न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबाद : कोल शॉटेज मामले में CBI और विजिलेंस ने दूसरे दिन भी की जांच, करायी मापी, जब्त किये सैंपल

647

Dhanbad : झरिया के भगतडीह कोल शॉर्टेज मामले में ऐना कोलडंप स्टॉक में सीबीआइ विजिलेंस व सीएमपीडीआइएल टीम ने शनिवार को भी मापी की. इससे बीसीसीएल अधिकारियों के बीच हड़कंप मचा रहा.

शुक्रवार को मापी के दौरान कोल स्टॉक डंप में सात स्थलों पर मशीन से खुदाई करवायी गयी. खुदाई से निकलने वाले कोयले से 28 बोरा सैंपल लेकर जांच के लिए लैब भेजा गया है. टीम कोयले की गुणवत्ता के साथ ओबी व मिट्टी की भी जांच कर रही है.

शुक्रवार को खुदाई के दौरान टीम को मिट्टी व पत्थर मिले थे, जिसे देख टीम अचंभित थी. इसलिए शनिवार को टीम ने आरके ट्रांसपोर्ट आउटसोर्सिंग फेस में जाकर निरीक्षण किया. टीम यह देख रही थी कि उत्पादित व स्टॉक में जमा कोयला एक ही गुणवत्ता का है या नहीं. शनिवार को कोयला उत्पादन की सैंपलिंग भी भेजी गयी है.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें : बेटा नहीं हुआ तो कर ली दूसरी शादी, पहली पत्नी ने की थाने में शिकायत

आउटसोर्सिंग के कार्यालय में जड़ा रहा ताला

इधर क्षेत्र मे चर्चा है कि खुदाई से निकले कोयले में अच्छे किस्म का कोयला रात में दूसरी कोलियरी में गिराया गया ताकि कोयले की गुणवत्ता बना रहे. साथ ही मिट्टी व पत्थर की मात्रा पता न चल सके. यह खेल सीबीआइ टीम के जाने के बाद बीसीसीएल के बड़े अधिकारियों की मिलीभगत से किया गया.

टीम शनिवार की सुबह 10:00 बजे ही जांच करने पहुंच गयी थी. सीबीआइ व विजिलेंस टीम की धमक के बाद आउटसोर्सिंग प्रबंधक व कर्मियों में हड़कंप था. शनिवार को आउटसोर्सिंग के कार्यालय में ताला जड़ा मिला. अधिकारी व कर्मी गायब मिले.

इसे भी पढ़ें : पलामू: भाजपा के बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन में अव्यवस्था, खाने-पानी के लिए कार्यकर्ताओं में मारामारी, करनी पड़ी पुलिस की तैनाती

लगातार मिल रही थी शिकायत

ऐना कोलडंप मे गड़बड़झाला की शिकायत सीबीआइ व कोल मंत्रालय को मिल रही थी. वार्ड 37 के पार्षद शैलेंद्र सिंह के अलावा जन क्रांति मोर्चा के महासचिव अमरनाथ सिंह ने मार्च 2019 में कोल मंत्रालय को पत्र लिखकर गड़बड़झाले से अवगत कराया था.

उन्होंने पत्र में लिखा था कि मार्च 2019 में कुसुंडा प्रबंधन ऐना डंप में 2 लाख 70 हजार टन कोयला स्टॉक दिखा रहा है जबकि यहां 1 लाख 40 हजार टन कोयला स्टॉक है. बाकी कोयले की हेराफेरी कर गोरखधंधा किया जाता है. इसके बाद पत्थर व मिट्टी मिलाकर पूरा स्टॉक दिखाने की कोशिश की जा रही है.

इसे भी पढ़ें : देहव्यापार के खिलाफ महिलाओं ने खोला मोर्चा, पुलिस पदाधिकारियों से मिल कर की शिकायत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like