न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

‘वेंडर मार्केट में मेंटेनेंस के नाम पर हर माह मेयर व डिप्टी मेयर करते हैं 12.30 लाख की बंदरबांट’

पूजा को लेकर बुलायी बैठक में सभी 53 पार्षदों ने किया हंगामा, तैयारी पर नहीं हुई बात, सिंघल इंटरप्राइसेज को मिला है मार्केट में मेंटेनेंस का टेंडर.

761

Ranchi :  रांची नगर निगम सभागार में गुरुवार को पूजा की तैयारी को लेकर बुलायी बैठक हंगामेदार रही. हंगामा दरअसल कचहरी रोड में अटल वेंडर मार्केट मेंटेनेंस काम में हो रहे प्रतिमाह 12.30 लाख रूपये खर्च को लेकर था.

इतनी राशि खर्च होने की जानकारी मिलते हुए बैठक में उपस्थिति सभी पार्षदों ने मेयर, डिप्टी मेयर सहित निगम प्रशासन पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगा दिया.

स्थिति यहां तक बनी कि पूजा की तैयारी को लेकर बुलायी बैठक में कोई बात नहीं बनी. अंततः बिना किसी निर्णय के ही मेयर, डिप्टी मेयर, नगर आयुक्त बैठक छोड़ चले गये. विरोध में निगम के सभी 53 पार्षद निगम गेट के मुख्य द्वारा पर धरने पर बैठ गये.

धरने पर बैठने वाले पार्षदों में नकुल तिर्की (वार्ड 1), सुजाता कच्छप (वार्ड 7),  अर्जुन यादव (वार्ड 10), दिनेश नाम (वार्ड 14),  सुनील यादव (वार्ड 20), मो. एहतेशाम (वार्ड 21), साजिदा खातून (वार्ड 23), ओम प्रकाश (वार्ड 27), विनोद सिंह (वार्ड 34), झिरी लिंडा (वार्ड 35), फिरोज आलम (वार्ड 44), रीता मुंडा (वार्ड 46), शशि सिंह (वार्ड 43), निरंजन कुमार (वार्ड 52) सहित सभी पार्षद शामिल थे.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें : सरकार के आश्वासन से कितने संतुष्ट हैं पारा टीचर, हमें लिखे…

‘भष्टाचार के आरोप को दबा रहा निगम प्रशासन’

पूजा की तैयारी को लेकर बुलायी गयी बैठक में पार्षदों ने सवाल उठाया कि जब एक वार्ड में सफाई काम को लेकर एक वार्ड में प्रतिमाह केवल 2.50 रूपये खर्च होता है, तो केवल एक वेंडर मार्केट में मेंनेटेंस पर 12.50 रूपये खर्च होना संदेह के घेरे में है.

जब इस मांग को पार्षदों ने बैठक में रखा, तो आनन-फानन में मेयर आशा लकड़ा ने मीटिंग को स्थगित कर दिया.

इस पर पार्षदों ने कहा कि यह बैठक में विशेषतौर पर आने वाले पूजा को लेकर बुलायी गयी थी. लेकिन वेंडर मार्केट में इतनी राशि खर्च होने की जानकारी मिलने पर उन्होंने सच्चाई जानने का प्रयास किया.

लेकिन निगम ने वार्डों के जनप्रतिनिधि को इसपर कोई जानकारी नहीं दी. इसपर पार्षदों ने आरोप लगाया कि पूरी जानकारी होने के बाद भी मेयर और डिप्टी मेयर भ्रष्टाचार के इस बड़े मामले को दबाने की कोशिश में लगे है.

इसे भी पढ़ें : #Dhullu तेरे कारणः पूर्व बियाडा अध्यक्ष विजय झा ने विधायक ढुल्लू महतो के खिलाफ शुरू किया सत्याग्रह

‘भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा बढ़ावा, रद्द हो टेंडर’

पार्षदों का कहना है कि वेंडर मार्केट में मेंटेनेंस काम के लिए निकाले गये टेंडर की शर्तें इतनी मुश्किल थी कि अन्य व्यक्ति को टेंडर नहीं मिल सके.

दरअसल वेंडर मार्केट में सफाई काम के लिए निकाला गया टेंडर निगम प्रशासन द्वारा भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का एक जरिया बन चुका है.

SGJ Jewellers

विरोध जताते हुए निगम प्रशासन से सभी पार्षदों ने मांग की कि जल्द ही मार्केट के मेंटनेंस काम में मिले टेंडर को रद्द किया जाये. बता दें कि मार्केट में सफाई काम के लिए सिंघल इंटरप्राइसेज को जिम्मा मिला है.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर : #ShramShakti अभियान के उद्घाटन में श्रमिकों को पगड़ी तो पहना दी, पर नहीं दिया गया रजिस्ट्रेशन कार्ड

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like