न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिहारः लोहिया की पुण्यतिथि पर 12 अक्टूबर को महागठबंधन का शक्ति प्रदर्शन

12 अक्ट्रबर को पटना में कार्यक्रम, तेजस्वी के शामिल होने पर संशय

722

Patna: बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन एक मंच पर अपनी एकता दिखायेगा. विपक्षी महागठंधन में शामिल पांच दल आनेवाले 12 अक्टूबर को पटना स्थित बापू सभागार में समाजवादी नेता राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर एक कार्यक्रम का आयोजन करेंगे.

इसे भी पढ़ेंः#HowdyModi में मोदी के साथ ट्रंप साझा करेंगे मंच, 50,000 से अधिक भारतीय-अमेरिकी को करेंगे संबोधित

Jmm 2

कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में महागठबंधन (राजद, कांग्रेस, रालोसपा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) और विकासशील इंसान पार्टी) की एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए रालोसपा प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा जो कि इस समारोह के संयोजक भी हैं, ने बताया कि पंद्रह दिन पहले हुई महागठबंधन की बैठक में सभी घटक दलों ने सर्वसम्मति से विपक्ष और मीडिया की आवाज दबाने का प्रयास कर रही भाजपा के तानाशाही शासन जो कि लोकतंत्र में शर्मनाक है, का विरोध करने के लिए कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया.

तेजस्वी के शामिल होने पर संशय

कुशवाहा ने कहा इसी रणनीति के तहत महागठबंधन 12 अक्टूबर को पटना स्थित बापू सभागार में राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि मनाने के लिए एक कार्यक्रम आयोजित करेगा. जिसमें इस गठबंधन के घटक दलों के सभी प्रमुख नेता उपस्थित रहेंगे और एकजुटता का प्रदर्शन करेंगे .

संवाददाता सम्मेलन में उपस्थित न तो कुशवाहा और न ही राजद विधायक कुमार सर्वजीत ने स्पष्ट किया कि राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव इस कार्यक्रम में शामिल होंगे या नहीं. कुशवाहा ने कहा कि समारोह में भाग लेने के लिए उन्होंने वाम दलों के नेताओं को भी आमंत्रित किया है.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

लोहिया के कांग्रेस के खिलाफ मुखर रहने के बारे में पूछे जाने पर कुशवाहा ने कहा कि यह पूरी तरह से सही नहीं है क्योंकि उन्होंने अपनी राजनीति की शुरुआत इसी दल से की थी पर बाद में अपने रास्ते अलग कर लिए थे.

जदयू से गठबंधन को इच्छुक कांग्रेस ?

यह पूछे जाने पर कि क्या जदयू को महागठबंधन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जाएगा, कुशवाहा ने कहा कि यह आपका (मीडिया का) विषय है.

इस सवाल को दोहराए जाने पर कांग्रेस नेता अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि इसका जवाब तभी दिया जा सकता है जब वह (नीतीश कुमार) भाजपा से नाता तोड़ लेते हैं.

इसे भी पढ़ेंः58,000 करोड़ कर्ज के तले दबी #AirIndia को 2018-19 में 8,400 करोड़ का घाटा

यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस, जदयू को महागठबंधन में शामिल करने के लिए इच्छुक है, कांग्रेस राज्य इकाई के अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि यह एक काल्पनिक सवाल है.

पहले जदयू की ओर से प्रस्ताव तो आए. उन्होंने कहा कि जदयू की ओर से अगर कोई प्रस्ताव आता है तो इस बारे में कांग्रेस आलाकमान द्वारा निर्णय लिया जाएगा.

महागठबंधन के इस संवाददाता सम्मेलन में कुशवाहा के अलावा बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य अखिलेश प्रसाद सिंह, विकासशील इंसान पार्टी प्रमुख मुकेश साहनी, राजद विधायक कुमार सर्वजीत और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) के नेता अनिल रजक मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंःकुपोषण के कारण भारतीय बच्चे बौनेपन के सबसे ज्यादा शिकार, मानदंड मापने की समीक्षा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like