न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हाई सिक्युरिटी फेल,  विश्व भारती से # Nobel चोरी के बाद अब चंदन पेड़ की चोरी

नोबेल पुरस्कार चोरी होने के बाद विश्व भारती में यह दूसरी बड़ी चोरी की घटना सामने आयी है.

49

Birbhum : विश्व भारती शांति निकेतन में एक बार फ़िर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था को भेद कर चोरों ने चोरी की घटना को अंजाम दिया है. चोरों ने विश्व भारती के रविंद्र भवन परिसर से चंदन का पेड़ ही गायब कर दिया. शुक्रवार सुबह घटना के प्रकाश में आने के बाद से पूरे विश्व भारती में हड़कंप मच गया है. घटना को लेकर जहां पुलिस जांच पड़ताल में जुट गयी है, वहीं हाई सिक्योरिटी तथा सीसीटीवी कैमरे को खंगालने का काम शुरू हो गया है.

इसे भी पढ़ें – #MPSudarshanBhagat की CDPO पत्नी पर सब मेहरबान, तबादले के एक साल बाद भी पुरानी जगह ही जमीं

विश्व भारती प्रबंधन ने फिलहाल कोई टिप्पणी नहीं की है

स्थानीय लोगों का आरोप है कि हाई सिक्योरिटी होने के बावजूद चोर किस तरह चंदन के पेड़ काट कर ले गये. घटना को लेकर विश्व भारती प्रबंधन ने फिलहाल कोई टिप्पणी नहीं की है. बताया जाता है कि नोबेल पुरस्कार चोरी होने के बाद विश्व भारती में यह दूसरी बड़ी चोरी की घटना सामने आयी है.

Trade Friends

इसे भी पढ़ेंः शाहजहांपुर यौन शोषण केसः बीजेपी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री #SwamiChinmayanand गिरफ्तार

दो दिन साप्ताहिक छुट्टी रहती है

हालांकि इससे पहले भी कई बार चंदन पेड़ की चोरी की घटना घटी है. पुलिस का कहना है कि हाई सिक्योरिटी होने के बाद भी किस तरह चोरों ने चोरी की घटना को अंजाम दिया है, उसकी जांच की जा रही है. खबरों के अनुसार चंदन के दो पेड़ काट कर ले जाये गये हैं. रविंद्र भवन के पीछे मलंचा के पास से चंदन का पेड़ गायब हुआ है. एक कटा हुआ चंदन का पेड़ श्याम बाटी लालबांध स्थित जलाशय से सुरक्षा गार्ड ने बरामद किया है.

बताया जाता है कि दो दिन साप्ताहिक छुट्टी रहती है. इसी छुट्टी का फायदा चोरों ने उठाया है. रविंद्र भवन के कांटा तार से घिरे वाल को काट कर घटना को अंजाम दिया गया है. इस संबंध में विश्वभारती के सुरक्षा अधिकारी अशोक गुंयीं ने बताया कि घटना को लेकर पुलिस को सूचना दी गयी है. चोरी की घटना को लेकर जांच शुरू किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः राहुल गांधी ने कहा,  कॉर्पोरेट टैक्स घटायें या, #HowdyModi इवेंट करें,  देश की खस्ता आर्थिक हालत छिपा नहीं सकते

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like