न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Congress ने #EuropeanMPs को जम्मू-कश्मीर जाने देने को देश की संसद और लोकतंत्र का अपमान करार दिया

माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि यूरोपीय संघ के सांसदों का जम्मू-कश्मीर में स्वागत किया जा रहा है जबकि देश के नेताओं को वहां जाने से रोका गया.

48

NewDelhi :  यूरोपियन यूनियन के सांसदों के प्रतिनिधिमंडल के जम्मू-कश्मीर दौरे को लेकर कांग्रेस सहित वाम दलों ने केंद्र सरकार पर सवाल उठाये हैं. कांग्रेस ने इसे देश की संसद और लोकतंत्र का अपमान बताया है. कांग्रेस ने कहा कि अगर उन्हें जम्मू-कश्मीर जाने की इजाजत दी जा सकती है तो विपक्ष को यही मौका क्यों नहीं दिया जा रहा. कांग्रेस के अलावा खुद भाजपा  के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने केंद्र के इस रुख पर हैरानी जताई है. बता दें कि यूरोपियन सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को जम्मू-कश्मीर के दौरे पर जाने वाला है.

इसे भी पढ़ें : #PMModi से मिले 28 #EuropeanCountries के सांसद, 29 अक्टूबर को कश्मीर का दौरा करेंगे

JMM

भारतीय नेताओं को जम्मू-कश्मीर के लोगों से मिलने से रोका जा रहा है

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने ट्वीट किया, जब भारतीय नेताओं को जम्मू-कश्मीर के लोगों से मिलने से रोका जा रहा है तो सीना ठोककर राष्ट्रवाद की बात करने वाले ने क्या सोचकर यूरोपीय नेताओं को जम्मू-कश्मीर जाने की इजाजत दी. यह सीधे-सीधे भारत की अपनी संसद और हमारे लोकतंत्र का अपमान है.

इसे भी पढ़ें : #PMModi के विमान को अपने हवाई क्षेत्र से उड़ान नहीं भरने देगा पाक, भारत ने #ICAO में मुद्दा  उठाया

भारतीय सांसदों को अनुमति नहीं, मोदी यूरोपीय संघ के सांसदों का स्वागत कर रहे हैं

Related Posts

#RajyaSabha : आम चुनाव में धन बल के बढ़ते प्रयोग पर राजनीतिक दलों ने चिंता जताई  

सत्ता पक्ष के अधिकतर सदस्यों ने आम चुनाव में धन खर्च की वर्तमान सीमा को पर्याप्त बताते हुए कहा कि इसे बढ़ाये जाने से चुनाव प्रक्रिया में भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलेगा.

माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि यूरोपीय संघ के सांसदों का जम्मू-कश्मीर में स्वागत किया जा रहा है जबकि देश के नेताओं को वहां जाने से रोका गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को यूरोपीय संघ के सांसदों के एक प्रतिनिधि मंडल से कहा कि आतंकवाद का समर्थन करने और उसे धन मुहैया करने वालों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जरूरत थी. यह प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को राज्य का दौरा करेगा.

येचुरी ने ट्वीट किया,  तो फिर भारतीय राजनीतिक पार्टियों के नेताओं को बार-बार श्रीनगर हवाईअड्डे से बाहर निकलने से क्यों रोका जा रहा था? मुझे सिर्फ उच्चतम न्यायालय से मंजूरी मिलने के बाद ही वहां जाने दिया गया. यहां तक कि आज भी भारतीय सांसदों को अनुमति नहीं है लेकिन मोदी यूरोपीय संघ के सांसदों का स्वागत कर रहे हैं. अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म किए जाने के बाद येचुरी और भाकपा के महासचिव डी राजा ने कई बार जम्मू-कश्मीर जाने की कोशिश की लेकिन उन्हें रोका गया.

इसे भी पढ़ें : अमेरिकी सेना ने #ISIS सरगना #AbuBakrAlBaghdadi को ढेर कर दिया, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दी जानकारी

कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिश

येचुरी को उनके बीमार सहकर्मी यूसुफ तारिगामी से मिलने जाने की इजाजत उच्चतम न्यायालय ने दी, जिसके बाद ही वह कश्मीर जा सके थे. इस यात्रा के दौरान येचुरी को किसी भी राजनीतिक क्रियाकलाप में हिस्सा नहीं लेने का आदेश था. भाकपा नेता राजा ने कहा कि यूरोपीय संघ के प्रतिनिधिमंडल को कश्मीर जाने देना यह दिखाता है कि यह सरकार अंतरराष्ट्रीय समुदाय को खुश करने के लिए दबाव में है क्योंकि जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर अंतरारष्ट्रीय स्तर पर कई सवाल उठाये गये हैं.

यह सरकार वैश्विक समुदाय को यह बताने के लिए बेचैन है कि कश्मीर में सबकुछ ठीक है जबकि वास्तविकता अलग है.
माकपा नेता अतुल अंजान ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी यूरोपीय संघ के नेताओं का स्वागत करके कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिश कर रहे हैं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like