न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी समेत चार लोगों पर गढ़वा कोर्ट में मुकदमा

सतबहिनी झरना तीर्थस्थल पर वर्चस्व की लड़ाई का मामला कोर्ट पहुंचा

761

Garhwa : गढ़वा जिले के कांडी प्रखंड स्थित प्रसिद्ध पर्यटन स्थल सतबहिनी झरना तीर्थस्थल पर वर्चस्व कायम करने की लड़ाई कोर्ट तक पहुंच गयी है. प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी के विरुद्ध गढ़वा कोर्ट में मुकदमा दायर हुआ है. कांडी थाने के बेलोपांती गांव निवासी सेवानिवृत्त शिक्षक मुरलीधर मिश्रा ने स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी समेत चार लोगों पर मुकदमा किया है. श्री मिश्र ने गढ़वा सिविल कोर्ट के न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी विशाल मांझी की अदालत में स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, भाजपा नेता रामलला दूबे, स्वास्थ्य मंत्री के आप्त सचिव जयप्रकाश शर्मा एवं सरकोनी निवासी अजय सिंह के विरुद्ध परिवाद पत्र दायर किया है.

वादी मुरलीधर मिश्रा ने पूर्व मंत्री उनके तीन सहयोगियों पर बुधवार से प्रस्तावित यज्ञ में बाधा डालने की कोशिश करने के साथ साथ कथित जाली कागजात के आधार पर संस्था रजिस्टर्ड कराने का आरोप लगाया है. मुरलीधर मिश्रा की ओर से दायर परिवाद पत्र के अनुसार वर्ष 2010 में पूर्व में मृत लोगों का जाली हस्ताक्षर कराकर ट्रस्ट का रजिस्ट्रेशन करवाया गया है और जिनके हस्ताक्षर से ट्रस्ट का रजिस्ट्रेशन कराया है, उनमें से पांच दर्जन से अधिक लोगों ने कोर्ट में लिख कर दिया है कि उनलोगों को ट्रस्ट गठन के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

Trade Friends

मंत्री पर अपमानित और धमकी का भी लगाया आरोप

WH MART 1

आगे परिवाद पत्र में लिखा है मंत्री श्री चंद्रवंशी ने ट्रस्ट के कथित फॉर्म भरने के दौरान में लिखा है सतबहिनी में कोई मंदिर नहीं है. वहां पर टूटा फूटा भग्नावशेष मंदिर है. जबकि 2001 से सतबहिनी में एक संस्था चल रही है. जहां सालाना 25 लाख से 50 लाख तक की आमदनी होती है. जबकि मंत्री ने अपने फॉर्म में आय शून्य दिखाया है. मुरलीधर मिश्र ने मंत्री चंद्रवंशी पर भरी सभा में अपमानित करने और धमकी देने भी का आरोप लगाया है. मुरलीधर मिश्र की ओर से गढ़वा सिविल कोर्ट के न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी विशाल मांझी की अदालत में स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी समेत चार लोगों के विरुद्ध दायर परिवाद पत्र में भादवि की धारा 420, 465, 467, 468, 471, 385, 295ए, 500, 504, 506 एवं 120बी के मामला दर्ज कर मुकदमा चलाने की प्रार्थना की गयी है.

सब कुछ सरकारी प्रावधान के तहत हो रहा : मंत्री

स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने उन पर लगाए गये सारे आरोप निराधार हैं. सरकार सतबहिनी झरना तीर्थस्थल को पर्यटन स्थल घोषित कर उसके विकास के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर रही है. उस परिसर में जो भी हो रहा है, वह सरकारी प्रावधान के तहत हो रहा है. अगर कोई विवाद उत्पन्न करना चाहता है तो बहुत जल्द दूध का दूध और पानी का पानी होकर सबके सामने आ जायेगा. क्योंकि सब कुछ पारदर्शी और नियम संगत हो रहा है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like