न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

HC ने खारिज की पूर्व मंत्री हरिनारायण राय की याचिका, चुनाव लड़ने के लिए दी थी अर्जी

618

Ranchi: झारखंड सरकार के पूर्व मंत्री हरिनारायण राय की चुनाव लड़ने संबंधी याचिका को झारखंड हाइकोर्ट ने खारिज कर दी है. हरिनारायण राय ने चुनाव लड़ने के लिए सजा पर रोक की मांग करते हुए हाइकोर्ट में याचिका दाखिल की थी, जिसे खारिज कर दिया गया.

इसे भी पढ़ें- सबरीमाला केस: मंदिर में महिलाओं के प्रवेश का मामला SC ने बड़ी बेंच को भेजा, पिछला फैसला फिलहाल बरकरार

JMM

गौरतलब है कि मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी कोर्ट ने हरिनारायण राय को सजा सुनाई है. पूर्व मंत्री हरिनारायण राय के खिलाफ 26 जनवरी 2008 को निगरानी ने प्राथमिकी दर्ज की थी. 05 अक्तूबर 2009 को निगरानी ने आरोप पत्र दायर किया था. 04 सितंबर 2009 को  इडी ने प्राथमिकी दर्ज की और 11 अगस्त 2010  सीबीआइ ने भी दर्ज की थी प्राथमिकी.

जमानत पर बाहर हैं पूर्व मंत्री हरिनारायण राय

मनीलाउंड्रिंग मामले में सात साल की सजा काट रहे पूर्व मंत्री हरिनारायण राय को हाइकोर्ट ने राहत देते हुए 12 जुलाई 2017 को जमानत दी थी. उनके वकील एके सिन्हा ने कोर्ट को बताया था कि प्रार्थी ने तीन साल से अधिक की सजा काट ली है, ऐसे में उनकी अपील स्वीकार की जानी चाहिए.

इसे भी पढ़ें- विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की कमी क्यों न बने चुनावी मुद्दा: नीलांबर-पितांबर 161 और रांची विवि में 599 पद खाली

हरिनारायण राय को प्रवर्तन निदेशालय के विशेष न्यायाधीश बीके तिवारी की अदालत ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट के तहत दोषी मानते हुए सजा सुनायी थी. पीएमएलए एक्ट में यह देश का पहला मामला था, जिसमें राय को सजा हुई थी.

इनपर आरोप था कि इन्होंने मंत्री पद का दुरुपयोग कर 2005 से 08 के बीच अपने रिश्तेदारों के साथ मिल तीन करोड़ 72 लाख 54 हजार 116 रुपए की मनी लाउंड्रिंग की.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like