न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Ranchi विज्ञान केंद्र और तारामंडल के रैयतों से किया गया वादा डबल इंजन की सरकार ने नहीं किया पूरा

598

Ranchi :  रांची विज्ञान केंद्र और तारामंडल के लिए अधिगृहित जमीन जो मौजा-चिरौंदी, रांची के लिए वर्ष 2001-2002 में राज्य सरकार द्वारा ली गयी थी.

इस जमीन के अधिग्रहण किये जाने से विस्थापित परिवारों की एक महत्वपूर्ण बैठक रांची विज्ञान केंद्र और तारामंडल के गेट के समीप हुई.

इस बैठक में मुख्य रूप से विस्थापित परिवारों के लोगों को रांची विज्ञान केंद्र और तारामंडल के विभिन्न पदों में नियुक्ति/कार्य आवंटन करने के बजाय बाहर के लोगों को नियुक्त किये जाने पर विशेष रूप से चर्चा की गयी.

वहीं आज भी इस जमीन का मुआवजा पाहन मुंडा परिवारों को नही दिलाये जाने पर आक्रोश जताया गया.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें : #EconomicSlowDown : टाटा मोटर्स में जारी रहेगा ब्लॉक क्लोजर, टाटा स्टील से 16 कर्मियों की होगी छुट्टी

अधिकारियों की धोखाधड़ी के खिलाफ रैयत करेंगे अंदोलन

बैठक के दौरान चर्चा की गयी कि चिरौंदी मौजा के विस्थापित और ग्रामवासियों के निरतंर विरोध, प्रदर्शन, संघर्षो के बदौलत तत्कालीन मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के निर्देशानुसार दिनांक 16-04-2010 को राज्य के  विकास आयुक्त, झारखंड की अध्यक्षता में वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक नेपाल हाउस (सचिवालय) डोरंडा, रांची में हुई थी.

जिसमें निर्णय हुआ था कि बाकी मुआवजा का भुगतान कराने के लिए राज्य सरकार/प्रशासन की ओर से पहल की जायेगी.

तारामंडल और रांची विज्ञान केंद्र के अंदर वर्ग तीन और चार के विभिन्न पदों पर इस जमीन से विस्थापित परिवारों के लोगों की नियुक्ति/कार्य आवंटन किया जायेगा.

यहा की दुकानें, स्टाल, कैंटीन, स्टैंड आदि प्रभावित लोगों को आवंटित  किया जायेगा. मगर इस निर्णय का पालन नही किया जा रहा है.

वहीं उच्च तकनीकी शिक्षा व तकनीकी शिक्षा व कौशल विभाग, झारखंड सरकार के द्वारा भी उपरोक्त बैठक में लिए गये निर्णय का घोर उल्लघंन किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : #Pathalgadi समर्थक बदले तेवर के साथ फिर सक्रिय, खूंटी में ‘गुप्त’ सम्मेलन कर गये तीन अज्ञात लोग

पहले ज्ञापन, फिर आंदोलन का निर्णय

विस्थापित रैयतो की हुई बैठक को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के राज्य उपाध्यक्ष लक्ष्मी नारायण मुंडा ने कहा कि राज्य की रघुवर दास की सरकार और उच्च तकनीकी शिक्षा विभाग व कौशल विभाग के अधिकारीगण इस पर गंभीरता से निर्णय लें अन्यथा सरकार और विभागीय अधिकारियों की धोखाधड़ी के खिलाफ लगातार आंदोलन चलाया जायेगा.

SGJ Jewellers

वहीं विस्थापित परिवार के संयोजक बहादुर मुंडा ने कहा कि सरकार के अधिकारीगण मनमानी कर रहे हैं. इसके खिलाफ हम विस्थापित परिवार के लोग काफी आक्रोशित हैं. अगर तत्काल इस पर निर्णय नहीं लिया गया तो हम लोग विरोध करने पर उतारू हो जायेंगे.

इस बैठक में निर्णय लिया गया कि अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन राज़्य के मुख्यमंत्री, विभागीय मंत्री और अधिकारियों को दिया जायेगा. इसके  बाद आंदोलन किया जायेगा.

बैठक में मुख्य रूप से लक्ष्मी नारायण मुंडा, बहादुर मुंडा, भदवा मुंडा, साधना मुंडा, सोमरा उरांव, छोटेलाल टोप्पो, विजय लिंडा, दिलीप  मुंडा, राजेश मुंडा, अनिल मुंडा, संतुलन मुंडा, रीमा मुंडा, सहित कई दर्जन लोग शामिल थे. इसकी अध्यक्षता बहादुर पाहन ने की.

kanak_mandir

इसे भी पढ़ें : #CM की सभा में भीड़ जुटाने के लिए बांटे गये दो-दो सौ रुपये, वीडियो वायरल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like