न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आवश्यकता हुई, तो कश्मीर पर वार्ता केवल पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय ही होगी : जयशंकर

जयशंकर थाईलैंड की राजधानी में आसियान-भारत मंत्रिस्तीय विदेश मंत्रियों की बैठक में भाग ले रहे हैं

25

NewDelhi : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की कश्मीर मामले पर मध्यस्थता की पेशकश के बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने अमेरिकी समकक्ष माइक पोम्पिओ को शुक्रवार को यह स्पष्ट किया कि यदि कश्मीर पर किसी वार्ता की आवश्यकता हुई, तो वह केवल पाकिस्तान के साथ होगी और द्विपक्षीय ही होगी.

जयशंकर इस समय थाईलैंड की राजधानी में हैं. वह आसियान-भारत मंत्रिस्तीय बैठक, नौवें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में विदेश मंत्रियों की बैठक, 26वें आसियान क्षेत्रीय मंच और 10वें मेकोंग गंगा निगम मंत्रिस्तरीय बैठक समेत कई सम्मेलनों में भाग लेने यहां आये हैं. जयशंकर ने ट्वीट किया, अमेरिका के विदेश मंत्री पोम्पिओ से क्षेत्रीय मामलों पर विस्तृत वार्ता हुई.

Trade Friends

जयशंकर ने बैंकॉक में  पोम्पिओ से मुलाकात की

Related Posts

#VeerSavarkar पर कांग्रेस में मतभेद, मनु सिंघवी ने कहा- सावरकर ने आजादी की लड़ाई में निभाई भूमिका

कांग्रेस के ही कुछ नेता वीर सावरकर को देशभक्त नहीं मानते, वहीं कुछ नेता आजादी की लड़ाई में उनकी भूमिका को स्वीकार करते हैं.

WH MART 1

उन्होंने ट्वीट किया, अमेरिकी समकक्ष पोम्पिओ को आज सुबह स्पष्ट रूप से यह बता दिया गया कि यदि कश्मीर पर किसी वार्ता की आवश्यकता हुई तो वह केवल पाकिस्तान के साथ होगी और द्विपक्षीय ही होगी. जयशंकर ने बैंकॉक में नौवें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में  विदेश मंत्रियों की बैठक के इतर पोम्पिओ से मुलाकात की. भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता संबंधी ट्रम्प के विवादास्पद बयान के बाद दोनों अधिकारियों की यह पहली आधिकारिक बैठक है.

ट्रम्प ने जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से व्हाइट हाउस में पहली बार पिछले महीने मुलाकात की थी तब उन्होंने कश्मीर मामले पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की पेशकश की थी. भारत सरकार ने ट्रम्प के हैरान कर देने वाले इस दावे को खारिज कर दिया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे इस मामले पर मध्यस्थता करने कहा था. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री खान ने कहा था कि वह तैयार हैं और कश्मीर मामले पर अमेरिका के इस कदम का स्वागत करते हैं.

इसे भी पढ़ेंःभारत अब दुनिया की पांचवीं नहीं सातवीं बड़ी अर्थव्यवस्था, जानें किन दो देशों ने पछाड़ा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like