न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#BiharFlood: बाढ़ से बेहाल बिहार, कृषि मंत्री प्रेम कुमार विपक्ष को ठहरा रहे जिम्मेवार

1,012

Patna: बिहार के जनता बाढ़ से बेहाल और नीतीश सरकार के बड़बोले मंत्री बयानबाजी में व्यस्त नजर आते हैं. लगातार होती बारिश से जहां सूबे में समस्या गहरा गयी है. जलजमाव से पटना में जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित है.


वहीं सीएम नीतीश कुमार समेत उनके कई मंत्री लगातार ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं, जिस पर विवाद हो सकता है.

बाढ़ पर पत्रकारों के सवाल पर नीतीश कुमार के भड़कने के बाद अब ताजा बयान कृषि मंत्री प्रेम कुमार का आया है. बीजेपी नेता और मंत्री ने प्रदेश में बाढ़ के हालात के लिए विपक्ष को जिम्मेवार बताया है.

इसे भी पढ़ेंः#Article370 रद्द किये जाने का लंबे समय से किया जा रहा था इंतजार: जयशंकर

बाढ़ के लिए कांग्रेस, राजद जिम्मेवार- कृषि मंत्री

कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने बाढ़ के लिए कांग्रेस व आरजेडी की पार्टी को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा, ‘‘आजादी के बाद से कांग्रेस व आरजेडी ने बिहार में राज किया. यही वजह है कि बिहार में आज ऐसे हालात हैं. इसके लिए पूरी तरह विपक्ष ही जिम्मेदार है.’’

तो इस्तीफा दें सभी राज्यों के सीएम- जेडीयू नेता

जनता बारिश-बाढ़ से त्राहिमाम कर रही है. और नेताओं के एक से एक बयान सामने आ रहे हैं. प्रमे कुमार से पहले बाढ़ पर सवाल पूछे जाने पर जेडीयू नेता केसी त्यागी भी आपा खोते नजर आये थे.

उन्होंने कहा था, ‘‘अमेरिका में बाढ़ के लिए कौन जिम्मेदार है? मिडिल ईस्ट में बाढ़ के लिए कौन जिम्मेदार है? मुंबई महानगर पालिका का बजट 70 हजार करोड़ है, लेकिन वहां भी बाढ़ जैसे हालात हैं. अगर बाढ़ को मुद्दा बनाकर मुख्यमंत्री नीतीश को असफल कहा जा रहा है तो सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को इस्तीफा दे देना चाहिए.’’

याद दिला दें कि इससे पहले सीएम नीतीश खुद बाढ़ का ठीकरा खराब मौसम पर फोड़ा था. वहीं, केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने इसे हथिया नक्षत्र का प्रकोप बताया था.

इन नेताओं से इतर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि पटना में जलजमाव के लिए जनता नहीं राजग जिम्मेदार है और हम जनता से क्षमा याचना करेंगे.

बेगूसराय से सांसद सिंह ने राज्य सरकार को जिम्मेवार ठहराते हुए कहा कि बारिश से पहले अलर्ट जारी किया गया था लेकिन राज्य सरकार प्रशासनिक मशीनरी को आगाह करने में नाकाम रही.

गड्ढे में गिरे बीजेपी सांसद रामकृपाल यादव

इधर भाजपा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव अपने संसदीय क्षेत्र के बाढ़ग्रस्त इलाके में जाते समय बुधवार रात नदी में गिर गए.

इसे भी पढ़ेंःबिजली उत्पादक कंपनियां बेहाल, वितरण कंपनियों पर बकाया पहुंचा 78,000 करोड़, #AdaniPower पर 3,794  करोड़ बकाया  

यह घटना पटना ग्रामीण के धनरुआ क्षेत्र की है जो यादव के संसदीय क्षेत्र पाटलिपुत्र में आता है. वह लगातार दूसरी बार यहां से सांसद निर्वाचित हुए हैं.

यादव बांस पर टायर बांधकर बनाई गयी ‘जुगाड़ नाव’ पर सवार थे. दरअसल नावों की अनुपलब्धता की वजह से उन्होंने ऐसा किया. वह अपने समर्थकों के साथ धरधा नदी पार करने की कोशिश में थे.

नदी का तट छोड़ते ही कुछ गज की दूरी पर यह नाव पलट गई और सांसद समेत सभी लोग पानी में गिर गए. तट पर खड़े लोगों ने इसके बाद सांसद को पानी से बाहर निकाला. सांसद कुछ सेकेंड तक बेहोश रहे और बाद में लोगों ने अपने गमछे से उन्हें हवा दी जिसके बाद वह होश में आए.

बारिश से 73 लोगों की मौत

बिहार में मूसलाधार बारिश के कारण अबतक 73 लोगों की मौत हो गयी. भारी बारिश के कारण गंगा सहित कई प्रमुख नदियां कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर या आसपास बह रही हैं. वही गुरुवार को भी राज्य के कई जिलों में बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया है.

राज्य सरकार के एक बयान के अनुसार बारिश से प्रभावित लोगों की कुल संख्या 17.09 लाख है. वर्षा से प्रभावित जिलों में पटना, भोजपुर, भागलपुर, खगड़िया, समस्तीपुर, बेगूसराय, लखीसराय और वैशाली शामिल हैं.

उधर बिहार में, राहत कार्यों की धीमी गति ने लोगों की नाराजगी बढ़ा दी है. पटना सहित कई स्थान पिछले कुछ दिनों से जलमग्न हैं. बुधवार को पटना में बाढ़ प्रभावित इलाकों से पानी निकाला जा रहा था. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों से धैर्य बनाए रखने का आग्रह किया है.

इसे भी पढ़ेंःआदिवासी कल्याण के लिए दी गयी दस करोड़ की राशि गुमला #SBI से शातिरों ने अपने खाते में की ट्रांसफर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like