न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भाजपा दोबारा सत्ता में आयी, तो पीएम युवाओं के हाथों में कटोरा थमा देंगे, कहेंगे भीख मांगो, यह भी एक नौकरी है : बाबूलाल मरांडी

92
  • जेवीएम लोकसभा कार्यकर्ता सम्मेलन में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने भाजपा को घेरा
  • पुलवामा आतंकी हमले में शहीद जवानों को दी गयी श्रद्धांजलि
  • लोकतांत्रिक संस्थाओं को कमजोर करने का लगाया आरोप

Ranchi : रविवार को झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) के रांची लोकसभा कार्यकर्ता सम्मेलन में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी भाजपा पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि 2019 में होनेवाले चुनाव का समय नजदीक है. भाजपा कार्यकर्ता सत्ता के लिए हिंदू-मुस्लिम, ईसाई और गैर-ईसाई को आपस में लड़वाने का काम करेंगे. जेवीएम कार्यकर्ता का दायित्व है कि जनता के बीच जाकर लोगों को संदेश दें. बतायें कि भाजपा को परास्त करने में वे विपक्ष का सहयोग करें. अगर उन्होंने अच्छी सरकार बनायी, तो राज्य में अच्छे दिन आयेंगे, वरना भाजपा राज में लोग बेरोजगारी, भूख, हिंसा जैसी समस्यों से जूझते रहेंगे. पांच वर्षों के आकलन की बात करते हुए बाबूलाल मरांडी ने कहा कि 2014 के चुनाव में भाजपा ने दावा किया था कि देश से बेरोजगारी, महंगाई, हिंसा खत्म होगी. आज स्थिति क्या है, किसी से छिपी नहीं है. मोदी सरकार पकोड़ा बेचने को रोजगार बताती है. यह शिक्षित युवाओं का अपमान है. अगर देश में भाजपा दोबारा सत्ता में आयी, तो पीएम मोदी युवाओं के हाथों में कटोरा थमा देंगे. कहेंगे कि भीख मांगो, यह भी एक नौकरी है. सम्मेलन में पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों को श्रद्धांजलि भी दी गयी. इस दौरान पूर्व शिक्षा मंत्री बंधु तिर्की, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय सहित अन्य लोग उपस्थित थे.

Trade Friends

हर वर्ष दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का दावा गलत

बाबूलाल मरांडी ने कहा कि 2014 के चुनाव में हर वर्ष दो करोड़ रोजगार देने का पीएम मोदी का दावा गलत साबित हुआ है. अगर दावा सही होता, तो पांच वर्षों में करीब 10 करोड़ युवाओं को रोजगार मिलता. स्थिति यह है कि कागज में तो यह नौकारियां बांटी गयीं, लेकिन लाखों युवा आज भी बड़ी संख्या में बेरोजगार हैं. सरकार को चैलेंज करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर नौकरियां दी गयी हैं, तो उसकी एक किताब छपवा दें. जेवीएम अपने स्तर पर इस झूठ को जनता के सामने ला देगा. बेरोजगारी बढ़ने के लिए उन्होंने नोटबंदी, जीएसटी को जिम्मेदार बताया. इससे आज देश के करोड़ों लघु और कुटीर उद्योग खत्म हो गये. कहा कि बेरोजगारों को नौकरियां तभी मिलेंगी, जब सरकार इसके लिए कानून बनायेगी. यह काम उनकी सरकार सत्ता में आने पर करेगी.

गरीबों का पैसा लूटा, लोकतांत्रिक संस्थाएं हो रहीं कमजोर

बाबूलाल मरांडी ने कहा कि मोदी सरकार की जनधन योजना, वृद्धावस्था योजना, छात्रवृत्ति योजना, मनरेगा योजना, उज्ज्वला योजना से जनता के पैसों को लूटा जा रहा है. आज जिस तरह से मोदी राज में लोकतांत्रिक संस्थाओं (कार्यपालिका, न्यायपालिका, चुनाव आयोग, सीवीसी, सीबीआई) को कमजोर किया जा रहा है, उससे देश का लोकतंत्र समाप्त हो गया है. पीएम मोदी चुनाव से पहले कहते थे कि न खाऊंगा न खाने दूंगा. आज इसी भाजपा ने अपने पांच साल में लोकपाल बिल तक को पास नहीं किया.

