न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

संतालियों के अंतरराष्ट्रीय सरना सम्मेलन में राज्यपाल ने कहा, सभी को साथ लेकर चलने से होगा सामाजिक विकास

634

Bermo : लुगुबुरु घांटाबाड़ी धोरोमगाढ़ में संतालियों के 19वें अंतरराष्ट्रीय सरना महाधर्म सम्मेलन के दूसरे और अंतिम दिन राज्‍यपाल द्रौपदी मुर्मू दोरबारी चट्टान पहुंचीं और पूजा अर्चना की.

सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए राज्यपाल मुर्मू ने कहा कि लुगुबुरु धोरोमगाढ़ हमारी गहरी आस्था व विश्वास का केंद्र है. जब छोटी थी तो दादी-नानी लुगुबुरु का बखान करती थीं.

JMM

उन्‍होंने कहा कि समाज के विकास में शिक्षा का अहम स्थान है. शिक्षा को लेकर हमें जागरूक होना होगा. साथ ही दूसरों को, जो पीछे छूट रहे हैं, उन्हें भी साथ लेकर चलना होगा. तभी सामाजिक विकास को बल मिलेगा.

इसे भी पढ़ें : #Education का निजीकरण क्यों न हो चुनावी मुद्दा? Govt ने नहीं खोला एक भी कॉलेज, मंत्री ने यूनिवर्सिटी व 4 कॉलेज खड़े किये

शिबू सोरेन भी पहुंचे

संतालियों के अंतरराष्ट्रीय सरना सम्मेलन में राज्यपाल ने कहा, सभी को साथ लेकर चलने से होगा सामाजिक विकाससम्मेलन में दिशोम गुरु शिबू सोरेन भी पहुंचे. पुनाय थान में आराध्य देवों की पूजा-अर्चना के बाद पारंपरिक स्वागत करती संताली बालाएं उन्हें मंच तक लायीं. उनके साथ गोमिया विधायक बबीता देवी, पूर्व विधायक योगेंद्र प्रसाद, झामुमो जिलाध्यक्ष हीरालाल मांझी भी थे.

सम्मेलन को संबोधित करते हुए शिबू सोरेन ने कहा कि भाषा, संस्कृति व परंपरा के निर्वहन को सजग रहें. शिक्षा के प्रति जागरूक रहें. बाल-बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाएं. उन्‍होंने कहा कि नशाखोरी दारू आदि का त्याग करें.

शिबू सोरेन ने कहा कि दरबार चट्टानी में इसी तरह हम जुटते रहें, यही कामना है. जबतक जीवित हूं, यहां आता रहूंगा.

समिति द्वारा उन्हें पारंपरिक वस्र व गुलदस्ता देकर सम्मानित व स्वागत किया गया. विधायक बबीता देवी व पूर्व विधायक को भी सम्मानित व स्वागत किया गया.

इसे भी पढ़ें : #JharkhandElection : कांग्रेस सह-प्रभारी उमंग सिंघार की उदासीनता का कारण आरपीएन सिंह से नाराजगी तो नहीं?

नेपाल, बांग्लादेश से भी आये श्रद्धालु

इस सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेने के लिए सरना धर्म के लोग, रविवार सुबह से ही ललपनिया पहुंचने लगे थे. पहले दिन डेढ़ लाख से अधिक श्रद्धालुओं के पहुंचने का अनुमान लगाया गया था. सोमवार को नेपाल से करीब 20 श्रद्धालु और बांग्लादेश से करीब 12 श्रद्धालुओं का जत्था लुगुबुरु पहुंचा.

समिति के अध्यक्ष बबुली सोरेन व सचिव लोबिन मुर्मू ने विदेशी श्रद्धालुओं के जत्थे का स्वागत किया. इस तरह असम, ओड़िशा, पश्चिम बंगाल, छतीसगढ़, बिहार, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, सिक्किम आदि राज्यों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते रहे और यह सिलसिला लगातार जारी रहा.

प्रशासन रहा मुस्तैद 

जिले के उपायुक्त मुकेश कुमार व एसपी पी मुरुगन लगातार निगरानी कर रहे थे. अपर समाहर्ता विजय कुमार गुप्ता, एसडीओ बेरमो प्रेम रंजन, एसडीपीओ अंजनी अंजन, इंस्पेक्टर सुजीत कुमार, बीडीओ गोमिया मोनी कुमारी, सीओ ओमप्रकाश मंडल, सीआइ सुरेश प्रसाद बर्णवाल, जीएम टीटीपीएस घनश्याम कुमार, डीजीएम अशोक प्रसाद आदि लगातार कैंप किये रहे और श्रद्धालुओं की सुविधा की व्यवस्थाओं और सुरक्षा के बाबत जायजा लेते देखे गये.

इसे भी पढ़ें : चंदनक्यारी में होने वाले इस रोमांचकारी पॉलिटिकल मैच में आजसू के उमाकांत रजक ने टॉस जीता

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like