न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#BJP की घोषणा पत्र समिति की बैठक में उद्यमियों ने कहा , #IndustriesPolicy बने, बिजली पर मिले सब्सिडी  

जीटा के महासचिव राजीव शर्मा ने सुझावों के संबंध में बताया कि जिले में इंडस्ट्रीज पॉलिसी बननी चाहिए. किसी भी इंडस्ट्रीज के चलने में 24 घंटे बिजली की आवश्यकता पड़ती है. इसके साथ ही बिजली में उन्हें सब्सिडी देने की भी जरूरत है

66

Dhanbad : धनबाद में उद्योगों का जाल बिछाने के लिए उद्यमियों को जमीन उपलब्ध कराने और हवाई अड्डा का निर्माण किये जाने के दो प्रमुख सुझाव गुरुवार को इंडस्ट्रीज एंड कॉमर्स एसोसिएशन के सभागार में आयोजित भारतीय जनता पार्टी की घोषणा पत्र समिति की बैठक में आये.

जीटा के महासचिव राजीव शर्मा ने सुझावों के संबंध में बताया कि जिले में इंडस्ट्रीज पॉलिसी बननी चाहिए. किसी भी इंडस्ट्रीज के चलने में 24 घंटे बिजली की आवश्यकता पड़ती है. इसके साथ ही बिजली में उन्हें सब्सिडी देने की भी जरूरत है. इससे प्रोडक्शन भी बढ़ेगा.

JMM

इसे भी पढ़ें :  #BJP: क्या भीतरघात से बच पायेंगे भाजपा में शामिल हुए विपक्ष के पांचों विधायक, मामला बड़ा नजदीकी है!

जमीन उपलब्ध नहीं होने से इंडस्ट्रियल हब बनने से पिछड़ रहा है धनबाद

सुझावों में बताया गया कि धनबाद से सटे बंगाल में इंडस्ट्रीज बढ़ रही है. कोलकाता के उद्यमी जिले में इंडस्ट्रीज लगाना जरूर चाहते हैं पर जमीन की उपलब्धता नहीं होने तथा हवाई सेवा के अभाव में धनबाद इंडस्ट्रियल हब बनने से पिछड़ रहा है. मोमेंटम झारखंड में कई प्रांतों के उद्यमियों को झारखंड में इंडस्ट्रीज लगाने का आमंत्रण मिला, जबकि झारखंड के उद्यमियों को अभी तक यह आमंत्रण नहीं मिला.

दूसरी तरफ उन्होंने विस्थापन के मुद्दे पर कहा कि मैथन, झरिया तथा बोकारो में विस्थापन का मुद्दा है. इस पर अभी तक कोई ठोस पॉलिसी नहीं बन पायी है. कहा गया कि झरिया के विस्थापितों को बेलगड़िया शिफ्ट करना विकल्प नहीं है. यहां मिनी चंडीगढ़ बनाने की जरूरत है.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

इसे भी पढ़ें : #ViralVideo: मुख्यमंत्री जोहार जनआशीर्वाद यात्रा में क्या नहीं जुट रही भीड़, महिलाओं को साड़ी का लालच देकर बुलाया!

चिकित्सकों के मान-सम्मान के लिए लागू हो मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट

आईएमए अध्यक्ष डॉ एके सिंह ने समिति के समक्ष चिकित्सकों के लिए मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट को लागू करने का सुझाव दिया. उन्होंने अपने तर्क में कहा कि यह एक्ट अन्य प्रांतों में लागू है जबकि झारखंड इससे अछूता है. चिकित्सकों के मान-सम्मान को बचाये रखने के लिए इस एक्ट को झारखंड में लागू करने की जरूरत है. डॉ संगीता करण ने कन्या भ्रूण हत्या मामले में पीसीपीएनडीटी एक्ट में संशोधन करने के सुझाव दिये. उन्होंने कहा कि भ्रूण जांच के मामले में सीधे-सीधे चिकित्सक को जिम्मेवार बताया जाता है जबकि इसमें समाज को भी जागरूक करने की जरूरत है.

बीसीसीएल क्वार्टर और सरकारी जमीन पर रहने वाले लोगों को मिले क्वार्टर

युवा नेता महेश पासवान ने अपने सुझाव में कहा कि बीसीसीएल के क्वार्टर एवं सरकारी जमीन में वर्षों से बसे लोगों को जमीन और कवार्टर आवंटित कर दिया जाना चाहिए. तीन-तीन पीढ़ियों से लोग रहते आ रहे हैं. सरकार का ध्यान इस ओर भी जाना चाहिए.

सरकारी अस्पतालों में सेवा देने में संकोच न करें चिकित्सक

सेबी के फेकल्टी बीएस गुप्ता इंडस्ट्रीज में व्यवहारिकता, इंफ्रास्ट्रक्चर में बढ़ावा, शिक्षण संस्थानों में मॉनिटरिंग पर सुझाव रखे. बैठक में सांसद एवं विधायक ने भी सुझाव रखे. विधायक राज सिन्हा ने कहा कि धनबाद में कई संस्थान जरूर हैं बावजूद यहां चिकित्सक आना नहीं चाहते.

प्राइवेट अस्पतालों में आकर अपनी सेवा दे भी रहे हैं जबकि सरकारी अस्पतालों में बिल्कुल जाना नहीं चाहते हैं. यह एक गंभीर विषय है और इसपर चिंतन करने की जरूरत है. ऐसी व्यवस्था बनानी होगी जिससे कि चिकित्सक सरकारी अस्पतालों में सेवा देने में संकोच नहीं करे. उन्होंने कहा धनबाद में हवाई सेवा की उपलब्धता जरूरी है. रोजाना डेढ़ सौ से दो सौ लोग रांची या कोलकाता जाकर हवाई यात्रा करते हैं.

इसे भी पढ़ें : #ElectionResults देख JMM ने कहा, ‘बुनियादी सवालों को उठाने वाले दल आएं एक साथ’

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like