न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांग्रेस ने अमरनाथ यात्रा रोके जाने की निंदा की, कहा, डर का माहौल पैदा कर रही सरकार

कांग्रेस ने  केंद्र सरकार पर 30 साल बाद कश्मीर में डर का माहौल फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि इससे 1990 के दशक की यादें ताजा हो गयी हैं.

49

NewDelhi : कांग्रेस ने कश्मीर घाटी के मौजूदा हालात पर चिंता जतायी है. इस क्रम में  कांग्रेस ने  प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अमरनाथ यात्रा को रोके जाने और पर्यटकों के वापस लौटने के लिए अडवाइजरी जारी  करने के फैसले की निंदा की है. पार्टी ने  कहा कि वह इस मुद्दे को संसद के दोनों सदनों में उठायेगी और प्रधानमंत्री मोदी से जवाब मांगेगी.  कांग्रेस ने  केंद्र सरकार पर 30 साल बाद कश्मीर में डर का माहौल फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि इससे 1990 के दशक की यादें ताजा हो गयी हैं.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार को चेताया कि वह घाटी में किसी तरह के मिसऐडवेंचर की कोशिश न करे. जान लें कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में गुलाम नबी आजाद, पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम, जम्मू-कश्मीर कांग्रेस की प्रभारी अंबिका सोनी, पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा और डॉक्टर कर्ण सिंह मौजूद  थे.

इसे भी पढ़े : महाराष्ट्र : सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा, आदित्य ठाकरे को डेप्युटी सीएम पद देने के लिए तैयार हूं

कभी भी यात्रा नहीं रोकी गयी

कांग्रेस नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने कहा कि आज तक किसी भी सरकार ने इस तरह की अडवाइजरी जारी नहीं की.  कहा कि 2000 में आतंकी हमलों में 89 तीर्थयात्री और आम नागरिक मारे गये थे फिर भी अमरनाथ यात्रा नहीं रोकी गयी.  आरोप लगाया कि अतिरिक्त जवानों की तैनाती और अडवाइजरी के जरिए भारत सरकार डर का माहौल बना रही है।

डर फैला रही है भारत सरकार : आजाद

गुलाम नबी आजाद ने कहा, कुछ घटनाएं पिछले एक-दो हफ्तों में हुईं हैं.  10-15 दिन पहले यहां से  25 हजार जवानों को तैनात किया गया, जबकि पुलवामा हमले को छोड़ दें तो इस साल आतंक से जुड़ी सबसे कम घटनाएं हुईं हैं.  इस साल सबसे ज्यादा अमरनाथ यात्री तीर्थ पर जा रहे हैं.  पर्यटक पहुंच रहे हैं. ऐसे वक्त में अतिरिक्त जवानों की तैनाती चिंता की बात है. कहा कि एनडीए 1, एनडीए 2 और यूपीए की सरकारों के समय में भी जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले हुए. 2017 में अमरनाथ यात्रियों पर भी हमला हुआ लेकिन कभी भी यात्रा नहीं रोकी गयी.

आजाद  ने  कहा, भारत सरकार अडवाइजरी देकर डर फैला रही है और कश्मीर के लोगों के खिलाफ नफरत फैला रही है कि उनके रहते टूरिस्ट को भागना पड़ा.  आजाद  ने कहा कि स्नाइपर राइफल का बहाना बनाया जा रहा है.  हम भारत सरकार के इस फैसले की निंदा करते हैं.  कांग्रेस ने केंद्र पर अमरनाथ यात्रा रोकने का आरोप लगाया.

इसे भी पढ़े :  रिजर्व बैंक के बैलेंस शीट में सरकार का दखल अच्छा नहीं: सुब्बाराव

मुझे वहां के हालात पर चिंता :  कर्ण सिंह

इस क्रम में  कर्ण सिंह ने कहा, पिछले 70 सालों से कई उतार चढ़ाव देखे. मुझे वहां के हालात पर चिंता है.  अभी तो तो छड़ी भी नहीं निकली.  पंचमी के दिन छड़ी निकलती है.  मैं ही पूजा कर छड़ी अमरनाथ जी के लिए भेजता था.  अभी तो नाग पंचमी भी नहीं आयी, पूर्णिमा तो दूर है और अभी से अमरनाथ यात्रा रोक दी गयी.  छड़ी कैसे पहुंचेगी, मुझे इसकी चिंता है. अगर पूर्णिमा के दिन अमरनाथ जी तक छड़ी नहीं पहुंची, तो यह अच्छा नहीं माना जायेगा.

हजारों अतिरिक्त जवानों की तैनाती और श्रद्धालुओं व पर्यटकों के लिए सिक्यॉरिटी अडवाइजरी को घाटी में आर्टिकल 35-A और आर्टिकल 370 को खत्म करने की तैयारी से जोड़कर देखा जा रहा है.  इस पर पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम ने सरकार को आगाह किया कि वह ऐसा कुछ न करे. चिदंबरम ने कहा, सरकार कुछ मिसऐडवेंचर करने की कोशिश कर रही है, सरकार ऐसा कुछ ना करे, मामला सुप्रीम कोर्ट में है.

इसे भी पढ़े :  राहुल गांधी ने अर्थव्यवस्था पर कहा,  दशकों की मेहनत से हमने बनाया, भाजपा सरकार नष्ट कर रही है

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like