न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#GrandAlliance : संयुक्त प्रेस वार्ता में आरजेडी का नहीं आना छोड़ गया बड़ा सवाल

आरजेडी के नहीं पहुंचने के सवाल से बचते दिखे आरपीएन और हेमंत

168

Ranchi : बीजेपी के खिलाफ बनने वाले मजबूत गठबंधन तो सामने आ ही गया, लेकिन जो परेशानी शुक्रवार को मीडियाकर्मियों को झेलनी पड़ी, वह कष्टदायी थी. दरअसल गठबंधन के तहत सीट शेयरिंग को लेकर शुक्रवार को रांची प्रेस क्लब में एक संयुक्त प्रेस वार्ता बुलायी गयी थी. वार्ता का समय दोपहर 2 बजे तय किया गया था. सभी मीडियाकर्मी पौने 2 से 2 बजे के बीच अपने स्थान पर बैठे चके थे.

लेकिन हुआ वही जो हर बार होता है. जेएमएम और कांग्रेस की संयुक्त प्रेस वार्ता करीब ढ़ाई घंटे लेट से शुरू हुई. वहां उपस्थित अमूमन सभी मीडियाकर्मियों के चेहरों पर लेट से शुरू हुए प्रेस वार्ता की परेशानी साफ झलक रही थी. जब कुछ नेताओं से पूछा गया कि लेट होने का कारण क्या है, तो उनका कहना था कि अभी भी जेएमएम कार्यकारी अध्य़क्ष हेमंत सोरेन के आवास पर सीट शेयरिंग को लेकर बैठक चल रही है. ऐसे में यह सवाल खड़ा होता है कि जब सीट शेयरिंग पर बातचीत पूरी ही नहीं हुई थी, तो प्रेस वार्ता का समय 2 बजे निर्धारित कर मीडियाकर्मियों को क्यों परेशान किया गया.

JMM

इसे भी पढ़ें : विपक्ष का गठबंधन तय : JMM 43, कांग्रेस 31 और RJD 7 सीटों पर उतारेगी प्रत्याशी, हेमंत होंगे चेहरा

लालू यादव को लेकर कहा, लगता है कि जैसे देश का सबसे बड़ा आतंकी जेल में है  : हेमंत सोरेन

आरजेडी के नहीं आने की बात पर हेमंत सोरेन ने कहा कि आरजेडी नेता तेजस्वी यादव से गुरुवार रात को हुई बातचीत के बाद सीट बंटवारे पर बातचीत हो चुकी है. अभी आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव बीजेपी सरकार के कोपभाजन का शिकार बने हुए हैं. एक सुनियोजित तरीके से उन्हें जेल में रखा गया है. ऐसा लगता है जैसे देश के सबसे बड़े आतंकवादी को जेल में रखा गया है. इसके कारण पार्टी के राजनीतिक निर्णयों और कार्यक्रमों पर असर पड़ता है.

हेमंत ने कहा कि अध्य़क्ष होने के नाते गठबंधन में रहते हुए कोई भी निर्णय लालू यादव के द्वारा ही सामने आ सकता है. इसकी जानकारी लालू यादव को भी है. उन्होंने कहा कि आरजेडी के कुछ सवाल जरूर है, लेकिन यह तय है कि गठबंधन के तहत मुख्य दल आरजेडी को भी माना गया है. जेल में रहने से लालू यादव से मिलने में थोड़ी परेशानी होती है. उनसे मिलने के लिए एक निश्चित समय होता है. ऐसे में उनसे बातचीत कर वे अनसुलझे हुए सवालों का जवाब जल्द ही सामने रखेंगे.

इसे भी पढ़ें : संदर्भ महाराष्ट्रः यह भाजपा के स्वर्णिम वक्त में अभूतपूर्व पराजय है

सवाल से बचते दिखे आरपीएन, कहा, सवाल एक दो सीटों का नहीं राज्य के विकास का है

संयुक्त प्रेस वार्ता में कांग्रेस प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन की उपस्थिति में विपक्षी गठबंधऩ (कांग्रेस, जेएमएम और आरजेडी) की घोषणा कर दी. लेकिन वार्ता में आरजेडी के किसी प्रतिनिधि का उपस्थित नहीं रहना एक बड़ा सवाल छोड़ गया.  आरजेडी की एक-दो सीटों पर नाराजगी को लेकर जब मीडिया द्वारा सवाल पूछा गया तो आरपीएन सिंह इससे बचते दिखे.

कहा कि गठबंधऩ के तहत सीट बंटवारे पर बातचीत पूरी हो चुकी है. सवाल एक-दो सीटों का नहीं है. मुद्दा झारखंड के विकास का है. जवाब देने की जगह रघुवर सरकार की बात करते हुए आरपीएन ने कहा कि पिछले पांच सालों में राज्य की जो स्थिति हुई है, उससे मुक्ति के लिए ही गठबंधन बना है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड में आचार संहिता की नहीं है अधिकारियों को परवाह, धड़ल्ले से निकल रहे हैं टेंडर

 

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like