न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जस्टिस एके पटनायक ने SC के खिलाफ साजिश मामले में जांच शुरू की

SC में बिचौलियों का दखल, फिक्सिंग के खेल और आनेवाले केस  की बेंच फिक्सिंग और न्यायिक आदेशों को प्रभावित करने की कोशिशों के आरोपों की जांच का जिम्मा जस्टिस पटनायक को दिया गया है

73

NewDelhi : सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस एके पटनायक ने SC के खिलाफ साजिश मामले में अपनी जांच शुरू कर दी है.  बता दें कि  SC में बिचौलियों का दखल, फिक्सिंग के खेल और आनेवाले केस को कुछ विशेष बेंच में भेजने की जुगत लगाने (बेंच फिक्सिंग करने) और न्यायिक आदेशों को प्रभावित करने की कोशिशों के आरोपों की जांच का जिम्मा जस्टिस पटनायक को दिया गया था.

सूत्रों के अनुसार जस्टिस पटनायक के नेतृत्व वाली कमेटी ने सीबीआई के डायरेक्टर, इंटेलिजेंस ब्यूरो के डायरेक्टर और दिल्ली पुलिस कमिश्नर से भी जांच के संबंध में कई जरूरी सूचनाएं मांगी हैं.  टाइम्स ऑफ इंडिया  के अनुसार जस्टिस पटनायक ने  बताया कि कुछ जरूरी सूचनाओं के लिए जांच एजेंसियों से सूचना मांगी गयी है.  हालांकि उन्होंने जांच एजेंसियों से किस प्रकृति की सूचना मांगी है,  इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं उी.

जान लें कि जस्टिस अरुण मिश्रा, जस्टिस आर एफ नरीमन और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच ने बेंच फिक्सिंग और सीजेआई के खिलाफ कथित साजिश मामले में 25 अप्रैल को जस्टिस पटनायक के नेतृत्व में जांच के आदेश दिये थे.  वकील उत्सव बैंस द्वारा  दायर याचिका में न्यायपालिका के खिलाफ साजिश जैसे कुछ बेहद गंभीर आरोप लगाये गये थे.  सुप्रीम कोर्ट ने वकील बैंस की याचिका पर सुनवाई करते हुए जांच एजेंसियों को जरूरी सूचनाएं उपलब्ध कराने का निर्देश दिया था.

इसे भी पढ़ें- सात राज्यों की 59 सीटों पर 12 बजे तक 25.13 प्रतिशत वोटिंग, राहुल गांधी ने वोट डाला

 

तीन जजों की इन हाउस पैनल ने जस्टिस गोगोई को क्लीन चिट दी है

पिछले दिनों सीजेआई रंजन गोगोई पर सुप्रीम कोर्ट की एक पूर्व महिला कर्मचारी ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाये थे, जिसकी सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा तीन जजों की आंतरिक समिति ने जांच की थी.  तीन जजों की इन हाउस पैनल ने इस मामले में जस्टिस गोगोई को क्लीन चिट दी है.  पूर्व में जस्टिस पटनायक ने इन हाउस पैनल के रिपोर्ट जमा करने तक मामले की जांच को स्थगित रखने का फैसला किया था.  जस्टिस पटनायक सुप्रीम कोर्ट में बिचौलिए के दखल संबंधी बैंस के आरोपों की जांच शुरू कर चुके हैं.  27 अप्रैल को टाइम्स ऑफ इंडिया को दिये बयान में उन्होंने कहा कि मैं सच का पता लगाकर रहूंगा.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

उन्होंने कहा, मैंने वकील के द्वारा दायर हलफनामे का सूक्ष्मता से अध्ययन किया है और ऐक्शन प्लान भी तैयार है. वकील के आरोपों की जांच के लिए मैंने मोटे तौर पर एक रणनीति बना ली है;  जब इन हाउस पैनल अपनी जांच सौंप देगा (जस्टिस गोगोई पर लगे यौन शोषण के आरोप संबंधी जांच) तो मैं तत्काल जांच एजेंसियों से कुछ जानकारी और तथ्य देने के लिए कहूंगा.

इसे भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019 : झारखंड में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान जारी, 67 प्रत्याशियों की किस्मत का होगा…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like