न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Chatra : तीन फरार अभियुक्तों ने उपायुक्त से मिलकर ज्ञापन सौंपा, पुलिस को पता ही नहीं चला  

695

Chatra : झारखंड सरकार को तीन हजार करोड़ का नुकसान पहुंचाने व पुलिस की आंख में धूल झोंककर फरार अभियुक्त शेखर, सुरेश यादव और प्रह्लाद सिंह ने उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह से मिलकर बुधवार को ज्ञापन सौंपा.

इन तीनो को टंडवा थाना में दर्ज कांड संख्या 78/19 में अभियुक्त बनाया गया है. यह प्राथमिकी मगध आम्रपाली कोल परियोजना के पदाधिकारी कमल कुमार पांडेय ने दर्ज करवायी थी.

JMM

इसे भी पढ़ें : #Pathalgadi समर्थक बदले तेवर के साथ फिर सक्रिय, खूंटी में ‘गुप्त’ सम्मेलन कर गये तीन अज्ञात लोग

कोयले की ढुलाई कई दिनों तक बंद करा दी थी

टंडवा थाना में दर्ज प्राथमिकी में कहा गया है कि शेखर, प्रह्लाद सिंह व सुरेश यादव ने मिलकर मगध आम्रपाली कोल परियोजना में आने वाली कोयले की ढुलाई कई दिनों तक बंद करा दी थी.

जिसके कारण परियोजना को प्रतिदिन के हिसाब से 21 हजार टन कोयला ढुलाई का कार्य बाधित हुआ और यह सरकारी काम मे बाधा है.

इसके कारण झारखंड सरकार को करीब 3 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. थाना में तीनों के विरुद्ध आइपीसी की 143, 149, 341, 342, 353, 109, 504 एवं 447 धाराओं के तहत अभियुक्त बनाया गया है.

प्राथमिकी दर्ज होने के बाद से तीनों फरार चल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : #CM की सभा में भीड़ जुटाने के लिए बांटे गये दो-दो सौ रुपये, वीडियो वायरल

फरार अभियुक्त समाहरणालय पहुंचे

फरार अभियुक्त शेखर, सुरेश यादव और प्रह्लाद सिंह ने उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह से मिलकर ज्ञापन सौंपा. तीनों एक घंटे तक कार्यालय में रहे. लेकिन इस बात से पुलिस बेखबर थी.

इतना ही नही स्वयं उपायुक्त भी इन्हें नही पहचान सके. उपायुक्त को सौपे गये ज्ञापन में कहा गया है कि विभिन्न मांगों के समर्थन में हाइवा ऑनर एसोसिएशन 21 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर रहेंगे.

हड़ताल अवधि में सभी जिला मुख्यालय के समीप आमरण अनशन पर बैठेंगे.

सभी आरोपी होंगे जेल में

इस मामले में पुलिस का कहना है कि कोई क्रिमनल केस नही है. इस संदर्भ में थाना से नोटिस किया गया है और न्यायालय में भी वारंट के लिये अर्जी दी हुई है. आदेश मिलते ही सभी जेल के अंदर होंगे.

इसे भी पढ़ें :जानें झारखंड के कितने विधायक हैं दागी, IPC की कौन सी धारा के तहत चल रहा है माननीयों पर केस

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like