न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दुमका : मौखिक आदेश से बंद किया पोषाहार, नहीं मिला मानदेय, न्याय की उम्मीद में भटक रही सेविका

न्याय नही मिलते देख उसने मुख्यमंत्री जन संवाद केंद्र में गुहार लगायी है जिसका Reg No:  OL/DUM/ 19-579 है.

619

Dumka : कल्याण मंत्री लुईस मरांडी के गृह जिला में अधिकारियों के मौखिक आदेश से आंगनबाड़ी में पोषाहार बंद कर दिया गया है और सेविका को नन-मैट्रिक कह मानदेय नही दिया जा रहा है. सेविका शांति बेसरा न्याय के लिए 2014 से भटक रही है. उपायुक्त दुमका, बीडीओ गोपीकांदर से भी न्याय की गुहार लगा चुकी है. न्याय नही मिलते देख उसने मुख्यमंत्री जन संवाद केंद्र में गुहार लगायी है जिसका Reg No:  OL/DUM/ 19-579 है.

क्या है मामला

गोपीकांदर प्रखंड के ओड़मो पंचायत के कलाईपूरा गांव की सेविका शांति बेसरा का चयन आम सभा कर उपायुक्त कार्यालय दुमका के ज्ञापांक 153/जि.स.क.दुमका, दिनांक 28-02-2011 द्वारा किया गया था. दो वर्ष नौ माह लगातार सेवा करने के बाद भी सेविका शांति बेसरा को किसी भी तरह का मानदेय नही दिया गया.

Trade Friends

ऊपर से उसे ननमैट्रिक कहकर तत्कालीन प्रखंड स्तर के बाल विकास परियोजन विभाग के पदाधिकारी ने मौखिक रूप से कहकर उसे सेविका पद से हटा दिया.

इसको लेकर सेविका प्रखंड विकास पदाधिकारी से भी मिली, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ. जब प्रखंड स्तर पर समस्या का हल नही हुआ तो सेविका शांति बेसरा वर्ष 2014 में दुमका जिले के उपायुक्त को लिखित आवेदन देकर मिली जिसका आगंतुक पर्ची क्रमांक 002025 दिनांक 18/02/2014 था.

इसे भी पढ़ें : लातेहार : ‘SDO ने बेटी की शादी में कैटरिंग का काम करा लिया, पैसे मांगने पर कहते हैं- केस में फंसा दूंगा’

डीडीसी के निर्देश पर भी नहीं हुआ अमल

सेविका का कहना है कि इस आवेदन के आलोक में तत्कालीन डीडीसी ने बाल विकास परियोजना विभाग को निर्देश दिया कि शांति बेसरा को पुन: सेविका में बहाल किया जाय क्योंकि ननमैट्रिक भी इस पद के योग्य हैं.

डीडीसी के आदेश के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई. उसके बाद सेविका शांति बेसरा ने 20-12-2018 को ओड़मो पंचायत के कुंडापहाड़ी गांव में उपायुक्त को विकास मेला में पुन: लिखित आवेदन दिया. लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई. वर्तमान में विभाग ने इसको पोषाहार देना बंद कर दिया है और इससे काम भी नहीं लिया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : …और इलाज के अभाव में तड़प-तड़प कर आसनसोल स्टेशन पर ही दमतोड़ दिया वृद्ध यात्री ने

ग्रामीणों की मांग, सेविका को जल्द बहाल किया जाय

मुखिया पुष्पा सोरेन, कलाईपुरा गांव के ग्राम प्रधान ने कहा कि सेविका शांति बेसरा को हटाने का कोई लिख

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like