न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दुर्गापुर पुलिस ने किडनी दलाल को किया गिरफ्तार, कोर्ट में पेश, पुलिस रिमांड पर 

259

Durgapur: किडनी दलाल के संदेह में बीते शनिवार को श्यामपुर के नौ नंबर स्ट्रीट से दंपती को हिरासत में लेने के बाद कोक ओवन थाना पुलिस के अधिकारियों ने दोनों से कड़ाई से पूछताछ की. इसके बाद पत्नी को साक्ष्य के अभाव में मुक्त कर दिया गया, जबकि पति तथागत सिंघोराय उर्फ रॉनी को सोमवार को दुर्गापुर महकमा अदालत में एसीजेएम के समक्ष पेश किया गया.

इसे भी पढ़ें – चर्च कॉम्प्लेक्स, कुमार गर्ल्स हॉस्टल व हरमू रोड स्थित अवैध बिल्डिंग पर निगम मेहरबान! सील करने के निर्देश के बाद भी रिजल्ट जीरो 

कोर्ट में पेशी के दौरान आरोपी तथागत ने कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया. हालांकि इस मामले में शिकायतकर्ता असीमा मंडल के पति रघुनाथ मंडल ने महिला की रिहाई पर पुलिस को संदेह में खड़ा किया है. उनका कहना था कि पहले दोनों ने बताया कि वे दंपती हैं. मगर जांच में पाया गया कि वे दंपती नहीं हैं. महिला भी किडनी दलाल गिरोह से जुड़ी है. पैसा लेने के लिए दोनों ही साथ आते थे. तथागत उसका परिचय अपनी पत्नी के रूप में देता था. उन्होंने अपना परिचय अधिवक्ता के रूप में दिया था. विडंम्बना है कि पुलिस अधिकारियों ने सभी तथ्यों से अवगत होते हुए भी महिला को छोड़ दिया.

Related Posts

#Malda: रांची का युवक ट्रेन की छत पर जा बैठा, करंट की चपेट में आकर धू-धू कर जला, गंभीर

मालदा टाउन स्टेशन की घटना, पारिवारिक कलह का अंदेशा

इसे भी पढ़ें – गढ़वा : आर्थिक तंगी व कर्ज से परेशान था युवक, पत्नी व दो बेटियों की हत्या कर खुद लगा ली फांसी

Trade Friends

पुलिस ने तथागत के खिलाफ भादवि की धारा 406 और 420 के तहत प्राथमिकी दर्ज की है. पुलिस जांच अधिकारी ने पूरे मामले की जांच तथा गिरोह के सभी सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए एसीजेएम से 14 दिनों की पुलिस रिमांड की मांग की. दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद एसीजेएम ने 10  दिनों की रिमांड मंजूर कर उसे पुलिस को सौंप दिया. तथागत पानीहटी का निवासी है. महिला मंजिला बनर्जी हिंदमोटर की निवासी है. दोनों दुर्गापुर स्टेशन संलग्न लॉज में दंपती बन कर रहे थे. उन्होंने अपने साथ एक बूढ़ी महिला को भी रखा था. स्थानीय निवासियों ने कहा कि महिला तथा पुरुष दोनों समान रूप से दोषी हैं तो पुलिस ने महिला को क्यों छोड़ दिया?  इसके पीछे क्या राज है?  कोक ओवेन थाना प्रभारी ने बताया कि अभी महिला के खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं है. जांच के दौरान साक्ष्य मिलने पर पुन: पूछताछ की जायेगी.

इसे भी पढ़ें – एनएसए अजीत डोभाल, सैन्य कमांडरों ने  जम्मू कश्मीर का हवाई सर्वेक्षण किया, सुरक्षा  प्रबंधों का जायजा लिया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like