न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

छुट्टी होने से स्थगित हुई स्कूलों में परीक्षा, बच्चों के साथ माता-पिता की बढ़ी परेशानी

262

Ranchi : राजधानी के अधिकतर स्कूलों में परीक्षाएं चल रही हैं. ऐसे में करमा पर्व, मुहर्रम होने के कारण दो दिन स्कूलों में पूर्व से ही छुट्टी थी, जिसके बाद शुक्रवार को रांची के उपायुक्त की ओर से शनिवार को भी स्कूल बंद रखने का निर्देश सभी स्कूलों को दिया गया. निर्देश मिलते ही स्कूलों ने मैसेज द्वारा अभिभावकों को स्कूल में छुट्टी होने की सूचना दी. स्कूल में छुट्टी होने के कारण शनिवार को आयोजित होनेवाली परीक्षा भी स्थगित हो गयी. कई स्कूलों ने देर रात मैसेज कर इसकी सूचना अभिभावकों को दी. ऐन वक्त में परीक्षा स्थगित होने से बच्चों में काफी तनाव है. अभिभावक भी इस तनाव से दूर नहीं हैं. दिल्ली पब्लिक स्कूल, सुरेंद्रनाथ सेंटेनरी, संत थॉमस, बिशप वेस्टकॉट नामकुम, ब्रिजफोर्ड आदि स्कूलों में सेकेंड टर्म परीक्षा चल रही है. कई विद्यार्थियों ने परीक्षा की तैयारी पूर्व से कर ली थी.

इसे भी पढ़ें- बोकारो में आकाश इंस्टीट्यूट का फर्जीवाड़ा, रांची में भी अवैध तरीके से चल रहा आकाश का हॉस्टल

Trade Friends

अब फिर से करनी पड़ेगी तैयारी

इस विषय में राजधानी के कई विद्यार्थियों से बात की गयी. इस दौरान अधिकांश विद्यार्थियों ने बताया कि परीक्षा के एक दिन पूर्व विषय की सारी तैयारी कर ली गयी थी, लेकिन शाम में अचानक स्कूल से परीक्षा स्थगित होने की सूचना आने से काफी तनाव है. क्योंकि, उस विषय को छोड़कर अब दूसरे विषय की तैयारी करनी होगी. वहीं, जिस विषय की तैयारी की गयी थी, अब उसकी तिथि और फिर से पढ़ने को लेकर तनाव है. यह परीक्षा कब होगी, इसका अधिक तनाव है.

इसे भी पढ़ें- स्‍वच्‍छता को हर घर तक पहुंचाना लक्ष्‍य : राकेश सिंह

क्या कहा अभिभावकों ने

WH MART 1

प्रशासन के इस आदेश से अभिभावकों को भी परेशानी हुई है, विशेषकर माताओं को. क्योंकि बच्चों की पढ़ाई, परीक्षा आदि को लेकर ये काफी गंभीर रहती हैं. कई माताओं ने बताया कि शाम में अचानक विद्यालय से मैसेज आने पर काफी तनाव सा लगने लगा. क्योंकि, परीक्षा के एक दिन पूर्व बच्चों की छुट्टी थी, जिस कारण दिन भर बच्चों ने परीक्षावाले विषय की तैयारी की. इन माताओं ने कहा कि परीक्षा की 80 प्रतिशत तैयारी तो एक दिन पूर्व ही हो गयी थी. प्रशासन को ऐसे आदेश के पहले विद्यार्थियों और अभिभावकों की परेशानी के विषय में सोचना चाहिए.

अचानक परीक्षा की तिथि बदलने से काफी तनाव है. ऐसे में समझ नहीं आता कि क्या किया जायेगा. एक विषय के लिए पूर्व से ही माइंड सेट रहता है, साथ ही काफी मेहनत के साथ तैयारी भी की जाती है. लेकिन परीक्षा तिथि में बदलाव से तनाव सा लग रहा है.

-धनराज यश, छात्र, कक्षा 9, डीपीएस

परीक्षा की तैयारी पूरी हो चुकी थी. बस परीक्षा देनी थी, लेकिन अचानक शाम में स्कूल से परीक्षा स्थगित होने का एसएमएस आता है. पहले से ही छात्र विषय की तैयारी कर रहे थे, ऐसे में अचानक स्थगित होना तनाव काफी बढ़ा देता है. अब मुख्य चिंता परीक्षा रीशिड्यूल होने की है. पता नहीं आनेवाले समय में लगातार परीक्षा हो जाये, तो ऐसे में परेशानी बढ़ जायेगी

-समृद्धि पोद्दार, छात्रा, कक्षा 12वीं, बिशप वेस्टकॉट गर्ल्स स्कूल, नामकुम

शाम में मैसेज आया कि स्कूल बंद है. ऐसे में सिर्फ मेरे बेटे में ही नहीं, बहुत से बच्चों में तनाव है कि अब दूसरे विषय की तैयारी करनी होगी. जबकि, पूर्व से बच्चों ने माइंड सेट कर रखा था कि अब परीक्षा देनी है. अधिकतर बच्चों की परीक्षा की 85 प्रतिशत तैयारी हो गयी थी, ऐसे में अभिभावकों की भी परेशानी बढ़ जाती है कि अब परीक्षा कब होगी.

-मीनू सिंह, अभिभावक

बच्चों की परीक्षा को लेकर काफी परेशानी हो गयी है, क्योंकि यह परीक्षा का समय है. बच्चे पहले से ही तैयारी में थे और इनके साथ माता-पिता भी. अचानक से स्कूल से मैसेज आने से बच्चों के साथ अभिभावकों को काफी परेशानी हो गयी है, क्योंकि परीक्षा स्थगित होने से बच्चे अब पढ़ना नहीं चाह रहे. मैसेज देर शाम आयी, अगर यही मैसेज सुबह आ गयी होती, तो बच्चे अगले विषय की तैयारी कर सकते थे.

-पिंकी अग्रवाल, अभिभावक

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like