न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#JharkhandElection: नामाकंन की आखिरी तारीख तक मतदाता वोटर कार्ड के लिए कर सकते हैं अप्लाइ

प्रथम चरण के लिए छह से 13 नवंबर तक नामाकंन किया जायेगा, 11 से तीन बजे तक है समय, मतदान के लिये सुबह सात से दोपहर तीन बजे तक का समय तय किया गया.

681

Ranchi : भारत निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने मंगलवार को राज्य के वरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की.

जानकारी देते हुए आयोग के सेक्रेटरी जनरल उमेश सिन्हा ने कहा कि राज्य में पांच चरणों में चुनाव होने वाले हैं. बैठक में प्रथम तीन चरणों के चुनाव तैयारियों की समीक्षा की गयी जिसमें 15 जिले शामिल हैं.

जानकारी दी गयी कि छह नवंबर से 13 नवंबर तक प्रथम चरण के लिए नमाकंन किया जा सकता है. इसके लिए दिन के 11 बजे से तीन बजे तक का समय तय किया गया है.

वहीं मतदान के लिये सुबह सात बजे से तीन बजे तक का समय तय किया गया है. उमेश सिन्हा ने बताया कि बैठक का मुख्य मुद्दा था कोई भी मतदाता न छूटे. इसके लिए नामाकंन तारीख तक मतदाता वोटर कार्ड के लिए अप्लाइ कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : #JharkhandElection : पार्टी की जीत से ज्यादा अपने टिकट की लॉबिंग में जुटे हैं सीनियर कांग्रेसी!

Bharat Electronics 10 Dec 2019

पहली बार चुनाव में पोस्टल बैलेट का इस्तेमाल किया जायेगा

उमेश सिन्हा ने जानकारी दी कि आयोग की ओर से पहली बार पोस्टल बैलेट की सुविधा लागू की जा रही है. इसे तीन कैटेगरी में बांटा गया है. लेकिन फिलहाल दो ही कैटेगरी की सुविधाएं राज्य में लागू की जा रही है.

इसमें पहली कैटेगरी ऐसी सेवा वाले लोगों के लिये है जो महत्वपर्ण होते हैं. लेकिन इसका वर्गीकरण अभी नहीं किया गया है. दिल्ली चुनाव तक इस पर कार्य कर लिया जायेगा.

वहीं दूसरी कैटेगरी 80 साल के ऊपर के लोगों को पोस्टल बैलेट के जरिये और वोट देने का अधिकार देना है. और तीसरी कैटेगरी दिव्यांग लोगों को यह सुविधा देनी है. इसमें मतदान केंद्रों में दिव्यांगों के लिये व्हील चेयर, वाहन आदि की भी सुविधा रहेगी.

उमेश सिन्हा ने बताया कि जिन जिलों की समीक्षा की गयी, वहां की तैयारियां संतोषजनक पायी गयीं. राज्य में नक्सल प्रभावित विधानसभा क्षेत्र अधिक हैं. इसे ध्यान में रखते हुए गृह मंत्रालय की ओर से केंद्रीय पुलिस बल उपलब्ध करायी जा रही है.

इसे लेकर गृह मंत्रालय के साथ बैठक हो चुकी है. वहीं केंद्र सरकार भी सीआरपीएफ उपलब्ध कराने के लिये तटस्थ है. मतदाताओं को कोई असुविधा न हो इसकी व्यापक तैयारी की जायेगी.

इसे भी पढ़ें : राजनीतिक दल खुलेआम कर रहे आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन, सार्वजनिक जगहों पर लहरा रहे हैं पार्टी के झंडे

तय था दीपावली के बाद लागू होगी आचार संहिता

डिप्टी इलेक्शन कमिश्नर सुदीप जैन बताया कि त्योहारों में लोगों को परेशानी न हो इसे ध्यान में रख कर दीपावली के बाद आचार संहिता लागू करने का निर्णय लिया गया. वहीं क्रिसमस के पहले तक चुनाव संपन्न कराने का निर्णय लिया गया.

वीवीएम पैट पर कई बार सवाल उठते रहे है, लेकिन इससे चुनाव निष्पक्ष होता है इसमें कोई संदेह नहीं. आयोग की कोशिश है कि पोलिंग बूथ में लोगों को डराने धमकाने वाले लोगों पर कार्रवाई की जाये. ऐसे लोगों को चिन्हित किया जाये.

मतदाताओं की सुविधा के लिये आयोग की ओर से जारी टोल फ्री नंबर 1950 पर किसी भी समस्या की जानकारी दी जा सकती है. जिसका 24 घंटे में निराकरण किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : क्या चंदनकियारी सीट बन रही है गठबंधन में रोड़ा,  बीजेपी 110 परसेंट लड़ने को तैयार, आजसू छोड़ने को नहीं है तैयार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like