न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गढ़वा : जिस महिला की हत्या की हुई थी FIR, वह निकली जिंदा

1,541

Palamu / Garhwa : पलामू प्रमंडल अंतर्गत गढ़वा जिले के मेराल थाना क्षेत्र से अजीबोगरीब मामला सामने आया है. दरअसल महिला के गायब होने पर हत्या कर शव गायब करने का मामला मायके वालों ने ससुरालवालों पर दर्ज करायी. लेकिन जब पुलिस ने जांच शुरू की तो महिला जिंदा निकली. पुलिस ने महिला को आंध्रप्रदेश के सिकंदराबाद से बरामद किया. महिला को सोमवार को मेराल थाना लाया गया, जहां से उसे गढ़वा सिविल कोर्ट भेज दिया गया है. महिला का न्यायालय में 164 के तहत बयान दर्ज किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें –प्रभार में चल रही जैप की दस में से सात और आइआरबी की पांच बटालियन

हत्या कर शव छुपा देने का लगाया था आरोप

Trade Friends

मेराल पुलिस का कहना है कि गोंदा निवासी ओम प्रकाश प्रजापति की पत्नी सरिता देवी एक सप्ताह पूर्व अपने प्रेमी आशीष प्रजापति के साथ घर छोड़कर भाग गयी थी. लेकिन उसके पिता गढ़वा थाने के ओबरा निवासी नागेश्वर प्रजापति ने बेटी की हत्या कर शव गायब करने की प्राथमिकी 7 जुलाई को मेराल थाना में दर्ज करायी थी. पति और ससुर भिखारी प्रजापति को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी तो, कहानी में नया मोड़ नजर आया.

मोबाइल लोकेशन से हुआ खुलासा

पुलिस को अनुसंधान के क्रम में मोबाइल का लोकेशन भवनाथपुर मिला. मोबाइल लोकेशन और अनुसंधान के आधार पुलिस को मालूम हुआ कि महिला के भाई के साला मकरी गांव निवासी आशीष प्रजापति के साथ सरिता का प्रेम संबंध था और वह उसी के साथ भाग गयी.

इसे भी पढ़ें – टीचर ट्रेनिंग संस्थाओं को 30 दिनों के अंदर लगाना होगा बायोमैट्रिक सिस्टम, नहीं तो रद्द होगी मान्यता

Related Posts

500 मेगावाट के पावर प्लांट को दो माह बाद किया गया लाइटअप, ऐश पौंड के लिए जगह का संकट

सीसीएल की बंद खदानें नहीं मिलीं तो बंद हो सकते हैं बोकारो थर्मल एवं चंद्रपुरा के पावर प्लांट : बीएन साह

मोबाइल के कॉल डिटेल के आधार पर जिंदा होने की हुई पुष्टि

दरअसल मोबाइल के कॉल डिटेल के आधार पर सरिता के जिंदा होने की पुष्टि हुई. उसके मोबाइल के लोकेशन से आंध्रप्रदेश के सिकंदराबाद में होने का पता चला. उधर, पुलिस के बढ़ते दबाव के कारण प्रेमी आशीष प्रजापति विवाहिता सरिता देवी को छोड़कर फरार हो गया. इसके बाद किसी तरह सविता सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर पहुंची और वहां स्टेशन पर रेल पुलिस से मदद मांगी. रेल पुलिस ने महिलाओं के लिए काम करने वाली अमन वेदिका संगठन को सौंप दिया. जिसकी सूचना पर सिकंदराबाद पहुंची मेराल थाने की पुलिस ने सरिता को वापस लेकर आयी.

पहले लगाया प्रताड़ना का आरोप, बाद में उगली असलियत

पूछताछ के क्रम में पहले तो सरिता ने ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर भागने की बात कही. लेकिन मोबाइल डिटेल दिखाने पर सरिता ने बताया कि वह सिकंदराबाद अपने प्रेमी के साथ  भाग गयी थी और वहां दो दिन अपने प्रेमी के साथ रही.

लेकिन पुलिस के बढ़ते दबाव से उसका प्रेमी उसे छोड़कर भाग गया, जिसके बाद उसने सिकंदराबाद में  जीआरपी से मदद ली. मेराल पुलिस ने विवाहिता का बयान दर्ज कर लिया और गढ़वा सिविल कोर्ट में 164 का बयान दर्ज कराने की तैयारी में जुट गई है.

इसे भी पढ़ें –   मां अंबे माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड पर क्यों मेहरबान है चतरा व हजारीबाग जिला प्रशासन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like