न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जमशेदपुर :  कोल्हान में नेताओं का हाई वोल्टेड ड्रामा, प्रवीण सिंह की मौत की अफवाह उड़ाई,  बन्ना ने गेट फांद कर दी जेपी को श्रद्धांजलि

विधानसभा चुनाव को लेकर कोल्हान में  इन दिनों नेताओं का हाई वोल्टेड ड्रामा देखने को मिल रहा है. चुनाव की तैयारी में सभी लगे हैं

110

Abinash Misra

Jamshedpur :  विधानसभा चुनाव को लेकर कोल्हान में  इन दिनों नेताओं का हाई वोल्टेड ड्रामा देखने को मिल रहा है. चुनाव की तैयारी में सभी लगे हैं, लेकिन विरोधियों को पछाड़ने के लिए तिकड़म भिड़ाने की बात हो या फिर जनता के सामने माईलेज लेने की,  कोई भी पीछे नहीं रहना चाहता. बता दें कि कोल्हान का चुनाव अभी से ही इंटेरेस्टिंग क्यों हो गया है.

JMM

इसे भी पढ़ें :  #TTPS नियुक्ति घोटाले के साक्ष्य न्यूज विंग के पास, पूर्व एमडी के खिलाफ जांच समिति ने नहीं सौंपी तय समय पर अपनी रिपोर्ट

पूर्व विधायक प्रवीण सिंह के मौत की अफवाह किसने फैलायी

ईचागढ़ से चुनाव हार चुके पूर्व विधायक प्रवीण सिंह की मौत की खबर अचानक से उडा दी गयी. पूरे जिले में खबर फैल गयी.  हर तरफ चर्चा होने लगी.  आदित्यपुर स्थपत उनके आवास पर भीड़  जुट गई . संयोग था कि प्रवीण सिंह जिले से बाहर इलाज के लिए गये हुए थे. आवास पर लोगों के जमावड़े से घरवाले भी परेशान हो गये. हालांकि फोन पर बात होने से इस खबर के अफवाह होने की पुष्टि हुई. खुद प्रवीण सिंह ने कहा कि ये किसी विरोधी की चाल हो सकती है,  क्योंकि विरोधी नहीं चाहते कि वे चुनाव लड़े. लेकिन वो पूरी तरह से स्वस्थ हैं और चुनाव लड़ेंगे.

क्यों उड़ी अफवाह

दरअसल प्रवीण सिंह बीते कुछ समय से बीमार चल रहे थे. उनको कैंसर डीटेक्ट हुआ था और  हाल ही में उनकी कीमोथेरपी भी हुई है. इसी का फायदा उठाकर विरोधियों ने उनकी मौत की झूठी खबर फैला दी.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

इसे भी पढ़ें : #Dhanbad: पेट्रोल पंप कर्मी से 1.73 लाख रुपये की छिनतई, फायरिंग कर भागे

 

पूर्व मंत्री  बन्ना गुप्ता को जयप्रकाश नारायण को श्रद्धांजलि देने के लिए फांदना पड़ा गेट

झारखंड सरकार के पूर्व मंत्री बन्ना गुप्ता इन दिनों अपने क्षेत्र पश्चिमी जमशेदपुर में खूब एक्टिव हो गये है. मौका जयप्रकाश नारायण की जयंती का था.  लिहाजा बन्ना गुप्ता मानगो पूल किनारे स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करने पहुंचे. गेट पर ताला देख आसपास के लोगों से चाबी के बारे में पूछा.  लेकिन चाबी का पता किसी को नहीं था.  बन्ना गुप्ता लौटते कैसे,   राजनीतिक माइलेज पाने की बात थी. लिहाजा वे गेट पर चढ़ गये और दूसरी तरफ उतर कर उन्होंने जयप्रकाश नारायण की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किये.  उसके बाद गेट फांद कर बाहर आये और जमकर बीजेपी पर अपनी भड़ास निकाली.

किसने मारा ताला

बन्ना गुप्ता से पहले मंत्री सरयू रॉय जयप्रकाश नारायण को श्रद्धासुमन अर्पित करने पहुंचे थे. सरयू रॉय आए तो गेट खुला पाया लिहाजा जेपी को श्रद्धांजलि देने के बाद उनके समर्थकों ने गेट पर ताला लगा दिया और चाबी साथ में लेकर चलते बने,  ताकि कोई   परिसर में प्रवेश न कर सके.

    मंत्री  रामचंद्र सहिस भी किसी कम नहीं रहना चाहते

जहां तक जनता के बीच माइलेज लेने की बात है तो जुगसलाई विधायक व मंत्री रामचंद्र सहिस किसी कम नहीं रहना चाहते. 28 सितंबर को सांसद विद्युत वरण महतो के साथ  मत्री रामचंद्र सहिस ने जुगसलाई नगर परिषद क्षेत्र में परिवहन व्यवस्था और नागरिक सुविधा से जुड़ी 14 योजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन जुगसलाई नगर परिषद कार्यालय में किया. इस क्रम में संवेदकों की समस्याओं को लेकर मौखिक रूप से कुछ वक्त ठहरने की बात कही. जिसे लेकर संवेदकों ने नाराजगी  जाहिर की.  लेकिन  उदघाटन के 13 दिन बाद एक बार फिर से रामचंद्र सहिस सभी स्थलों पर जाकर योजनाओं का उदघाटन करने में जुटे हैं, ताकि चुनाव में इन योजनाओं का लाभ मिल सके.

इसे फी पढ़ें : #Giridih: दुष्कर्म के आरोपी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पुलिस और ग्रामीणों के बीच हिंसक झड़प

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like