न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची में इन 16 जगहों पर चल रहा है मटका का खेल, हर दिन हो रहा 50 लाख का जुआ

3,415

Ranchi :  राजधानी के कई इलाकों में धड़ल्ले से मटका कारोबार चल रहा है. पुलिस मटका कारोबार के खिलाफ कार्रवाई भी कर रही है, लेकिन ये नाकाफी ही साबित हो रहा है. पुलिस का मानना है कि जो कार्रवाई की जा रही, उससे मटका कारोबार पर रोक लगी है. लेकिन सच यह है कि राजधानी रांची के कई इलाकों में मटका कारोबार गिरोह बेरोक-टोक शहर में सक्रिय हैं. पक्की सूचना है कि राजधानी रांची के सात थाना क्षेत्रों के 16 जगहों पर मटका का खेल चल रहा है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, हर दिन लगभग 50 लाख रुपए का मटका कारोबार होता है. आरोप है कि मटका के इस खेल को पुलिस का संरक्षण मिला हुआ है. यही कारण है कि यह बेरोक-टोक चल रहा है. दिखावे के लिये पुलिस कभी-कभार कार्रवाई कर देती है और दावा करती है कि मटका खेल नहीं हो रहा है.

इसे भी पढ़ें – सचिवालय सेवा में एसटी प्रशाखा पदाधिकारी के 171 पद स्वीकृत, कार्यरत सिर्फ एक, 99.5% पोस्ट खाली

किस क्षेत्र में होता है मटका का कारोबार

Trade Friends

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, राजधानी रांची के सात थाना क्षेत्र में इन 16 जगहों पर मटका का खेल चल रहा है.

 

कोतवाली थाना: बाजार स्थित सब्जी मंडी, गाड़ीखाना भुईया टोली और सेवा सड़क बड़ा तालाब के आसपास.

 

लोअर बाजार थाना : मेन रोड कलल टोली

 

चुटिया थाना : पशु अस्पताल के पीछे मैदान में और वहां गांजा भी मिलता है.

 

जगन्नाथपुर थाना : लीची बगान और जगन्नाथपुर मंदिर के पीछे, हालांकि यहां के मटका खेलाने वाले कुछ लोग सुखदेव नगर थाना क्षेत्र में शिफ्ट हो गए हैं.

SGJ Jewellers

 

सुखदेव नगर थाना : मधुकम, इंद्रपुरी रोड नंबर 10, अलकापुरी खादगढ़ा सब्जी मंडी और किशोरगंज संस्कृत कॉलेज के आसपास के क्षेत्रों में.

 

पंडरा ओपी : आईटीआई बस स्टैंड और ओटीसी मैदान के आसपास के क्षेत्रों में.

 

लोअर बाजार नामकुम थाना बॉर्डर : मौलाना आजाद कॉलोनी पुल के दायीं ओर

इसे भी पढ़ें – लातेहार : गर्भवती महिला को नहीं मिला एंबुलेंस, बेहोशी की हालत में बाइक से लाया गया अस्पताल

मटका कारोबार करने वाले ज्यादातर आपराधिक गतिविधियों वाले

रांची में इन 16 जगहों पर चल रहा है मटका का खेल, हर दिन हो रहा 50 लाख का जुआ
मटका खेलने वाला पेपर
kanak_mandir

इस कारोबार को करने वाले ज्यादातर लोग आपराधिक इतिहास वाले हैं. मजदूरी करने वाले कम आय वाले लोग ज्यादा कमाने व अमीर बनने के चक्कर में मटका खेलने लगते हैं. और इस खेल में अपनी सारी कमाई लुटा बैठते हैं.

एक मटका कारोबारी के मुताबिक राजधानी में हर महीने करीब 15 करोड़ रुपये का यह कारोबार है. जानकारी के मुताबिक कई बार इसे लेकर पुलिस से शिकायत की जाती है, लेकिन पुलिस के स्तर से कार्रवाई नहीं की जाती. पुलिस कार्रवाई तभी करती है, जब मटका कारोबारियों और पुलिस के रिश्ते में किसी बात को लेकर खटास आ जाता है. या फिर तब जब किसी वरीय अधिकारी की तरफ से कार्रवाई करने के लिए कहा जाता है. बाकी वक्त तो बस बागो में बहार जैसे माहौल ही रहते हैं.

इसे भी पढ़ें – मंत्री लुईस मरांडी के विधानसभा क्षेत्र में डोभा के पानी से प्यास बुझा रहे ग्रामीण

रांची में चलता है तीन तरह का मटका कारोबार

रांची में तीन तरह का मटका चलता है. भूतनाथ मटका शाम के 5.50 बजे ओपेन होता है और 8.50 बजे क्लोज हो जाता है. जबकि बरली मटका रात के 9.50 बजे ओपेन होता है और रात के 12.50 बजे क्लोज होता है. लेकिन मटका खेलने वालों को इसका रिजल्ट सुबह के छह-सात बजे मिल पाता है.इसके अलावा  शक्ति मटका दिन के 2.50 बजे ओपेन होता है और शाम के 4.50 बजे क्लोज होता है.

वहीं कर्बला चौक पर मटका गेम खेलने के लेकर गेस पेपर भी बिक रहे हैं. कैसे नंबर गेस करके मटका से जरिए ज्यादा पैसा बनाया जाए, इसके लिए कुछ गेस पेपर्स की बिक्री भी खुलेआम की जा रही है. लोअर बाजार थाना क्षेत्र के कर्बला चौक पर एक छोटी सी दुकान है, जिसमें सप्ताह में एक दिन सिर्फ मटका खेलने को लेकर किताबें व गेस पेपर की बिक्री की जाती है.

इसे भी पढ़ें – बढ़ेंगी हेमंत सोरेन की मुश्किलेंः सोहराय भवन मामले में सरकार ने दिया कार्रवाई का आदेशे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like