न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबादः 15 जून को गायब हुआ 10 पेटी एक्सप्लोसिव बरामद, नक्सलियों को बेचने की थी तैयारी

हर पेटी में भरे है 25 किलो विस्फोटक

619

Dhanbad: फैक्ट्री से विभिन्न एजेंसियों तक एक्सप्लोसिव की आपूर्ति के दौरान होने वाली तस्करी का धनबाद पुलिस ने पहले ही खुलासा किया है. अब गायब दस पेटी विस्फोटकों को बरामद कर पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की है.

जिले की हरिहरपुर थाना की पुलिस ने तोपचांची प्रखंड के अमलखोरी गांव की झाड़ियों में छुपा कर रखे गए दस पेटी विस्फोटकों को बरामद किया है.

Jmm 2

पुलिस ने मंगलवार रात इन विस्फोटकों को जब्त किया. बताया जा रहा है कि ये एक्सप्लोसिव नक्सलियों को बेचने के लिए छुपा कर रखे गये थे.
बाघमारा डीएसपी मनोज कुमार ने न्यूज़ विंग के साथ बातचीत में बताया कि तीन-चार दिनों पहले गायब हुए दस पेटी विस्फोटक बरामद कर लिये गये हैं.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड : इंजीनियरिंग, पॉलिटेक्निक संस्थानों के 2500 छात्रों का हुआ कैंपस सेलेक्शन, मगर परीक्षा पर रोक से अंधेरे में भविष्य

यह पुलिस के लिए बड़ी सफलता है. वाहन चालक समेत अन्य की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है, ताकि इस तस्करी में शामिल अन्य लोगों तक पहुंचा जा सके.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

क्या है पूरा मामला

दरअसल, 14-15 जून की रात हरिहरपुर थाना के नेशनल हाइवे से सटे अमलखोरी गांव से विस्फोटक लदा वैन जीटी रोड से शेखपुरा जा रहा था. शक होने पर ग्रामीणों ने वाहन को रुकवाया और पुलिस को जानकारी दी. वैन से बरामद कागजात के मुताबिक, वाहन पर विस्फोटक की 163 पेटियां थी.

लेकिन गिनती में 10 पेटियां कम मिली थीं. पुलिस को मिले कागजात के अनुसार, 14 जून को ईस्ट इंडिया एक्सप्लोसिव कंपनी (आसनसोल) से नियोजल एक्सप्लोसिव की 163 पेटी लेकर चालक शेखपुरा के लिए चला था.

हर पेटी में 25 किलोग्राम विस्फोटक था. वाहन को व‌र्द्धमान, जामताड़ा, गिरिडीह, जमुई होते हुए शेखपुरा जाना था. लेकिन वह धनबाद के हरिहरपुर थाना अंतर्गत अमलखोरी गांव पहुंच गया. और चहरदीवारी से वाहन को निकलता देख ग्रामीणों को शक हुआ, जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गयी थी.

इसे भी पढ़ेंःEngineering Affiliation Canceled : AICTE की अधिसूचना की वजह से हो रही है कार्रवाई, 6 कॉलेज HC की शरण में 

फैक्ट्री से एजेंसियों तक पहुंचाने के बीच खेल

विस्फोटकों की तस्करी का खेल फैक्ट्री से सामान निकलने और गंतव्य स्थान तक पहुंचने के बीच होता है. रास्ते में गाड़ी मालिक, ड्राइवर-खलासी नक्सलियों और राष्ट्रविरोधी ताकतों के हाथों विस्फोटक बेचते हैं. इसका खुलासा 15 जून को धनबाद जिले के अमलखोरी में ग्रामीणों ने एक विस्फोटक लदे वैन को पकड़ कर किया.

इस मामले में पुलिस जैन एक्सप्लोसिव,शेखपुरा के मालिक मो. इकबाल हसन, अधिकृत प्रतिनिधि मो. वाहिद आलम, मो. सरफराज खान, वैन मालिक व चालक मो. शमशेर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज जांच कर रही है.

नक्सलियों को बेचने की थी तैयारी

बताया जा रहा है कि बीच रास्ते में गायब किये गये एक्सप्लोसिव को नक्सलियों को बेचने की तैयारी थी. ज्ञात हो कि तोपचांची का अमलखोरी, धनबाद और गिरिडीह जिले की सीमा पर पड़ता है. यह इलाका नक्सल प्रभावित है. बरामद विस्फोटक नक्सलियों के हाथों बेचने की तैयारी थी.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड : प्राइवेट यूनिवर्सिटी वेबसाइट न तो सीट की जानकारी देती हैं और न ही कोर्स फीस बताती हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like