न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

18 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर जायेंगे संविदा सहायक प्रोफेसर

1,504

Ranchi: झारखंड सहायक प्राध्यापक संविदा संघ की राष्ट्रीय बैठक रांची विश्वविद्यालय में आयोजित की गयी. नेतृत्वकर्ता संजय कुमार झा ने कहा कि राज्य के 7 विश्वविद्यालयों के स्नातकोत्तर विभाग और अंगीभूत महाविद्यालयों में कार्यरत घंटी आधारित सहायक प्रोफेसरों के मासिक मानदेय तय किया जाये.

सरकार यूजीसी 2018 के नियम अनुसार निश्चित मासिक मानदेय तय करे. उन्होंने सरकार से अनुरोध किया है कि यथाशीघ्र संविदा प्रोफेसरों की मांगों को मान लिया जाये अन्यथा वे अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करेंगे.

उन्होंने 18 अक्टूबर से भूख हड़ताल में जायेंगे. प्रदेश अध्यक्ष निरंजन कुमार महतो ने कहा कि राज्यपाल ने सितंबर महीने में ही निश्चित मासिक मानदेय तय करने को कहा था. इसके बावजूद सरकार ने अभी तक लागू नहीं किया है.

Trade Friends

इसे भी पढ़ेंः #SingerGurdasMann के खिलाफ कोलकाता में प्राथमिकी दर्ज

10 विभिन्न समितियों का किया गया गठन

प्रदेश सचिव प्रभाकर कुमार ने कहा कि भूख हड़ताल पर जाने के लिए 10 विभिन्न समितियों का भी गठन किया गया है. प्रदेश संगठन सचिव जनार्दन राम ने राज्य के सभी विश्वविद्यालयों के संविदा प्रोफेसरों को 18 अक्टूबर को रांची में भूख हड़ताल में शामिल होने का आह्वान किया है.

एसकेएमयू इकाई के अध्यक्ष यदुवंश ने कहा कि लंबे अरसे से हमारी मांग रही है कि सरकार निश्चित मासिक मानदेय तय करे. परंतु सरकार हमारी मांगों की अनदेखी कर रही है.

सरकार मांगों को कर रही है नजरअंदाज

रांची यूनिवर्सिटी के संविदा प्रोफेसरों के सचिव रामप्रवेश ने कहा कि सरकार हमारी मांगों को लगातार नजरअंदाज कर रही है. जिसके कारण हमें अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर जाना पड़ रहा है. कोई महिला प्रोफेसर संगीता कुजूर ने कहा कि हमारी मांग बिल्कुल जायज है. राज्य के सभी सहायक प्राध्यापक महिलाएं भी भूख हड़ताल पर जाएंगी.

इसे भी पढ़ेंः #Science_and_technology भारतीय वैज्ञानिकों ने ‘प्लास्टिक खाने वाले’ जीवाणु की खोज की

कार्यक्रम में ये लोग थे मौजूद

सुमंत कुमार झा, श्वेता शर्मा, अब्दुल रहमान, विश्वनाथ यादव, राजेंद्र प्रसाद, प्रियंका कुमारी, ज्योति चौधरी,आभा कुमारी, शंकर मुंडा, ब्रह्मानंद साहू, कुमार सौरभ संतोष चौधरी, संतोष कुमार, हर्षवर्धन, अमित पातर, सहित सैकड़ों उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंः #IndoBangladeshBorder से 26 घुसपैठिए गिरफ्तार, 1951 बोतल फेंसिडिल जब्त

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like