न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बड़कागांव #BDO और उसकी पत्नी पर नाबालिग से मारपीट के आरोप में #FIR, #DC ने बनायी जांच टीम

3,469

Ranchi/Barkagaon: हजारीबाग जिले के बड़कागांव प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) राकेश कुमार और उनकी पत्नी पर उनके ही घर में काम करने वाली नाबालिग बच्ची के साथ मारपीट करने के मामले मामला दर्ज कर लिया गया है.

इस मामले में सदर थाना में नाबालिग के बयान के आधार पर मामला दर्ज हुआ है. नाबालिग ने अपने बयान में बीडीओ राकेश कुमार और उनकी पत्नी पर चोरी का झूठा आरोप लगाते हुए मारपाटी करने और गर्म आयरन से जलाने की बात कही है.

इससे पहले सोशल मीडिया पर बच्ची और उसके घरवालों का बयान वायरल हो गया था. सबसे पहले न्यूज विंग ने इस खबर की पड़ताल करते हुए खबर प्रकाशित की थी. इसके दूसरे ही दिन मामले पर कार्रवाई हुई. और थाना में मामला दर्ज कर लिया गया है.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें – आदिवासी कल्याण के लिए दी गयी दस करोड़ की राशि गुमला #SBI से शातिरों ने अपने खाते में की ट्रांसफर

डीसी हजारीबाग ने बनायी टीम

न्यूज विंग से बात करते हुए हजारीबाग के डीसी बीपी सिंह ने कहा कि मामले को लेकर हजारीबाग प्रशासन गंभीर है. जांच के लिए अपर समाहर्ता और ट्राइबल अफसर की टीम बनायी गयी है. साथ ही डीसी ने बताया कि लड़की शायद ट्राइबल है. इसलिए हर एंगल को देखना होगा कि कहीं ट्राइबल एक्ट का तो कोई मामला नहीं बनता.

उन्होंने बताया कि चाइल्ड वेलफेयर मेम्बर को भी जांच के लिए बच्ची के पास भेजा गया है. सीएस ने भी इलाजरत नाबालिग बच्ची के लिए तीन लोगों की टीम बनायी है. सभी जांच रिपोर्ट के आते ही प्रशासन कार्रवाई करेगा.

इसे भी पढ़ें – आरोप : बड़कागांव #BDO ने घर में काम करने वाली बच्ची के सिर के बाल उखाड़े, आयरन से जलाया, रॉड से दागा

बेलन से मारा और गर्म आयरन से जलाया

नाबालिग बच्ची ने अपने बयान में कहा है कि सात सितंबर को बीडीओ राकेश कुमार के ऑफिस जाने के बाद उनकी पत्नी ने नाबालिग पर 200 रुपए चोरी का आरोप लगाया. आरोप लगाने के बाद बीडीओ साहब की मैडम हिंसक हो गयीं. उन्होंने पहले तो बेलन से पिटायी की, फिर बाद में गर्म आयरन से नाबालिग के हाथ और सीने को जला दिया.

साथ ही शाम में जब बीडीओ ऑफिस से घर आए तो मैडम के कहने पर बीडीओ साहब ने फिर से नाबालिग की चप्पल से पिटायी की. आयरन से जलाए जाने के बाद जब नाबालिग की तबियत बिगड़ी तो उसने अपने घर जाने की बात कही. लेकिन बीडीओ साहब ने उसे घर जाने नहीं दिया.

Related Posts

गढ़वा: दो सगे भाइयों की गला रेतकर हत्या, पिछले तीन दिनों से थे लापता

हत्या के विरोध में आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम.

झोलाछाप डॉक्टर को घर बुलाकर करा रहे थे इलाज 

वहीं 19 दिनों तक घर में बंद रखने के बाद 25 सिंतबर को बीडीओ राकेश कुमार ने सुबह ऑफिस जाते वक्त नाबालिग को साथ लिया और उसे बड़कागांव ब्लॉक मोड़ के पास गाड़ी से उतार कर घर जाने को कहा.

इसे भी पढ़ें – PMC Bank : आरबीआइ के प्रतिबंध लागू होने से ठीक पहले किसने 16 करोड़ के 49 फिक्स डिपॉजिट तुड़वाये

SGJ Jewellers

रांची में हुआ इलाज, फिलहाल हजारीबाग सदर अस्पताल में भर्ती

नाबालिग बच्ची के परिजनों के अनुसार, पिछले चार महीने से नाबालिग बच्ची बीडीओ राकेश कुमार के घर पर काम कर रही थी. किसी विनय कुमार मेहता ने बच्ची को 3500 रुपया महीने की सैलरी पर रखा था. इसी दौरान करमा पूजा के दिन 200 रुपए चोरी का आरोप लगाकर बीडीओ राकेश कुमार और उनकी पत्नी ने बच्ची को जमकर पिटाई की.

kanak_mandir

बच्ची ने बीडीओ की पत्नी पर सर के बाल नोचने का भी आरोप लगाया है. साथ ही कहा कि पिटायी की वजह से चेहरे पर कई निशान हो गए हैं. इलाज के लिए घरवाले बच्ची को पहले रांची और बाद में फिर से हजारीबाग सदर अस्पताल ले गए.

बीडीओ ने चुप रहने के लिए किया था घर और एक लाख देने का वादा

नाबालिग बच्ची के परिजनों के अनुसार, जब इस बात की जानकारी बीडीओ राकेश कुमार को हुई, तो उनकी पत्नी ने बच्ची को लाने वाला एजेंट विनोद कुमार मेहता के घर गयीं. और बच्ची के घर जाकर उसके परिजनों को एक लाख रुपया और घर देने की बात कही.

और साथ ही किसी से यह बात नहीं करने का भी आग्रह किया. बाद में बच्ची की जब स्थिति खराब होने लगी. तो परिजनों ने उसे सदर अस्पताल में भर्ती करवाया.फिर बच्ची के साथ हुए हादसे की सारी जानकारी मीडिया और चाइल्ड सोसायटी के लोगों को दी.

इसे भी पढ़ें – बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- मेरे ऊपर लगे आरोप सिद्ध हुए तो राजनीति से संन्यास ले लूंगा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like