न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जिले के लिए जारी जोनल प्लान पर सात कमेटियां गठित कर स्टडी करेगा चैंबर

प्लान में विसंगति और सुधार के लिए विभाग को अनुशंसा  दी जायेगी

59

Ranchi :  नगर विकास विभाग की ओर से  रांची जिले के लिए ड्राफ्ट जोनल प्लान जारी कर दिया गया है. जिसमें जिले को सात जोन में बांटा गया है. वहीं हर जोन के लिए अलग अलग एरिया इसमें दिखाया गया है. इस प्लान में किसी तरह की गलती न हो साथ ही आने वाले समय में भी यह सुविधाजनक रहें. इसके लिए फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ  कॉमर्स की ओर से सात कमेटियों का गठन किया गया है. जो इन सात जोनों में कार्य करेगी. इसके लिए शनिवार को चैंबर की ओर से बैठक का आयोजन किया गया.

जिसमें रांची जिला के विभिन्न जोनों के गहन स्टडी के साथ विभाग को प्रपोजल तैयार करने देने की बात की गयी. चैंबर के सदस्यों ने जानकारी दी कि पांच जून तक इसके लिए सलाह मांगी गयी है. जिसमें सुधार किया जाये. चैंबर इसके लिए तैयारी कर रहा है. जिसमें जहां कोई कमी पायी गयी, इससे सरकार को अवगत कराया जाएगा.

2019 में 3D यानि धोखा, धमकी और ड्रामेबाजी वाली सरकार से मिलेगी मुक्ति: जयराम रमेश
Trade Friends

चैंबर विसंगतियों को दूर करने की कोशिश करेगा

बैठक के दौरान मीडिया से बात करते हुए अध्यक्ष दीपक मारू ने जानकारी दी कि बैठक में विभिन्न पहलुओं पर चर्चा हुई. इस दौरान जानकारी हुई कि मास्टर प्लान पहले जारी कर दिया गया. जिसके बाद जोनल प्लान लाया गया. जबकि नियमतः पहले जोनल प्लान जारी किया जाना था. उन्होंने जानकारी दी कि ऐसी विसंगतियों को चैंबर दूर करने की कोशिश करेगा. साथ ही दो साल पहले भी विभाग को चैंबर की ओर से मास्टर प्लान में कुछ विसंगतियों से अवगत कराया गया था. इसमें कितना कार्य किया गया इसकी जानकारी भी इन कमेटियों के माध्यम से होगी.

इसे भी पढ़ेंः प्रचार वार में जेएमएम पिछड़ा,  लोकसभा चुनाव नतीजा ही तय करेगा हेमंत का राजनीतिक भविष्य

 जीरो एरर पर हो कार्य

उन्होंने कहा कि किसी भी शहर के विकास के लिए शहर की व्यवस्थित प्लानिंग हो यह जरूरी है. ऐसे में जिन एजेंसियों या कंपनियों को विभाग या नगर निगम काम देता है, उसमें जरूरी है जीरो एरर कार्य हो. नहीं तो कंपनियां पेमेंट ले लेती हैं और जनता से शिकायत मिलती ही रहती है. इसका सबसे अधिक प्रभाव जनता में ही देखा जाता है.

लोग जानते नहीं

उन्होंने कहा कि लोग शहर में रहते भले हैं लेकिन ड्राफ्ट प्लान समेत अन्य जानकारियां उनके पास होती नहीं है. ऐसे में जरूरी है कि लोग इन चीजों को जाने, क्योंकि भविष्य में जनता को इन सबसे अधिक परेशानी होती है. उन्होंने कहा कि समाज के बुद्धिजीवियों को भी चाहिए कि ऐसे मामलों को हाइलाइट किया जाये.

इसे भी पढ़ेंः पेयजल समस्या को लेकर हेल्पलाइन नंबर जारी, कॉल कर दर्ज करा सकते हैं शिकायत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like