न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जीएसटी की घटी दरों का लाभ उपभोक्ताओं को एक सप्ताह में मिलेगाः सुशील मोदी

जीएसटी के पांच टैक्स स्लैब को किया जायेगा कम !

851

Patna: बिहार के उपमुख्यमंत्री सह जीएसटी मंत्री समूह के संयोजक सुशील कुमार मोदी ने रविवार को कहा कि जीएसटी परिषद ने एकमुश्त 100 से ज्यादा उपभोक्ता वस्तुओं पर कर की दर में जो भारी कटौती की है उसे केन्द्र व राज्य सरकारें 27 जुलाई तक अधिसूचित कर पायेंगी. उन्होंने यहां जारी बयान में कहा कि आम उपभोक्ता अधिक जरूरी नहीं होने पर घटी हुई दर का लाभ लेने के लिए एक सप्ताह तक अपनी खरीददारी स्थगित रखें.

इसे भी पढ़ेंः नीतीश को NDA छोड़ देना चाहिए, वह असहाय हो गए हैं : आप

Jmm 2

सेनेटरी नैपकिन समेत कई सामान सस्ते

सुशील मोदी ने कहा कि सेनेटरी नैपकिन और सभी तरह के भगवान की मूर्तियों के साथ ही बिहार की प्रसिद्ध हस्तकला सुजनी, टिकुली क्राफ्ट, एपलिक (कपड़ों पर कढ़ाई-बुनाई) को जहां पूरी तरह से कर मुक्त कर दिया गया है. वहीं सभी तरह के पेंट, वार्निश, इनेमल, पुट्टी, वाटर हीटर, रेफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन, हेयर सेवर, 68 सेमी तक की टीवी आदि पर 28 से घटा कर 18 प्रतिशत, 1000 रुपये मूल्य तक के फूटवियर पर 18 से घटा कर 5 प्रतिशत, हैंडलूम की दरियां, हाथ से बने कारपेट आदि पर 12 से घटा कर 5 प्रतिशत टैक्स कर दिया गया है.

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि आगामी 04 अगस्त को परिषद् की विशेष बैठक में छोटे उद्योगों की समस्याओं पर विचार के लिए कई उद्योग संगठनों के प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः बिहार में शराबबंदी होती फेल, मुजफ्फरपुर में 10 लाख की शराब जब्त

Bharat Electronics 10 Dec 2019

GST दरों की 5 श्रेणियों को घटाकर किया जायेगा तीन !

बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं जीएसटी पर उच्च स्तरीय मंत्री समूह के संयोजक सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि आने वाले समय में वस्तु एवं सेवा कर दरों की वर्तमान पांच श्रेणियों को घटाकर तीन श्रेणियों में किया जा सकता है जिससे उभोक्ताओं एवं कारोबारियों दोनों को सहूलियत होगी. सुशील मोदी ने भाषा से खास बातचीत में कहा, ‘‘ इसमें थोड़ा समय लगेगा क्योंकि यह विषय राज्यों के राजस्व से जुड़ा है.

इसे भी पढ़ेंः‘हिन्दू पाकिस्तान’ के बाद मॉब लिंचिंग पर शशि थरुर का एक और विवादित बयान

इसके अलावे बिहार के वित्त मंत्री ने कहा कि राजग सरकार के दौरान जीएसटी पर जो संविधान संशोधन किया गया है, उसमें पेट्रोलियम पदार्थों को रखा गया है. सिर्फ इसे कब से लागू किया जायेगा, इस बारे में जीएसटी परिषद को तय करना है. जब राज्यों में सहमति हो जायेगी तब सिर्फ निर्णय के आधार पर इसे लागू कर दिया जायेगा और संविधान संशोधन करने की जरूरत नहीं होगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like