न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Dhanbad : निरसा से पांच #CyberCriminals गिरफ्तार,  लैपटॉप, डेस्कटॉप, मोबाइल सहित अन्य सामान बरामद  

पूछताछ में अपराधियों ने स्वीकार किया कि वे लोगों को बैंक का अधिकारी बन फोन करते थे. उनका एटीएम कार्ड नंबर, सीसीवी नंबर, ओटीपी नंबर इत्यादि प्राप्त कर राशि की ठगी करते थे.

116

Dhanbad : पुलिस ने शुक्रवार को निरसा थाना क्षेत्र के पिठाकियारी रानी तालाब के पास से पांच साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है. अपराधियों के पास से लैपटॉप, डेस्कटॉप, सिम कार्ड, मोबाइल फोन, बैंक पासबुक सहित अन्य सामान भी बरामद किये गये हैं.

इस संबंध में वरीय पुलिस अधीक्षक किशोर कौशल ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि कुछ अपराधी निरसा में रहकर फर्जी कॉल कर सीधे साधे लोगों से उनका एटीएम कार्ड नंबर, ओटीपी, सीसीवी नंबर इत्यादि की जानकारी प्राप्त करते थे. उसके बाद ई वॉलेट एवं फर्जी बैंक खातों के माध्यम से रुपये उड़ा रहे थे.

JMM

इसे भी पढ़ें : #Election के दौरान अवैध नकदी और शराब की निगरानी flying और Static monitoring team करेगी

बैंक अधिकारी बन लोगों को करते थे फोन और उड़ा लेते थे रुपये

सूचना मिलने के बाद एसएसपी ने छापामार दल का गठन किया और पिठाकियारी रानी तालाब के पास छापामारी कर अनोज दास (27), पिता लखीराम दास, पांडरपाला बी पॉलिटेक्निक, थाना बैंक मोड़, प्रह्लाद रविदास (28), पिता बासु रविदास, अंकित रविदास (20), पिता उमेश रविदास, तूफान रविदास (22) पिता स्वर्गीय मंगल रविदास एवं राहुल रविदास (20) पिता गोराचंद रविदास को गिरफ्तार किया.

पूछताछ में अपराधियों ने स्वीकार किया कि वे लोगों को बैंक का अधिकारी बन फोन करते थे. उनका एटीएम कार्ड नंबर, सीसीवी नंबर, ओटीपी नंबर इत्यादि प्राप्त कर राशि की ठगी करते थे. एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार साइबर अपराधी तूफान रविदास पर निरसा थाना में कांड संख्या 133 / 16 एवं 199 / 18 भी अंकित है.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

इसे भी पढ़ें : विपक्ष का गठबंधन तय : JMM 43, कांग्रेस 31 और RJD 7 सीटों पर उतारेगी प्रत्याशी, हेमंत होंगे चेहरा

फर्जी नाम पर आवंटित थे सिम कार्ड

एसएसपी ने बताया कि अपराधियों के पास से एक लैपटॉप, 2 डेस्कटॉप, एक पेन ड्राइव, कार्ड रीडर, डोंगल, 14 सिम कार्ड, 5 मेमोरी कार्ड, 6 चीप एडेप्टर, 7 मोबाइल फोन, इलाहाबाद बैंक की एक, पंजाब नेशनल बैंक 2, बैंक ऑफ इंडिया 3 और बंधन बैंक के 10 पासबुक, पंजाब नेशनल बैंक की एक चेक बुक, 4 एटीएम कार्ड, दो मोटरसाइकिल व एक स्कूटी बरामद किये गये.

उन्होंने बताया कि सभी सिम कार्ड फर्जी हैं. पुलिस इसकी जांच करेगी कि रिटेलर फर्जी नाम पर सिम कैसे आवंटित करते हैं. छापामार दल में पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) अमित रेणु, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी निरसा विजय कुमार कुशवाहा, पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी निरसा उमेश प्रसाद सिंह, तकनीकी शाखा के राधा कुमार, ए सओजी टीम एवं थाना का सशस्त्र बल शामिल थे.

इसे भी पढ़ें : झारखंड में आचार संहिता की नहीं है अधिकारियों को परवाह, धड़ल्ले से निकल रहे हैं टेंडर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like