न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#JharkhandElection2019: महागठबंधन पर सस्पेंस- हेमंत बोले 42 सीटों से कम किसी हाल में नहीं

524
  • नेतृत्व पर हेमंत ने कहा, “जहाज में बैठे पैसेंजरों के लिए केवल एक पायलट होता है”
  • जेएमएम कार्यकारी अध्य़क्ष ने कहा, बुधवार देर शाम या गुरुवार सुबह दिख सकता है महागठबंधन का चेहरा

Ranchi : झाऱखंड विधानसभा चुनाव में विपक्षी महागठबंधन धरातल पर दिखेगा या नहीं, इस पर अभी तक सस्पेंस बरकरार है. हालांकि झाऱखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के कार्यकारी अध्य़क्ष हेमंत सोरेन ने यह स्पष्ट कर दिया है कि महागठबंधन बनने पर उनकी पार्टी 40 से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

उनके मुताबिक जेएमएम किसी भी हाल में 42 से कम सीटों पर समझौता नहीं करेगा. यह सीटों की संख्या 42 से अधिक 43, 44 या 45 भी हो सकती है. हेमंत ने उक्त बातें बुधवार को जेएमएम केन्द्रीय कार्यकारिणी समिति की बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में कहीं.

JMM

इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि बुधवार देर शाम या गुरुवार सुबह तक महागठबंधन का नया चेहरा पेश करने की वे पूरी कोशिश करेंगे.

इसे भी पढ़ें – गृह मंत्री के रूप में अमित शाह की यह बड़ी विफलता है

बिना सेनापति के नहीं लड़ी जाती कोई जंग

महागठबंधन बनने पर सीएम का चेहरा जेएमएम की तरफ से होने के सवाल पर हेमंत ने कहा कि किसी भी व्यवस्था में नेतृत्व की अहम भूमिका होती है. कोई भी जंग बिना सेनापति के नहीं लड़ा जाता है.

कोई भी हवाई जहाज उड़ता है, उसका एक पायलट होता है. न कि उसमें बैठे 250 पैसेंजर पायलट होते हैं. कार्यकारिणी की बैठक में तय हुआ है कि पार्टी नेता के नेतृत्व में ही जेएमएम महागठबंधऩ के बैनर तले चुनावी मैदान में उतरेगा.

कुछ सीटों को लेकर आ रही जिच पर हेमंत सोरेन ने साफ कहा कि इसका समाधान हो सकता है. केवल इसे सुलझाने की इच्छा शक्ति होनी चाहिए.

विपक्ष के साथ चुनाव लड़ने पर बनी सहमति

बैठक में पार्टी नेताओं के दिये सुझाव की जानकारी देते हुए हेमंत सोरेन ने कहा कि मौजूदा रघुवर-बीजेपी सरकार को हर हाल में सत्ता से बेदखल करना है.

इसके लिए बेहतर समीकरण बनाने की आवश्यकता है. इसे देख सभी में सहमति बनी है कि सभी विपक्षी दल मिल कर चुनाव लड़े. इस संदर्भ में जेएमएम की कांग्रेस, आरजेडी, वामदल, जेवीएम के साथ बातचीत जारी है.

कमोबेश सभी दल अपनी-अपनी तैयारी में लगे हैं. उन्होंने कहा कि बुधवार देर शाम या गुरुवार तक महागठबंधन का एक चेहरा मीडिया के समक्ष रखा जायेगा.

हेमंत सोरेन ने यह भी कहा कि आगामी 8 नवंबर को पहले चरण के चुनाव के लिए पार्टी प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी की जायेगी.

इसे भी पढ़ें – #Politicalgossip: नह…नह…हमरा उम्मीदवार को टिकट नहीं मिला तो बहुते नाइंसाफी हो जाएगा

मंहगाई पर जिला मुख्यालय में होगा धरना कार्यक्रम

इस दौरान हेमंत सोरेन ने बीजेपी पर महंगाई पर लगाम नहीं लगाने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि बीजेपी राज में तो पहले से ही गरीब को भोजन नहीं मिल पाता था. लेकिन आज जिस तरह प्याज सहित खाद्य पदार्थों के दामों में बेहताशा वृद्धि हो रही है, इससे तय है कि बहुत से गरीबों को सूखे खाने से ही पेट भरना होगा.

उन्होंने कहा कि जनता की स्थिति को देख कार्यकारिणी ने निर्णय लिया है कि जिले के सभी मुख्यालयों में पार्टी नेताओं द्वारा मंहगाई के विरोध में धरना प्रदर्शन किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – राम चबूतरा, सीता रसोई व आंगन पर से मुस्लिम पक्ष दावा छोड़ने को तैयार था : मौलाना अरशद मदनी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like