न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#J&KBank : 1100 करोड़ का घोटाला, #ACB ने देशभर में 16 ठिकानों पर छापा मारा

J&K बैंक में एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने  1124 करोड़ रुपये के लोन घटाले में 13 बैंक अफसरों समेत दो दर्जन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.

60

Jammu-Kashmir : J&K बैंक में एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने  1124 करोड़ रुपये के लोन घटाले में 13 बैंक अफसरों समेत दो दर्जन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.  बैंक से राइस एक्सपोर्ट इंडिया एग्रो लिमिटेड को लोन दिया गया था. एसीबी की तीन टीमें आरोपी अधिकारियों के ठिकानों पर छामापारी कर रही हैं. इनमें कश्मीर घाटी में नौ, जम्मू में चार और दिल्ली में तीन ठिकानों के अलावा चेयरमैन और वीसी के घरों में तलाशी ले रही हैं.

इसे भी पढ़े : #SitaramYechury ने विपक्ष को #Traitor करार देने पर पीएम मोदी और शाह की आलोचना की

जाली कागजों के आधार पर 2011-2013 में  800 करोड़ लोन दिया

Trade Friends

एसीबी के अनुसार जेएंडके बैंक की माहिम मुंबई और अंसल प्लाजा नयी दिल्ली ब्रांच से लोन स्वीकृत किया गया है. दोनों ब्रांचों से कंपनी के नाम जाली कागजों के आधार पर 2011 और 2013 के बीच 800 करोड़ लोन जारी किया गया. 2014 में रकम एनपीए में जाने से बैंक को भारी नुकसान हुआ.

कंपनी ने हेड ऑफिस कोलकाता और कॉर्पोरेट ऑफिस नयी दिल्ली में दर्शा कर मुंबई की माहिम ब्रांच से 550 करोड़ का लोन लिया था, जबकि कंपनी का मुंबई में कोई कार्यालय नहीं था. जेएंडके बैंक की वसंत विहार ब्रांच से भी विभिन्न मदों में 139 करोड़ की राशि स्वीकृत करवा ली गयी.

इसे भी पढ़े :  #IndianArmy का #POK में जवाबी हमला, पांच सैनिक, 22 आंतकी ढेर,  तीन टेरर कैंप तबाह

कंपनी को लोन नहीं दिया जा सकता था

कंपनी की ओर से राशि को किसानों के बीच धान पैदावार के लिए वितरित किया जाना था. फिर किसानों द्वारा कंपनी को धान उपलब्ध कराने और धान की बिक्री से होने वाली आय को बैंक लोन की किस्त के तौर पर जमा करना था. एसीबी ने पाया कि बैंक अथॉरिटी को इस पूरे क्रम की जानकारी थी कि कंपनी को इन परिस्थितियों में लोन नहीं दिया जा सकता था. बावजूद इसके तत्कालीन चेयरमैन मुश्ताक अहमद शेख के समय लोन जारी किया गया था.

कंपनी के चेयरमैन संजय झुनझुनवाला और संदीप झुनझुनवाला ने बैंक से मिले लाभ का दुरुपयोग किया. परिणामस्वरूप कंपनी ने 1124.45 करोड़ रुपये का घोटाला किया. इसमें 635 करोड़ लोन, जबकि 489.45 करोड़ ब्याज है. ब्यूरो ने यूएस 5(1)(डी) आरडब्ल्यू जेएंडके पीसी एक्ट एसवीटी 2006 और सेक्शन 467, 468, 471 और 120 बी आरपीसी के तहत मामला दर्ज किया

13 बैंक अधिकारियों पर मामला दर्ज 

पूर्व चेयरमैन मुश्ताक अहमद शेख, बसंत विहार ब्रांच के ब्रांच हेड इम्तियाज अहमद भट्ट, क्रेडिट आफिस के दलीप भान, अशोक कुमार, प्रबंधक हर्ष कुमार, राकेश काव, माहिम के ब्रांच हेड अदिल बशीर, क्रेडिट ऑफिसर एसएस संबयाल, युसूफ, क्रेडिट ऑफिसर अब्दुल हमीद थोकर, बशीर अहमद, निसार अहमद शाह, शादिक अहमद, कॉरपोरेट हेडर्क्वाटर श्रीनगर वीसी केके कौल के अलावा लाभार्थी कंपनी के चेयरमैन संदीप झुनझुनवाला, वीसी संदीप झुनझुनवाला, एमडी दानिश बेग, मैनेजर कॉरपोरेट वित्त राहुल सिंघानिया और अन्य पर मामला दर्ज किया गया है.

इसे भी पढ़े : #MonsoonEffect : #CountrysReservoirs में  रिकार्ड तोड़ पानी,  झारखंड, पश्चिम बंगाल के जलाशयों में कुल क्षमता का 88 प्रतिशत जलसंग्रह

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like