीन राजीव गांधी सरकार मुस्लिम महिला (तलाक पर अधिकारों का संरक्षण) विधेयक लेकर आयी और कानून बनाकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला पलट दिया.

इसे भी पढ़ें- गोडसे महान, बैट से पीटा, मीडिया की औकात क्या, खून बहा देंगे और भाजपा खेल रही नोटिस-नोटिस

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like