न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गोड्डा :  जियो लक्की ड्रॉ, रिचार्ज के नाम पर ठगी करने वाले दो अंतरराज्यीय साइबर अपराधी गिरफ्तार

इन अपराधियों का अंतरराज्यीय नेटवर्क बताया जा रहा है. गिरफ्ता आरोपी में देवघर के सारठ थाना अंतर्गत नवादा का मोजिब अंसारी व उमरगुल शामिल है

201

Godda :  जिला पुलिस ने साइबर अपराध पर कार्रवाई करना शुरू कर दिया है. गोड्डा के एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल के निर्देश पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए महागामा व पथरगामा थाना में पूर्व में दर्ज दो मामलों का खुलासा करते हुए साइबर  धोखाधड़ी कर ठगी ते मामले में देवघर जिले के दो साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है.

इन अपराधियों का अंतरराज्यीय नेटवर्क बताया जा रहा है. गिरफ्तार आरोपी में देवघर के सारठ थाना अंतर्गत नवादा का मोजिब अंसारी व उमरगुल शामिल है.इन अपराधियों के पास से छह भरे हुए व एक खाली चेक बरामद किये गये हो.  पुलिस वे दो एन्ड्राइड मोबाइल भी बरामद किये हैं. दोनों जियो  लक्की ड्रा,  रिचार्ज के नाम पर ठगी करते थे.

JMM

इसे भी पढ़ें: #CabinetDecision: आंगनबाड़ी सेविका, सहायिकाओं का बढ़ा मानदेय, शहरी निकाय कर्मियों को भी सातवें वेतनमान का लाभ

 दोनों के खिलाफ गोड्डा जिले में दर्ज थे मामला

दोनों अपराधियों की गिरफ्तारी महागामा व पथरगामा थाना में दर्ज मामले में की गयी है.  मामले इस वर्ष 2 फरवरी, 25 अगस्त   को दर्ज किये गये थे. मामले की जानकारी देते हुए एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल ने बताया कि पूर्व  में दर्ज साइबर अपराध से जुड़े कांडों की समीक्षा की जा रही थी.  महागामा व पथरगामा थाना में दर्ज मामले की समीक्षा के बाद देवघर जिले के सारठ थाना के नवादा गांव के दो युवकों का नाम सामने आया.

गिरफ्तारी के लिए टीम का गठन कर देवघर भेजा गया

दोनों साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए टीम का गठन कर देवघर भेजा गया.बताया कि टीम ने तकनीकी साक्ष्य के आधार पर नवादा के टिटकोरिया पुल के पास से मोजीब व उमरगुल को गिरफ्तार किया. मोजीब ने पूछताछ में पुलिस के समक्ष महागामा व पथरगामा थाना में दर्ज साइबर अपराध के मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

इसे भी पढ़ें:  #PoliticalGossip: लीजिए अब ई कौन कह रहा है कि कांग्रेस को जेएमएम ने थमा दी है 17 सीटों की लिस्ट!

बिहार व राज्य के अन्य जिलों में दस मामले में इनकी संलिप्ता सामने आयी

एसपी ने बताया कि दोनों ने  कई लोगों से साइबर अपराध करने की बात स्वीकार की.   बैंक का पदाधिकारी बनकर दोनों आरोपी चाचा-भतीजे ने लोगों को ठगा. एसपी ने कहा कि दोनों आरोपियों ने साइबर अपराध के लिए लक्की ड्रा, रिचार्ज कूपन का प्रलोभन देकर साइबर अपराध किया और  ठगी की. खुद को दोनों जियो आफिस के आदमी बताते थे. पुलिस द्वारा जिले में अन्य साइबर अपराधों के मामले की दोनों आरोपियों के संलिप्तता की जांच की जा रही है. साइबर क्राइम मामले में जिले के अलावा असम,  बिहार व राज्य के अन्य जिलों में दस मामले में इसकी संलिप्तता सामने आयी है.

इसे भी पढ़ें: #Congresss की जन आक्रोश रैली में दिखी नेताओं के बीच अंतर्कलह, सुबोधकांत को मनाते दिखे आरपीएन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like