न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#AutoSector : BS-IV वाहनों पर GST दर कम होने की संभावना, GST काउसिंल की बैठक 20 को

सूत्रों के अनुसार जीएसटी काउंसिल की बैठक में सिर्फ BS-IV गाड़ियों पर जीएसटी रेट्स में कटौती हो सकती है. BS-IV गाड़ियों पर GST 28 फीसदी से घटकर 18 फीसदी हो सकती है.

69

NewDelhi :  गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) काउसिंल की 20 सितंबर को गोवा में होने वाली बैठक में ऑटो सेक्टर को राहत देने के लिए जीएसटी में कटौती का फैसला हो सकता है. सूत्रों के अनुसार जीएसटी काउंसिल की बैठक में सिर्फ BS-IV गाड़ियों पर जीएसटी रेट्स में कटौती हो सकती है. BS-IV गाड़ियों पर GST 28 फीसदी से घटकर 18 फीसदी हो सकती है.
खबरों के अनुसार  सरकार के सामने दुविधा यह है कि ऑटो सेक्टर को राहत देने के लिए क्या GST में कटौती की जाये?. अगर सारे सेगमेंट पर कटौती की जाती है तो सालाना 50,000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा. वहीं सरकार यह भी चाहती है राजस्व का नुकसान भी न हो, तो इसके लिए सरकार बीच का रास्ता अपना सकती है.

यानी  सिर्फ और सिर्फ BS-IV गाड़ियों पर जीएसटी की दरें घटाई जाये. BS-IV गाड़ियों पर जीएसटी की दरें घटाकर 18 फीसदी पर किया जाये.  इस प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – बैंकों के विलय के खिलाफ चार #TradeUnions की देशव्यापी हड़ताल 26-27 सितंबर को

Trade Friends

 BS-IV गाड़ियां सिर्फ 31 मार्च 2020 तक बेचने की छूट

अगर सिर्फ BS-IV गाड़ियों पर ही जीएसटी की दर घटती है, तो यह जीएसटी दरों में कटौती हमेशा के लिए नहीं होगी. यह सिर्फ 31 मार्च 2020 तक के लिए GST कटौती करनी पड़ेगी क्योंकि BS-IV गाड़ियां सिर्फ 31 मार्च 2020 तक बेचने की छूट है. इसका फायदा यह होगा कि इसका नुकसान हमेशा के लिए नहीं होगा. यह नुकसान अभी से लेकर 6 महीने तक होगा.

Related Posts

वोडाफोन-आइडिया, एयरटेल को 74,000 करोड़ का नुकसान, ग्राहकों पर पड़ेगा असर

कंपनी का तिमाही घाटा भारत के इतिहास में अब तक का सबसे खराब नुकसान है.

इसे भी पढ़ें – चुनाव से पहले हेमंत का आदिवासी कार्डः बीजेपी में आदिवासी नेताओं की अनदेखी का लगाया आरोप

गाड़ियों के पार्ट्स पर जीएसटी घटने की संभावना

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की पिछले दिनों ऑटो सेक्टर के प्रतिनिधियों से  जब मुलाकात हुई थी तब गाड़ियों के पार्ट्स पर जीएसटी घटाने पर गंभीरता से विचार किया गया था. इस विकल्प पर वित्त मंत्रालय के भीतर भी राजस्व विभाग के अधिकारियों के बीच चर्चा हुई है.

हो सकता है कि जीएसटी काउंसिल की बैठक में सरकार इस पर हरी झंडी दे दे,  ताकि इससे ऑटो सेक्टर को राहत मिल जायेगी और सरकारी खजाने पर भी ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा.

इसे भी पढ़ें – झारखंड के डीसी IAS Code of Conduct के खिलाफ जाकर चला रहे हैं #jharkhandwithmodi कैंपेन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like