न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Giridih: एसीबी ने पीरटांड़ के जनसेवक को पीएम आवास के लाभुक से तीन हजार घूस लेते गिरफ्तार किया

265
  • लाभुक की मोबाइल दुकान में पदाधिकारी पहले से ग्राहक के रूप में थे मौजूद
  • पीएम आवास की दूसरी किस्त 85 हजार देने के लिए जनसेवक मांग रहा था तीन हजार
  • खरपोका में गिरफ्तारी के बाद शहर के बरगंडा स्थित घर में सर्च कर जब्त किये कई पासबुक

Giridih: एसीबी की धनबाद टीम गुरुवार को गिरिडीह के पीरटांड़ के खरपोका पंचायत के जनसेवक राजू साव को गिरफ्तार कर धनबाद ले गयी.

धनबाद एसीबी के पदाधिकारी केएन सिंह के नेतृत्व में जनसेवक राजू साव को टीम के पदाधिकारियों ने खरपोका निवासी मो. तनवीर से तीन हजार रुपये नगद लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया.

JMM

इसके बाद टीम के पदाधिकारी आरोपी जनसेवक को लेकर शहर के बरगंडा स्थित उसके घर पहुंचे और पूरे घर को खंगाला. घर को खंगालने के दौरान एसीबी के पदाधिकारियों को आरोपी के घर से आधा दर्जन बैंक के पासबुक मिले.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection: पहले चरण के चुनाव तक बीजेपी की चुनावी रणनीति फेल, ना पार्टी बची और ना ही गठबंधन

बड़े पैमाने पर ट्रांजेक्शन

जिसमें बड़े पैमाने पर रुपये के ट्रांजेक्शन की बात कही गयी है. आरोपी कर्मी के घर से जब्त बैंक पासबुक अलग-अलग बैंकों के बताये जा रहे हैं.

एसबीआइ के साथ कुछ प्राइवेट बैंकों के पासबुक होने की बात सामने आयी है. हालांकि कर्मी के घर से जब्त सारे पासबुक सिर्फ कर्मी राजू साव के ही हैं या, उनके परिवार के सदस्यों के नाम पर, इसका पता एसीबी के पदाधिकारी लगा रहे हैं.

लेकिन एसीबी सूत्रों की मानें तो कर्मी के घर से जितने पासबुक जब्त किये गये हैं उनमें हर पासबुक में लाखों रुपये के ट्रांजेक्शन होने की बात सामने आयी है.

जानकारी के अनुसार एसीबी की टीम इस दौरान जनसेवक राजू साव के घर करीब आधे घंटे तक रुकी और पूरे घर को खंगाला. यह दूसरा मौका है जब बरगंडा में किसी तीसरे कर्मी के घर भष्ट्राचार निरोधक शाखा के पदाधिकारियों ने दबिश दी है.

जनकारी के अनुसार घूस लेने के आरोप में एसीबी के हत्थे चढ़ा जनसेवक राजू साव पीरटांड़ के खरपोका पंचायत का जनसेवक है.

खरपोका निवासी मो. तनवीर को पीएम आवास योजना पास होने के बाद उसे पीरटांड़ प्रखंड से घर निर्माण की पहली किस्त मिलने के बाद दूसरी किस्त 85 हजार रुपये मिलने थे.

इसे भी पढ़ें – कोयला का अवैध कारोबार अब धनबाद के बजाय चांडिल, रांची, रामगढ़ होते हुए, गुप्ता जी हैं संरक्षक

पांच हजार मांग रहा था

लिहाजा, इसी दूसरी किस्त की स्वीकृति के लिए आरोपी जनसेवक लाभुक मो. तनवीर से पांच हजार की मांग कर रहा था. लेकिन तीन हजार में सौदा तय हुआ.

घूस की रकम देने के लिए भी गुरुवार का दिन तय किया गया था. जिसमें शिकायतकर्ता तनवीर ने आरोपी जनसेवक से कहा कि पैसे का जुगाड़ होने के बाद वह उन्हें अपने खरपोका गांव के मोबाइल दुकान बुलायेगा. जहां तीन हजार का भुगतान किया जायेगा.

गुरुवार को जब लाभुक सह शिकायतकर्ता मो. तनवीर के बुलाने पर जनसेवक तनवीर की दुकान पर पहुंचा, जहां एसीबी के पदाधिकारी ग्राहक बन कर पहले से मौजूद थे, एसीबी पदाधिकारियों की मौजदूगी में तनवीर जनसेवक राजू साव को तीन हजार नगद रुपये देने लगा.

इसी दौरान भष्ट्राचार निरोधक शाखा के पदाधिकारियों ने घूसखोर जनसेवक को तीन हजार लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया. जानकारी के अनुसार आरोपी जनसेवक गिरिडीह के ताराटांड़ का रहनेवाला बताया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – #Chatra : 20 किलो का लैंडमाइंस व विस्फोटक बरामद, चुनाव से पहले नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like