न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नशा कारोबारियों पर रांची पुलिस की बड़ी कार्रवाई, एक करोड़ की नशीला दवाइयां बरामद

1,585

Ranchi: राजधानी रांची के सुखदेव नगर थाना क्षेत्र के रातू रोड स्थित अमरूद बगान में नशा का कारोबार कर रहे लोगों पर रांची पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है. बुधवार को सुखदेवनगर पुलिस को मिली सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए भारी मात्रा में नशीला दवाई बरामद की गयी. बरामद नशीली दवाई की बाजार में कीमत 75 लाख से एक करोड़ के बीच आंकी जा रही है. नशीले पदार्थ का कारोबार करने वाला संतोष कुमार मौके से फरार हो गया. पुलिस ने उनके पिता कालेश्वर प्रसाद को हिरासत में ले लिया है. उनसे पूछताछ हो रही है.

इसे भी पढ़ेंः जियो फाइबर के लिए बहुत चालाकी के साथ रास्ता साफ किया गया

एसएसपी अनीश गुप्ता के निर्देश पर हुई कार्रवाई

एसपी अनीश गुप्ता को गुप्त सूचना मिली थी कि रातू रोड के अमरूद बगान में बड़े पैमाने पर नशीले पदार्थ का कारोबार किया जा रहा है. मिली गुप्त सूचना के आधार पर एसपी अनीश गुप्ता के निर्देश पर कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार विमल के नेतृत्व में सुखदेवनगर इंस्पेक्टर संजय कुमार समेत पूरी टीम ने छापेमारी की. छापेमारी के दौरान पुलिस ने गोदाम से 100 पेटी नशीली दवाई बरामद की. बता दें कि जिस दवा दुकान से नशीली दवाई बरामद हुई उस दवा दुकान पर सुबह से रात तक असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता था. जिससे मोहल्ला के लोगों को काफी परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा था.

Trade Friends

इसे भी पढ़ेंः ममता बनर्जी ने कहा, खुद का धर्म साबित करने से मरना बेहतर होगा

75 लाख से एक करोड़ के बीच आंकी जा रही है कीमत

पुलिस से मिली सूचना के अनुसार रातू रोड स्थित अमरूद बगान के रहने वाले संतोष कुमार के गोदाम से जो दवाइयां मिली हैं उसकी कीमत 75 लाख से एक करोड़ के बीच आंकी जा रही है. दवा कारोबारी संतोष कुमार ज्यादा पैसा कमाने के चक्कर में अवैध तरीके से नशीली दवाई का सप्लाई करता था. और मार्केट मूल्य से दस गुणा अधिक दाम में कॉरेक्स बेचता था. पुलिस संतोष कुमार की गिरफ्तारी के लिए संभावित जगहों पर छापेमारी कर रही है.

दवा ऐसी कि किसी को भी नशे का आदी बना दे

पुलिस ने जो दवाई बरामद की है, उसमें कई ऐसी हैं जो देश भर में बैन है. इस दवा में कोडिन फास्फेट का कंपोजिशन है, जो एच वन ड्रग के शिड्यूल में शामिल है. एक्सपर्ट के मुताबिक इस दवा का कंपोजिशन ऐसा है कि इसका ओवरडोज किसी भी व्यक्ति को नशे का आदी बना देता है. बिना किसी चिकित्सक की लिखी पर्ची के यह दवा किसी मरीज को नहीं दी जा सकती. लेकिन कई दुकानदार इसे बेच रहे हैं.

रांची के सप्लायर हजारीबाग में हुए थे गिरफ्तार

30 जुलाई को मेन रोड, रांची से पूरे झारखंड में नशीली दवा की सप्लाई करने वाले दवा कारोबारी रवि कुमार अग्रवाल और होलसेलर अभिषेक कुमार को हजारीबाग पुलिस ने गिरफ्तार किया था. पुलिस की ही मानें तो आरोपी 10 साल से लालजी हीरजी रोड स्थित अपने आवास से दवा की सप्लाई करता था. यहां से 25 पेटी प्रतिबंधित दवा ओनारेक्स भी जब्त की गयी थी.

इसे भी पढ़ेंः धनबाद:  SDM राज महेश्वरम ने वकीलों के टेबल पर चलायी लात, भड़के वकील, चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like