न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#AyodhyaVerdict: फैसले पर बोले पीएम मोदी- इसे हार या जीत के रूप में ना लें, कांग्रेस ने निर्णय का किया स्वागत

1,083

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट ने देश के संवेदनशील अयोध्या विवाद पर 40 दिनों तक चली लगातार सुनवाई के बाद शनिवार को अपना ऐतिहासिक फैसला सुना दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर बनेगा. और मुस्लिम पक्षकार को अयोध्या में ही 5 एकड़ की अलग से जमीन दी जाए, जहां वो मस्जिद बना सकें.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर देश के पीएम समेत कई बड़े नेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. और देशवासियों से फैसले को लेकर शांति और सौहार्द बनाये रखने की अपील की है.

इसे भी पढ़ेंः#AyodhyaVerdict: SC का ऐतिहासिक फैसलाः विवादित जमीन रामलला की, मुस्लिम पक्ष को दूसरी जगह 5 एकड़ जमीन दे सरकार

हार-जीत के तौर पर न लें- पीएम

प्रधानमंत्री मोदी ने अयोध्या विवाद पर आये फैसले को लेकर कहा कि देश की सर्वोच्च अदालत ने अपना फैसला सुना दिया है. और लोग इस हार या जीत के तौर पर न लें. सिलेसिलेवार ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा कि अब समय भारतभक्ति का है.


उन्होंने ट्वीट किया कि, सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. इसे हार या जीत के तौर पर न देखें. रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है. देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें.

अपने दूसरे ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा, सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला कई वजहों से महत्वपूर्ण है. यह बताता है कि किसी विवाद को सुलझाने में कानूनी प्रक्रिया का पालन कितना अहम है. हर पक्ष को अपनी-अपनी दलील रखने के लिए पर्याप्त समय और अवसर दिया गया. न्याय के मंदिर ने दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान कर दिया.

लोकतांत्रिक देश के तौर पर न्यायालय के फैसले को स्वीकार करें- गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को जनता से अपील की कि लोकतांत्रिक देश के नागरिक होने के नाते वे अयोध्या मामले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले को स्वीकार करें.

इसे भी पढ़ेंः#AyodhyaVerdict: निर्मोही अखाड़ा ने कहा- दावा खारिज होने का अफसोस नहीं

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘लोकतांत्रिक देश की जनता होने के नाते अयोध्या मामले पर उच्चतम न्यायालय का फैसले सभी को स्वीकार करना चाहिए. न्यायपालिका में हम सभी का विश्वास है. लोगों को शांति और सद्भाव बनाए रखना चाहिए.’

अयोध्या पर निर्णय का सम्मान, सभी शांति बनाएं रखें- कांग्रेस

कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने शनिवार को कहा कि वह अयोध्या मामले पर आए उच्चतम न्यायालय के फैसले का सम्मान करती है. और अब सभी को शांति एवं सौहार्द सुनिश्चित करना चाहिए.

सीडब्ल्यूसी की बैठक के बाद जारी बयान में कहा, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस अयोध्या मामले में उच्चतम न्यायालय के निर्णय का सम्मान करती है. पार्टी ने कहा, ‘हम सभी संबंधित पक्षों और सभी समुदायों से निवेदन करते हैं कि वे भारत के संविधान में स्थापित ‘सर्वधर्म समभाव’ तथा भाईचारे के उच्च मूल्यों को निभाते हुए अमन-चैन का वातावरण बनाए रखें.’

इसे भी पढ़ेंः#AyodhyaVerdict: SC के फैसले से संतुष्ट नहीं मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, मशविरा के बाद पुर्नविचार याचिका पर लेंगे फैसला

हम सबको मिलकर सौहार्द बनाए रखना है- अमित शाह

वहीं देश के गृहमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि देश की न्यायपालिका के मान-सम्मान को सर्वोपरि रखते हुए समाज के सभी पक्षों ने, सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों ने, सभी पक्षकारों ने बीते दिनों सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक वातावरण बनाने के लिए जो प्रयास किए, वे स्वागत योग्य हैं. कोर्ट के निर्णय के बाद भी हम सबको मिलकर सौहार्द बनाए रखना है.

हम फैसले का स्वागत करते हैं- भागवत

राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से देश की जनभावना और आस्था को न्याय देने वाले फैसले का संघ स्वागत करता है.

मामले को लेकर सभी पक्षों के वकीलों का हम अभिनंदन करते हैं और बलिदानियों को प्रति कृतज्ञता प्रकट करते हैं. साथ ही कहा कि सरकार और आम लोगों की ओर से किए गए प्रयासों का अभिनंदन करते हैं. फैसले को जय और पराजय की दृष्टि से नहीं देखे जाने की भी अपील उन्होंने की.

इसे भी पढ़ेंः#AyodhyaVerdict: SC के ऐतिहासिक फैसले के बाद रांची में 11 नवंबर तक धारा 144 लागू

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like