न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#BJP का आरोप: झामुमो ने टिकट के लिए मांग रहा आवेदन शुल्क ₹51000

164

Ranchi:  गरीब आदिवासी-मूलवासियों के हक की झूठी बातें करने वाले झामुमो ने टिकट की बोली लगाकर लोकतंत्र को तार-तार कर दिया. झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन ने जिन गरीबों के लिए आज से 50 वर्ष पूर्व लड़ाई लड़ी थी, आज उन्हीं गरीब आदिवासी-मूलवासियों के हक को झामुमो मारने का काम कर रहा है. दरसल झामुमो के वर्तमान नेतृत्व ने यह कभी नहीं चाहा कि समाज में अंतिम पंक्ति में खड़ा आदिवासी-मूलवासी राजनीतिक रूप से सशक्त हो.

इसलिए झामुमो इन वर्गों में भी क्रीमी लेयर को आगे लाकर टिकट देना चाहता है. झामुमो को गरीब आदिवासी-मूलवासियों के उत्थान से इन्हें कोई मतलब नहीं. तभी तो झारखंड मुक्ति मोर्चा ₹51000 का भारी भरकम शुल्क आवेदन देने के लिए वसूल रही है. टिकट मिलने के बाद पता नहीं कितने लाख रुपए लिए जाएंगे, यह अभी तक उन्होंने क्लियर नहीं किया है.

JMM

इन बातों को बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने प्रदेश कार्यालय में मीडिया के सामने रखी. प्रतुल ने कहा कि दूसरी और भारतीय जनता पार्टी में अंतिम पंक्ति पर खड़े कार्यकर्ताओं की भी बहुत इज्जत होती है और चुनाव लड़ने के सामान मौका मिलता है.

भारतीय जनता पार्टी आवेदन के लिए कोई शुल्क नहीं ले रही है. रायशुमारी के जरिए पूरे प्रदेश से कार्यकर्ताओं की आयी राय को भी बहुत महत्व दिया जा रहा है. ये सारी चीजें बीजेपी के जीवंत आंतरिक लोकतंत्र को दिखाता है.

इसे भी पढ़ें – #PoliticalGossip: संथाल में बड़का पार्टी के कार्यकर्ताओं के चखना में खली सुखल चना नहीं बल्कि मुर्गो रहेगा

Bharat Electronics 10 Dec 2019

 

बाबूलाल और हेमंत ने सत्ता पाने के लिए एक-दूसरे को लीडर मानने से इंकार किया

प्रतुल शाहदेव ने कहा कि महागठबंधन से जनता का भरोसा उठ चुका है. नक्सलवाद व भ्रष्टाचार की आग में झोंकने वाले विपक्षी ठगबंधन की स्थिति आने वाले दिनों में सबके सामने स्पष्ट हो जायेगी. उन्होंने कहा कि सत्ता पाने की इच्छा की पराकाष्ठा ऐसी है कि हेमंत सोरेन और बाबूलाल मरांडी ने सिर्फ सत्ता प्राप्ति के लिए एक दूसरे के लीडरशिप को मानने से इनकार किया.

इन दोनों के लिए चुनाव सिर्फ सत्ता प्राप्ति का जरिया है ना कि जनता की सेवा करने का. ऐसा प्रतीत हो रहा है, जैसे हेमंत के लिए चुनाव सिर्फ सत्ता पाने का जरिया मात्र बन गया है. क्योंकि चाहे वह घोटालों में लिप्त लालू यादव से हाथ मिलाना हो या फिर परिवारवाद और भ्रष्टाचार की जननी कांग्रेस के साथ खड़े होना, सत्ता प्राप्ति के लिए झामुमो कुछ भी कर गुजरने को तैयार खड़ा है.

इससे आगे प्रतुल शाहदेव ने कहा कि बीजेपी प्रदेश परिसर में मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विधायक इरफान अंसारी का यह बयान महागठबंधन के हिडन एजेंडा को साफ दिखाता है.

जिसमें उन्होंने कहा था कि महागठबंधन की सरकार आने के बाद लालू प्रसाद को जेल से निकाला जाएगा. यह ठगबंधन दरअसल भ्रष्टाचारियों और अब तक झारखंड की लूट करने वाले दलों का जोड़ है और आने वाले चुनाव में जनता इन्हें खारिज करेगी.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection2019: महागठबंधन पर सस्पेंस- हेमंत बोले 42 सीटों से कम किसी हाल में नहीं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like