न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट सहित सफाई के काम के लिए निगम रेस, तीन सेगमेंट में होगा कचरे का निपटारा

235

Ranchi :  रांची नगर निगम राजधानी में सफाई का काम करने के लिए विभिन्न सेगमेंट पर तैयारी कर रहा है. निगम ने इसके लिए सॉलिडी वेस्ट मैनेजमेंट सहित सफाई के काम को प्रमुखता से रखते हुए एक प्रस्ताव तैयार किया है.

इसमें डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन करने के साथ झिरी डपिंग यार्ड में कचरे को वैज्ञानिक तरीके डंप करना शामिल है. इसके लिए निगम अलग-अलग एजेंसी के चयन की तैयारी में है.

Jmm 2

इसे भी पढ़ें – “कर लो दुनिया मुट्ठी में” के बाद अंबानी घराने का “जियो दन दना दन…” के Condition Apply में देश फंसा तो नहीं!

नगर आयुक्त मनोज कुमार ने इस प्रस्ताव पर सहमति दे दी है. प्रस्ताव की सबसे प्रमुख विशेषता यह है कि उक्त कामों को पूर्व की तरह किसी एक एजेंसी (एस्सेल इंफ्रा की तरह इंटीग्रेटेड प्रोजेक्ट के तहत) से न करा कर अलग-अलग सेगमेंट में करना है.

इसमें प्राइमरी कलेक्शन (डोर टू डोर कचरे का उठाव), सेकेंडरी कलेक्शन (ट्रांसपोर्टेशन) और उठाये कचरों का झिरी डपिंग यार्ड में वैज्ञानिक तरीके से डंप करना है. अलग-अलग सेगमेंट के लिए टेंडर प्रकिया शुरू हो गयी है.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

प्रस्ताव में बताया गया है कि पूर्व में राजधानी की सफाई व्यवस्था का काम एस्सेल इंफ्रा एजेंसी को दिया गया था. यह काम इंटीग्रेटेड था. एजेंसी के काम का भारी विरोध देखते हुए इसे टर्मिनेट करने के साथ ही निगम की एक टीम ने सफाई काम के लिए विभिन्न राज्यों का दौरा किया था.

इसे भी पढ़ें – हाइकोर्ट ने 56 दागी जनप्रतिनिधियों का मांगा क्रिमिनल रेकॉर्ड

इसके बाद यह निर्णय हुआ कि राजधानी में सफाई का काम किसी एजेंसी को न देकर अलग-अलग सेगमेंट में कराया जाये. बताया गया कि सेगमेंट वाइज काम में नयी तकनीकी को प्राथमिकता दी गयी है, जिससे सफाई के काम की गुणवत्ता और मॉनिटरिंग ज्यादा प्रभावी हो सके.

तीन स्टेज में होना है सेगमेंट वाइज काम

  • प्राइमरी कलेक्शन सेंगमेंट में डोर टू डोर कचरे का उठाव, उठाववाली जगह पर सूखा और गीला कचरा को अलग करने के साथ ड्राइ वेस्ट को प्रोसेस करने के लिए मेटेरियल रिकवरी सेंटर की स्थापना की जायेगा. इस सेंगमेंट के लिए टेंडर निकाला गया है. एजेंसी के चयन की प्रकिया अंतिम चरण में है.
  • सेकेंडरी सेगमेंट में निगम क्षेत्र के कई जगहों पर कचरे के संग्रह हेतु सेमी अंडरग्राउंड स्मार्ट बिन्स बनाया जायेगा. बता दें कि स्मार्ट बिन्स के फुल होने की स्थिति में कचरे की मॉनिटरिंग सही तरीके से हो पाता है. इस सेगमेंट में कचरे के कलेक्शन पाइंट से प्रोसेसिंग साइट तक ट्रांसपोर्टेशन शामिल है. इस सेंगमेंट के लिए भी टेंडर निकाला गया है. एजेंसी का चयन जल्द ही किया जायेगा.
  • तीसरे सेगमेंट में शहर से उठाये गये कचरे को झिरी डपिंग यार्ड में वैज्ञानिक तरीके से डंप करना है. इस काम में एजेंसी के चयन हेतु गत 9 अक्टूबर को टेंडर खोला गया है. आगामी 15 अक्टूबर तक इसके साथ अन्य सेगमेंट को पूरा कर इसे विभागीय अनुमोदन के लिए भेजा जायेगा.

इसे भी पढ़ें –   नगर निगम के निर्देशों की अवहेलना कर तालाबों में मूर्तियों का विसर्जन, छठ के लिए फिर से करनी होगी सफाई

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like