न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#chandrayaan2 राष्ट्रपति ने कहा- वैज्ञानिकों पर गर्व, राहुल बोले- बेकार नहीं जायेगी मेहनत

1,028

New Delhi: ‘चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ का चांद की सतह पर उतरते समय इसरो से संपर्क टूट गया. लेकिन इस हद तक कोशिश भी किसी कामयाबी से कम नहीं है.

हालांकि, चांद की सतह पर उतरने से चंद मिनट पहले संपर्क टूट जाने से वैज्ञानिक निराश दिखे. लेकिन वैज्ञानिकों की इस तक की सफलता पर पूरा देश उन्हें बधाई दे रहा है.

JMM

वहीं राष्ट्रपति कोविंद, प्रधानमंत्री मोदी समेत कई बड़े नेता वैज्ञानिकों की हौसला अफजाई करते दिखे. राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने शनिवार को कहा कि देश को इसरो के वैज्ञानिकों पर गर्व है.

इसे भी पढ़ेंः#Chandrayaan2: सॉफ्ट लैंडिंग से 2.1 किमी पहले टूटा संपर्क, चांद पर नहीं पहुंच सका विक्रम

कोविन्द ने ट्वीट किया, ‘‘चंद्रयान-2 मिशन के साथ इसरो की समूची टीम ने असाधारण प्रतिबद्धता और साहस का प्रदर्शन किया है. देश को इसरो पर गर्व है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी सर्वश्रेष्ठ की उम्मीद करते हैं.’’

Bharat Electronics 10 Dec 2019

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इसरो के काम की सराहना करते हुए कहा कि कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती.

देश इसरो के साथ खड़ा है- कांग्रेस

इधर ‘चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट जाने के बीच कांग्रेस ने शनिवार को कहा कि देश इसरो के साथ खड़ा है और उसका प्रयास व्यर्थ नहीं जाएगा.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इसरो वैज्ञानिकों की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने मिशन पर बेहतरीन काम किया तथा कई और महत्वपूर्ण एवं महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष मिशनों की नींव रखी है.

गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘इसरो को ‘चंद्रयान-2’ मिशन पर उसके बेहतरीन कार्य के लिए बधाई. आपका भाव और समर्पण हर भारतीय के लिए एक प्रेरणा है. आपका काम व्यर्थ नहीं जाएगा. इसने कई और महत्वपूर्ण तथा महत्वाकांक्षी भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की नींव रखी है.’’

कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा कि समूचा देश इस समय इसरो की टीम के साथ खड़ा है. अंतरिक्ष एजेंसी के कठिन परिश्रम और प्रतिबद्धता ने देश को गौरवान्वित किया है.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने ट्वीट किया कि इसरो की टीम का समर्पण और कठिन परिश्रम ‘‘हम सभी के लिए एक प्रेरणा है.’’

इसे भी पढ़ेंः #Chandrayaan2 पर बोले मोदी- फिर होगी नयी सुबह, हौसला कमजोर नहीं मजबूत हुआ

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like