शहीदों पर राजनीति न करे भाजपा

WH MART 1

पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए बाबूलाल मरांडी ने कहा कि इस पर हमें राजनीति नहीं करनी चाहिए. इसके उलट भाजपा की रघुवर सरकार ने इस पर राजनीति करना नहीं छोड़ा. उन्होंने कहा कि रघुवर सरकार सरेंडर करनेवाले नक्सलियों को एक-एक करोड़ और 50 लाख रुपये देकर सम्मानित करती है, वहीं शहीद हुए जवानों के परिजनों को केवल 10 लाख रुपये दे रही है. गुमला के शहीद जवान विजय सोरेंग के परिवार ने इस राजनीति का हिस्सा न बनकर सरकार से 10 लाख रुपये लेने से इनकार कर दिया. बाबूलाल मरांडी ने मुख्यमंत्री रघुवर दास से मांग की कि शहीदों के परिवार को इतनी राशि दें, जितनी आज तक सरेंडर किये नक्सलियों को भी नहीं मिली है.

लोगों को लड़वाकर सत्ता पाना चाहती है भाजपा : सुबोधकांत सहाय

कांग्रेसी नेता सुबोधकांत सहाय ने कहा कि बाबूलाल मरांडी जब सीएम थे, तब उन्होंने जनहित में काम किया. भाजपा को जब इनके जनहित कार्य पसंद नहीं आये, तो उन्हें सत्ता से हटाने का षड्यंत्र रचा. इसके बाद बाबूलाल कभी भाजपा में घूमकर नहीं गये. राज्य में बन रहे गठबंधन का सारा श्रेय बाबूलाल को देते हुए उन्होंने कहा कि इन्हीं के कारण राज्य में भाजपा विरोधी महागठबंधन बना है. रघुवर सत्ता से राज्य की मुक्ति की बात करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा के पास सत्ता में आने का केवल एक मुद्दा विभिन्न धर्मों के लोगों को आपस में लड़वाना है. सम्मेलन में सुबोधकांत ने भूख से 19 लोगों की मौत, मॉब लिंचिग को लेकर भी मोदी सरकार को जमकर कोसा. कहा कि आगामी चुनाव केवल चुनाव नहीं, बल्कि मोदी के खिलाफ एक वार है.

दलित, आदिवासी, अल्पसंख्यकों के अधिकारों को छीन रही भाजपा : बंधु तिर्की

पूर्व शिक्षा मंत्री बंधु तिर्की ने कहा कि भाजपाकाल में देश और राज्य में क्या हो रहा है, यह मीडिया से लोग जान रहे हैं. पारा शिक्षक, भुखमरी से मौत की बात विधानसभा तक में उठी. इसमें स्वयं भाजपा के विधायक और विधानसभा स्पीकर को कहना पड़ा कि अगर समाधान नहीं होता है, तो सदन को भंग कर देना चाहिए. भाजपा राज में दलित, गरीब, आदिवासी, अल्पसंख्यकों के अधिकारों को छीना जा रहा है. प्रदेश के एक मंत्री और मुख्यमंत्री विवाद पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि इससे भी रघुवर दास की असली छवि लोगों को देखने को मिली. सम्मेलन के दौरान पूर्व शिक्षा मंत्री ने आयुष्मान भारत योजना, 42 करोड़ से बने कैंसर हॉस्पिटल में धोखाधड़ी, एक एकड़ जमीन होने पर किसानों को सरकारी राशि देने की बात पर भी सरकार को घेरा.

इसे भी पढ़ें- एक दिन में 10 हजार से ज्यादा का लेन-देन नहीं कर पायेंगे उम्मीदवार :  आयोग   

इसे भी पढ़ें- भाजपा और आजसू ने मिलकर राज्य को लूटा: हेमंत सोरेन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like