न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वर्ल्ड बैंक से शिक्षा प्रोजेक्ट के लिए मिले लोन से चीन ने मुसलमानों  के लिए बनाया जेल!  जांच  

न्यू यॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार 2015 में चीन को  शीजियांग इलाके में एक शिक्षा संबंधी प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए  50 मिलियन डॉलर का लोन मिला था.

34

Washington : वर्ल्ड बैंक से शिक्षा प्रोजेक्ट के लिए लोन  लेकर उसका इस्तेमाल चीन ने मुस्लिमों के लिए जेल बनाने के किया.   खबर है कि अब इस मामले की वर्ल्ड बैंक जांच कर रहा है.  न्यू यॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार 2015 में चीन को शीजियांग इलाके में एक शिक्षा संबंधी प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए  50 मिलियन डॉलर का लोन मिला था.

लेकिन चीन ने इसका इस्तेमाल मुस्लिमों के लिए बंदी कैंप बनाने में किया. कहा जा रहा है कि चीन ने 10 लाख से ज्यादा उइगर मुस्लिमों को रिएजुकेशन कैंप में बंद कर रखा है,  जहां उन्हें  अपने धर्म और आस्था को छोड़कर कम्युनिस्ट पार्टी के विचारों का अनुपालन करने को कहा जा रहा है.

Trade Friends

शिनजियांग में अनुमानित 24 मिलियन लोगों में से आधे से अधिक मुस्लिम जातीय अल्पसंख्यक समूह से हैं.  जानकारी के अनुसार यह  इलाका अलास्का जितना बड़ा है.  इस इलाके में ज्यादातर उइगर हैं, जिनका सांस्कृतिक स्वतंत्रता और चीनी शासन के प्रतिरोध का इतिहास रहा है.  2014 में सरकार विरोधी हमलों के बाद चीन ने इस क्षेत्र में दरार डालना शुरू कर दिया

इसे भी पढ़ें- मोदी पर मनमोहन का वार, कहा- राजनीति छोड़ अर्थव्यवस्था को गंभीर सुस्ती से उबारने का करें प्रयास

WH MART 1

 ट्रंप सरकार ने चीन की आलोचना की है

बता दें कि मानवाधिकार के मामले पर लंबे समय से चुप रही ट्रंप सरकार ने  शिनजियांग इलाके में हो रही इस गतिविधि को लेकर चीन की आलोचना की है.  यह विवाद वर्ल्ड बैंक के नये प्रेसीडेंट डेविड मालपास के सामने  आया है. कोष विभाग के पूर्व अधिकारी रह चुके मालपास को डोनाल्ड ट्रंप ने नियुक्त किया है.

वर्ल्ड बैंक के प्रवक्ता डेविड थीस का कहना है कि हम इस मामले को गंभीरता से ले रहे हैं. दो साल पहले 2015 में  इंटर्नमेंट कैंप प्रोग्राम के तहत लोन दिया गया था.  बैंक ने प्लान की शुरुआत में कहा था कि इस पैसे से क्षेत्र के हजारों युवाओं को पांच स्थानीय कॉलेजों के समर्थन के माध्यम से बेहतर तकनीकी और व्यावसायिक शिक्षा और रोजगार के अवसरप्रदान किये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें- कश्मीरी पत्रकार गौहर गिलानी को दिल्ली हवाईअड्डे पर रोका गया, जर्मनी जाने वाले  थे  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like