न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राजधानी के तीनों डैमों का जल स्तर घटा, बारिश नहीं होने से हो सकती है स्थिति गंभीर

लगातार गिर रहा है जलाशयों का जल स्तर, यही हाल रहा, तो हटिया डैम से अक्तूबर के अंत में शुरू हो जायेगी पानी की राशनिंग

56

Ranchi : राजधानी की 13 लाख की आबादी को आनेवाले दिनों में जल संकट का सामना करना पड़ सकता है. राजधानी के हटिया, गोंदा और रूक्का डैम का जल स्तर लगातार गिरने से यह स्थिति उत्पन्न हुई है. तीनों डैमों का पानी का स्तर पिछले एक महीने में छह इंच से तीन फीट तक कम हुआ है. सबसे ज्यादा हटिया डैम का जल स्तर गिरा है. रूक्का डैम में अब पीने योग्य पानी सात फीट से कुछ अधिक बचा है. गोंदा में पीने योग्य पानी छह फीट ही बचा है, जबकि हटिया डैम में पीने योग्य पानी आठ फीट से कुछ अधिक बचा हुआ है.

पेयजल और स्वच्छता विभाग के अधिकारियों का कहना है कि किसी तरह जुलाई तक ठीक-ठाक जलापूर्ति हो सकती है. बारिश के नहीं होने पर स्थिति गंभीर हो सकती है. हटिया डैम से अक्तूबर माह के अंत तक पानी की राशनिंग करने की नौबत आ जायेगी.  2018 में 25 से 27 जून तक राजधानी रांची समेत राज्य के अन्य हिस्से में मानसून की बारिश होने से स्थिति बेहतर थी.

इसे भी पढ़ें : रांची : रिम्स में लावारिस पड़े 40 शवों को दी गई मुखाग्नि

Trade Friends

तीनों डैमों से 45 एमएलडी पानी की होती है आपूर्ति

रांची नगर निगम के 50 वार्डो में तीनों डैम से 45 एमएलडी (मिलियन लीटर प्रति दिन) पीने के पानी की आपूर्ति होती है. शहरी इलाकों में रहनेवाले 13 लाख की आबादी को इन डैमों से पीने का पानी पहुंचाया जाता है. शहर में पीने के पानी की आपूर्ति के लिए 700 किलोमीटर से अधिक दूरी तक की पाईपलाइन बिछायी गयी है. शहरी क्षेत्र में अधिकतर मुहल्लों में पानी की आपूर्ति संभव करने के लिए 13 से अधिक ओवरहेड टैंक बनाये गये हैं.

बगैर राशनिंग  रुक्का और हटिया डैम से सप्ताह में दो-तीन दिन होती है अनियमित जलापूर्ति

फिलहाल रांची में जलापूर्ति को लेकर किसी तरह की राशनिंग नहीं है. पर पुरानी पाइपलाइन के फटने और डैमों पर बने फिल्टरेशन प्लांट के खराब होने अथवा बिजली की आपूर्ति चरमराने से आधे शहर को पीने का पानी नहीं मिलता है. सप्ताह में तीन दिनों तक हटिया और रूक्का से जलापूर्ति प्रभावित रहती है. रविवार को भी हटिया डैम से जुड़े 15 वार्डों में जलापूर्ति नहीं की गयी. बताया गया कि लटमा हिल में जलापूर्ति का मुख्य पाइपलाइन डैमेज हो गयी. जिसे रविवार को देर शाम तक रीपेयर ही किया जाता रहा.

तीनों डैमों की स्थिति

जलाशयों का नाम          वर्तमान जल स्तर            जलापूर्ति की स्थिति

हटिया डैम                      15 फीट                  बारिश नहीं होने से नवंबर से राशनिंग

रुक्का डैम                       7 फीट सात इंच        एक महीने का स्टॉक

गोंदा डैम                       16.3 फीट                 डेढ़ महीने का स्टॉक

इसे भी पढ़ें : साइबर क्राइम के मामले में मुंबई पुलिस का बरोरा में छापा, एक को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like