न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड विस मॉनसून सत्रः पहले दिन 3908 करोड़ का अनुपूरक बजट पेश

राज्य को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन

1,819

Ranchi: झारखंड विधानसभा का मॉनसून सत्र सोमवार से शुरू हो गया. पांच दिनों तक चलने वाले इस सत्र के हंगामेदार होने के आसार है.

सत्र के पहले दिन संसदीय कार्यमंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने आय-व्यय की विवरणी रखी. और 3908 करोड़ 63 लाख 98 हजार 117 रुपये का अनुपूरक बजट पेश किया गया.

Jmm 2

इससे पहले मुख्यमंत्री रघुवर दास ने विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव से मुलाकात कर उन्हें शुभकामनाएं दी. सत्र की शुरुआत होने से पहले सदन ने दिवंगत नेताओं और शहीदों को याद करते हुए दो मिनट का मौन रखा गया. अनुपूरक बजट पेश होने के बाद सदन की कार्यवाही मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दी गई.

इसे भी पढ़ेंःबाबा रामदेव की पतंजलि फिर विवादों में, अमेरिका ने कहा- गलत जानकारी देकर निर्यात किये शर्बत

राज्य को सूखाग्रस्त घोषित करने की कांग्रेस की मांग

दूसरी ओर झारखंड विधानसभा के समक्ष कांग्रेस के विधायकों ने राज्य को सूखाग्रस्‍त करने को लेकर प्रदर्शन किया. सुखाड़ घोषित करने की मांग वाली तख्तियां हाथों में लिये पार्टी विधायक विस परिसर में दिखायी दिये.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

इस दौरान विधायक सुखदेव भगत ने कहा कि राज्य में सुखाड़ की स्थिति है. मौसम विभाग ने भी 83 फीसदी बारिश कम होने की बात कही है.

 अगर 1 जून से 20 जुलाई तक की बात करें तो 83 फीसदी बारिश कम हुई है, भयावह स्थिति है. एक ओर प्रधानमंत्री किसानों के खाते में पैसे दे रहे हैं और दूसरी ओर हमारे किसान यहां रोपनी नहीं कर पा रहे हैं. जहां रोपनी हुई भी, वहां बारिश नहीं होने के कारण बिचड़े मर रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःशत्रुघ्न सिन्हा ने इंदिरा से की प्रियंका गांधी की तुलना, कहा- संभालें अध्यक्ष पद

पलामू और लोहरदगा का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इन इलाकों में बारिश बिल्कुल भी नहीं हुई है. और ऐसे में आपदा प्रबंधन विभाग कहां है. सरकार की तो इंटिग्रेटेड प्लानिंग होनी चाहिए, उच्चस्तरीय मीटिंग होना चाहिए. लेकिन सरकार इन मामलों में संवेदनहीन बनी हुई है.

ऐसे में मीडिया के माध्यम से उन्होंने कहा कि सरकार के संज्ञान में लायी जा रही इस बात को देखते हुए सरकार अविलंब राज्य को सूखा क्षेत्र घोषित करें और राहत कार्य प्रारंभ करें. साथ ही कल्याणकारी योजनाओं को सरकार तुरंत शुरू करें और लोगों को राहत प्रदान करें.

इसे भी पढ़ेंःसत्यपाल मलिक ने आतंकियों से कहाः बेगुनाहों की जगह उनको मारो जिन्होंने कश्मीर को लूटा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like